The Lallantop
Advertisement

बकरीद मनाने ननिहाल गई थीं चार सगी बहनें, नदी में मिले चारों के शव

जानकारी के अनुसार चारों बहनें दोपहर करीब तीन बजे नहाने के लिए निकली थीं. काफी समय बीतने के बाद जब वो सब नहीं लौटीं तो परिजनों ने उनकी खोज शुरू की. उन्हें ढूंढते-ढूंढते जब परिवार के लोग नदी की तरफ पहुंचे तो उन्हें सभी के डूबने की सूचना मिली.

Advertisement
uttar pradesh balrampur four sisters drowned in river bakrid day
प्रशासन ने नियमानुसार पीड़ित परिवार को सहायता देने की बात कही है. (फोटो- इंडिया टुडे)
18 जून 2024 (Updated: 18 जून 2024, 22:28 IST)
Updated: 18 जून 2024 22:28 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

उत्तर प्रदेश के बलरामपुर में बकरीद के दिन चार बहनों की नदी में डूबने से मौत (Balrampur four sisters drowned) हो गई. सभी बकरीद मनाने अपने ननिहाल गई हुई थीं. चारों बहनें घर के पास नदी में नहाने गई हुई थीं. उसी दौरान हादसा हो गया. घटना की सूचना मिलने पर आसपास के लोग नदी के पास पहुंचे, लेकिन किसी को भी बचाया नहीं जा सका. जिला प्रशासन ने नियमानुसार पीड़ित परिवार को सहायता देने की बात कही है.

आजतक से जुड़े सुजीत शर्मा की रिपोर्ट के मुताबिक नदी में डूबने से हुई मौत का ये मामला बलरामपुर के मासिहाबाद ग्रिट गांव का है. 17 जून के दिन चार सगी बहनें बकरीद का त्योहार मनाने अपनी नानी के घर आई हुई थीं. नानी के घर से कुछ दूरी पर स्थित कुआनो नदी में सभी बहनें नहाने गई थीं. नहाने के दौरान सभी नदी में डूब गईं. ये कैसे हुआ, ये फिलहाल साफ नहीं है.

जानकारी के अनुसार चारों बहनें दोपहर करीब तीन बजे नहाने के लिए निकली थीं. काफी समय बीतने के बाद जब वो सब नहीं लौटीं तो परिजनों ने उनकी खोज शुरू की. उन्हें ढूंढते-ढूंढते जब परिवार के लोग नदी की तरफ पहुंचे तो उन्हें सभी के डूबने की सूचना मिली. नदी में खोजबीन के बाद चारों के शव निकाले गए. रिपोर्ट के मुताबिक चारों लड़कियां बलरामपुर के कालू बनकट गांव के रहने वाले राजू की बेटियां थीं. चारों की पहचान रेशमा, रुखसाना, लल्ली और गुड्डी के रूप में हुई है.

नदी में बहनों के डूबने की सूचना प्रशासन तक गई तो आला अधिकारी घटना स्थल पर पहुंचे. अधिकारियों ने लड़कियों के परिवारजनों को ढांढस बंधाया. चारों के शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया है. जिलाधिकारी अरविंद सिंह ने घटना पर दुख जताया और कहा कि नियमानुसार पीड़ित परिवार को सहायता दी जाएगी. साथ ही मौके पर टीम भेजकर रिपोर्ट ली गई है.

वीडियो: UP में बिजली कटौती के बाद मचा बवाल, सड़क पर लेट गए बुजुर्ग

thumbnail

Advertisement

Advertisement