The Lallantop
Advertisement

कौन हैं शोएब बशीर? जिन्हें भारत का वीजा नहीं मिलने के कारण बेन स्टोक्स भड़क चुके हैं!

Shoaib Bashir को वीज़ा संबंधित कारणों के चलते आधे रास्ते से वापस लौटना पड़ा. इस बात को लेकर Ben Stokes नाराजगी जता चुके हैं.

Advertisement
Shoaib bashir, IND vs ENG, Visa issue
शोएब बशीर को नहीं मिला वीजा (फोटो:X)
24 जनवरी 2024 (Updated: 24 जनवरी 2024, 17:52 IST)
Updated: 24 जनवरी 2024 17:52 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

शोएब बशीर (Shoaib Bashir). ये नाम पिछले कुछ समय से काफी चर्चा में हैं. पहले तो अचानक से इंग्लैंड की टीम में एंट्री पाने को लेकर. और अब वीजा संबंधित वजहों (Shaoib Bashir visa issue) से. वीज़ा मिलने में दिक्कत के चलते बशीर को आधे रास्ते से वापस लौटना पड़ा. इस बात को लेकर इंग्लैंड के कप्तान बेन स्टोक्स (Ben Stokes) भी अपनी नाराजगी जाहिर कर चुके हैं. स्टोक्स ने कहा था कि एक युवा खिलाड़ी पर क्या गुजर रही है वो मैं समझ सकता हूं.

दरअसल इंग्लैंड की टीम 21 जनवरी को भारत आई थी. इससे पहले बशीर ने अबू धाबी में ट्रेनिंग की थी. वहां से टीम जब भारत के लिए निकली तो शोएब साथ नहीं आ पाए. उनका वीज़ा नहीं क्लियर हुआ था. Surrey (सरी) में पैदा हुए शोएब के पास ब्रिटिश पासपोर्ट है. उन्हें 23 जनवरी को हैदराबाद पहुंचना था. जहां 25 जनवरी से पहला टेस्ट होना है. लेकिन वीज़ा ना मिलने के चलते वो अबू धाबी से ही घर वापस लौट गए है. वो पहले टेस्ट से बाहर हो गए हैं. लेकिन ये बशीर हैं कौन और इंग्लैंड की टीम में इनका क्या रोल रहने वाला है, आइये जानते हैं.

कौन हैं शोएब बशीर?

शोएब बशीर का जन्म 13 अक्टूबर 2003 को इंग्लैंड के सरी में हुआ. उनकी प्रारंभिक पढ़ाई फुलब्रुक स्कूल और आगे की पढ़ाई वोकिंग कॉलेज से हुई. सरी में ही शोेएब ने अपने क्रिकेटिंग करियर की शुरुआत एक ऑफ स्पिनर और निचले क्रम के बल्लेबाज के तौर पर की. बशीर ने अलग-अलग आयु वर्ग में सरी की टीम का प्रतिनिधित्व किया. लेकिन उनका प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा और नतीजतन 17 साल की उम्र में उन्हें सरी ने रिलीज़ कर दिया. इसके बाद उन्होंने मिडलेक्स और बर्कशायर के लिए खेला. यहां भी उन्हें कुछ खास सफलता नहीं मिली. 

ये भी पढ़ें- (मैं वीज़ा ऑफ़िस में... रोहित को सुन और 'फ़्रस्ट्रेट' हो जाएंगे बेन स्टोक्स!)

और कहीं ना कहीं इसके पीछे की वजह उनका क्रिकेट से उस तरह का लगाव नहीं होना भी रहा था. बशीर ने द गार्डियन को दिए एक इंटरव्यू में बताया,

''मैंने अपनी जिंदगी में क्रिकेट से इतर कुछ और ही सपना देखा था. मेरा प्लान किसी यूनिवर्सिटी में जाकर अकांउटिंग और फाइनेंस पढ़ने का था.''

बर्कशायर में कुछ खास सफलता नहीं मिलने के बाद बशीर ने समरसेट के लिए ट्रायल दिया. और उनके प्रदर्शन को देखते हुए उन्हें फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेलने का मौका मिला. उनकी पहली परीक्षा हुई इंग्लैंड के पूर्व कप्तान और दिग्गज क्रिकेटर एलिस्टर कुक के खिलाफ. कुक के खिलाफ बशीर ने कमाल की गेंदबाजी की और उन्हें लगातार परेशान करते रहे. यही उनके करियर का टर्निंग प्वाइंट साबित हुआ. बशीर को तुरंत ही इंग्लैंड लायंस की टीम से बुलावा आया. साल 2023 के अंत में UAE में हुए टूर्नामेंट में बशीर ने शानदार प्रदर्शन किया. और यहां से उनकी किस्मत पूरी तरह से बदल गई.

बशीर के चाचा साज, के मुताबिक इंग्लैंड के कोच ब्रैंडन मैक्कलम ने फोन के जरिए बशीर के सेलेक्शन की जानकारी दी. इसके बारे में साज ने 'द गार्डियन' को बताया

“मैक्कलम ने हमें जब ये बताया उसके बाद मैं भाग के बशीर के कमरे में गया और उसे गले से लगा लिया. मैं काफी इमोशनल भी था. जो देख बशीर थोड़ा घबरा गया और पूछा, आपको क्या हुआ और आप रो क्यों रहे? जिसके बाद मैंने उसे पूरी बात बताई. ये पूरे परिवार के लिए काफी गौरव का पल था.”

बशीर के करियर की बात करें तो उन्होंने अब तक कुल 6 फर्स्ट क्लास मैच खेले हैं. जिसमें उनके नाम 67 की औसत से 10 विकेट दर्ज हैं. जबकि 7 लिस्ट ए मैच में उनके नाम तीन विकेट और पांच T20 मैच में उनके नाम 4 विकेट हैं. 6 फीट 4 इंच लंबे बशीर को इंग्लैंड की टीम इंडियन कंडीशन में तुरुप का इक्का मान रही है. अब देखना होगा कि उन्हें कब तक वीजा मिल पाता है और उनका प्रदर्शन कैसा रहता है.

वीडियो: India vs England मैच में टीम इंडिया को रुला देने वाला गेंदबाज!

thumbnail

Advertisement