The Lallantop
Advertisement

असम बाढ़ के बीच मालिनीबील गांव की ये तस्वीर क्या सरकार को नज़र नहीं आ रही?

मालिनी बिल. 10 से 15 हज़ार लोगों की आबादी वाले इस गांव में तकरीबन साल भर पानी भरा रहता है. असम में बाढ़ के बाद बाकी क्षेत्रों से पानी कम हो जाता, लोग अपने घर वापस चले जाते हैं.

Advertisement
11 जुलाई 2024
Updated: 11 जुलाई 2024 22:48 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

भारत के उत्तर पूर्व में पड़ता है असम. यहां की राजधानी गुवाहाटी से तकरीबन 300 किलोमीटर दूर सिल्चर है. यही का एक गांव है, मालिनी बिल. 10 से 15 हज़ार लोगों की आबादी वाले इस गांव में तकरीबन साल भर पानी भरा रहता है. असम में बाढ़ के बाद बाकी क्षेत्रों से पानी कम हो जाता, लोग अपने घर वापस चले जाते हैं. लेकिन मालिनी बिल के लोग सालभर बाढ़ के पानी की मार झेलते हैं. इनके जीवन को करीब से देखेंगे तो आप समझ पाएंगे कि अब इन लोगों ने ऐसे जीने की आदत डाल ली है.

हर रोज़ यहां के लोग थर्माकोल की नाव से पानी भरने जाते हैं. इन्हें पानी के बहुत मशक्कत करनी पड़ती. आजतक के सहयोगी दिलीप कुमार की रिपोर्ट के मुताबिक सरकार की ओर से इन्हें टेबलेट दी गईं हैं, जिन्हें यहां के लोग पानी में डाल देते हैं, जिससे लोगों को कोई बीमारी ना हो. 
 

thumbnail

Advertisement

Advertisement