The Lallantop
Advertisement

इंग्लैंड के कोच ब्रैंडन मैक्कलम ने 'Bazball' पर क्यों कही इतनी बड़ी बात?

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान और सीनियर बल्लेबाज स्टीव स्मिथ ने इंग्लैंड की Bazball एप्रोच को चैलेंज किया है.

Advertisement
Brendon McCullum
ब्रैंडन मैक्कलम (फोटो: ट्विटर)
9 जुलाई 2022 (Updated: 9 जुलाई 2022, 16:29 IST)
Updated: 9 जुलाई 2022 16:29 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

हाल में इंग्लैंड ने भारतीय टीम के खिलाफ़ आखिरी टेस्ट मैच जीत सीरीज़ जीत का सपना तोड़ा है. जिसके बाद से उनके क्रिकेट स्टाइल को लेकर ‘Bazball’ टर्म का खूब इस्तेमाल हो रहा है. लेकिन जिनकी वजह से इस टर्म का नाम पड़ा वो खुद इसे लेकर हो रही चर्चा से नाखुश हैं. इंग्लैंड के कोच ब्रैंडन मैक्कलम (Brendon McCullum) का कहना है कि उन्हें इसके बारे में लगातार हो रही चर्चा हास्यास्पद लगती है. मैक्कलम के उपनाम ‘Baz’ से प्रेरित ‘Bazball’ टेस्ट क्रिकेट में इंग्लैंड के बदले आक्रामक तेवर से जुड़ा है. क्योंकि मैक्कलम के कोच बनने के बाद से इंग्लैंड की टीम पूरी तरह से बदली हुई दिख रही है. इंग्लैंड की टीम ने हाल ही में न्यूजीलैंड को 3-0 से हराने के बाद भारत के खिलाफ पांचवें और आखिरी टेस्ट में भी रिकॉर्ड 378 रन का लक्ष्य हासिल करके जीत दर्ज की.

एजबेस्टन टेस्ट में भारत के खिलाफ़ इंग्लैंड की रोमांचक जीत के बाद उनके अटैकिंग गेम और इंग्लैंड के तथाकथित Bazball अप्रोच पर ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ (Steve Smith) ने भी कमेंट किया था. उन्होंने  इंग्लैंड के आक्रामक तेवर को रोमांचक बताया, लेकिन उन्हें नहीं लगता कि यह अप्रोच अगले साल एशेज सीरीज़ तक जारी रहेगी. दरअसल, ऑस्ट्रेलियाई टीम अगले साल एशेज सीरीज़ के लिए इंग्लैंड का दौरा करने वाली है. और यही कारण है कि वे इंग्लैंड पर कड़ी नज़र रख रहे हैं. स्टीव स्मिथ ने Bazball पर कहा था,

‘ये काफी रोमांचक तरीका है. हालांकि मैं ये देखना चाहूंगा कि ये कितने दिन तक चलता है. क्या ये लगातार चल सकता है ये देखने की बात होगी. अगर इंग्लैंड की बात की जाए तो मैं पिछले कुछ समय से उनके मुकाबले देख रहा हूं. उन्होंने काफी अच्छा प्रदर्शन किया है लेकिन उन्होंने सिर्फ अपने घर में ही मुकाबले खेले हैं. अगर उनको ऐसी पिच पर खिलाया जाए, जिसमें थोड़ी बहुत घास हो और उनके सामने जॉश हेजलवुड, पैट कमिंस और मिचेल स्टार्क गेंदबाजी कर रहे हों, तो क्या वो ऐसा बेहतरीन प्रदर्शन दिखाने में सक्षम होंगे? ये देखने वाली बात होगी!’

स्मिथ ने आगे कहा, 

‘Bazball तब काम नहीं आएगा, जब वो एक बार अपने घर से बाहर निकलकर मुकाबले खेलेंगे. इंग्लैंड के खिलाड़ियों को इस समय अपने घर में खेलने की आदत हो चुकी है. इसलिए ब्रैंडन मैकलम की यह तकनीक उनके लिए कारगर साबित हो रही है. लेकिन जब वो दूसरी जगह जाकर मुकाबले खेलेंगे, जहां उनको काफी चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा, तब यह तकनीक किसी काम की नहीं होगी.’

अब इंग्लैंड के कोच मैक्कलम ने Bazball अप्रोच और स्टीव स्मिथ के कमेंट्स पर अपनी प्रतिक्रिया दी है. ब्रैंडन मैक्कलम का कहना है कि 'Bazball' शब्द उनका ईजाद किया हुआ नहीं है, और ना ही उन्हें ये शब्द पंसद है. मैक्कलम ने सेन डब्ल्यूए ब्रेकफास्ट शो पर एडम गिलक्रिस्ट से बात करते हुए कहा, 

‘मुझे बिल्कुल भी नहीं पता है कि 'Bazball' क्या है. लेकिन हमारे खिलाड़ी शानदार रहे हैं. वास्तव में इससे बेहतर शुरुआत की उम्मीद नहीं थी. मुझे यकीन है कि हमारे खिलाड़ी सकारात्मक नज़रिया बनाए रखने की कोशिश करेंगे. लेकिन वास्तव में मुझे ये बेवकूफाना शब्द पसंद नहीं है. 

ऐसा नहीं है कि केवल जाकर ताबड़तोड़ खेलना है. अगर आप हमारे एप्रोच को देखेंगे तो फिर आपको पता लगेगा और इसी वजह से ये बेवकूफाना शब्द मुझे पसंद नहीं है जिसके बारे में लोग बात कर रहे हैं. हमारे बल्लेबाजों को गेंदबाजों पर प्रेशर डालना और उतने ही अच्छी तरीके से प्रेशर को अब्सॉर्ब भी करना होता है. हम लोग उस ब्रांड की क्रिकेट खेलना चाहते हैं जिससे प्लेयर्स को संतुष्टि मिले और उन्हें पूरा मौका मिले.’

मैक्कलम ने स्टीव स्मिथ के बैज़बॉल पर किये कमेंट्स पर भी अपनी बात रखी. उन्होंने कहा, 

‘मैंने Bazball को लेकर कई बयान देखे. वो सही भी हैं. एशेज सीरीज़ काफी चुनौतीपूर्ण होगी और हमारे तरीके को इससे चुनौती मिलेगी लेकिन हम इस चुनौती का सामना करने के लिए तैयार हैं. क्योंकि खेल का मतलब ही खुद के प्रदर्शन में लगातार सुधार करना और सर्वश्रेष्ठ के खिलाफ सर्वश्रेष्ठ खेलना है.’

मैक्कलम ने आगे कहा, 

‘न्यूजीलैंड और भारत भी बेहतरीन टीमें हैं. लेकिन ऑस्ट्रेलिया की चुनौती अलग है, क्योंकि एशेज की राइवलरी अलग ही चुनौती है.’

बता दें कि भारत के खिलाफ़ टेस्ट सीरीज के अंतिम मैच में जॉनी बेयरस्टो ने दोनों पारियों में शतक लगाया. वहीं जो रूट ने सीरीज़ में 700 से अधिक रन बनाए. इस कारण इंग्लिश टीम टेस्ट सीरीज 2-2 से बराबर करने में सफल रही. हार के कारण भारतीय टीम वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप की पॉइंट टेबल में चौथे नंबर पर आ गई है.

England cricket से मिली हार के बाद भारत को हुआ बड़ा नुकसान

thumbnail

Advertisement

Advertisement