The Lallantop
Advertisement

तय समय से पहले ही खत्म हो सकती है राहुल की न्याय यात्रा, क्या 'दिक्कत' हो गई?

Bharat Jodo Nyay Yatra उत्तर प्रदेश के 28 लोकसभा क्षेत्रों से होकर गुजरनी थी. लेकिन अब खबर है कि पश्चिम उत्तर प्रदेश के अधिकतर जिलों से अब यह यात्रा नहीं गुजरेगी.

Advertisement
Rahul Gandhi Bharat Jodo Nyay Yatra
कम से कम एक सप्ताह पहले खत्म हो सकती है न्याय यात्रा. (फाइल फोटो: PTI)
font-size
Small
Medium
Large
12 फ़रवरी 2024 (Updated: 12 फ़रवरी 2024, 18:10 IST)
Updated: 12 फ़रवरी 2024 18:10 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की भारत जोड़ो न्याय यात्रा (Bharat Jodo Nyay Yatra) अपने तय समय से पहले खत्म हो सकती है. यात्रा इस सप्ताह उत्तर प्रदेश में प्रवेश करने वाली है. यहां राहुल गांधी को 11 दिन बिताने थे. लेकिन अब खबर है कि वो तय समय से पहले ही अपनी यात्रा समाप्त कर देंगे. यात्रा अब पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अधिकतर जिलों से होकर नहीं गुजरेगी. 80 लोकसभा सीटों वाले UP में कांग्रेस को पिछले दो लोकसभा चुनावों में सफलता नहीं मिल पाई है.

इंडियन एक्सप्रेस ने सूत्रों के हवाले से इस बात की जानकारी दी है. रिपोर्ट के अनुसार, राहुल लखनऊ और फिर से अलीगढ़ से होते हुए मध्य प्रदेश और फिर पश्चिमी उत्तर प्रदेश में आगरा तक यात्रा करेंगे. इस दौरान पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अधिकतर जिलों से यात्रा नहीं गुजरेगी. इस क्षेत्र में कांग्रेस के सहयोगी दल राष्ट्रीय लोकदल (RLD) की मजबूत पकड़ बताई जाती है. पिछले कुछ समय से जयंत चौधरी की पार्टी RLD और BJP के बीच गठबंधन की खबरें चल रही हैं.

हालांकि, कांग्रेस ने इस बात से इनकार किया है कि न्याय यात्रा को तय समय से पहले खत्म करने का कारण RLD से जुड़ा है. एक्सप्रेस ने पार्टी सूत्रों के हवाले से लिखा है कि कांग्रेस यात्रा को धीमी गति से आगे बढ़ाना चाहती है. ताकि रास्ते में लोगों से बातचीत के लिए अधिक समय मिल सके. ये भी बताया गया है कि यात्रा को कम से कम एक सप्ताह पहले समाप्त करने से राहुल गांधी को लोकसभा चुनाव के लिए अधिक समय मिलेगा.

ये भी पढ़ें: कांग्रेस का आरोप- असम में भाजपा वालों ने किया भारत जोड़ो न्याय यात्रा पर हमला

यूपी में भारत जोड़ो न्याय यात्रा 28 लोकसभा क्षेत्रों से होकर गुजरनी थी. इनमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सीट वाराणसी, रायबरेली, अमेठी, इलाहाबाद, फूलपुर और लखनऊ भी शामिल हैं. इनके अलावा चंदौली, वाराणसी, जौनपुर, इलाहाबाद, भदोही, प्रतापगढ़, अमेठी, रायबरेली, लखनऊ, हरदोई, सीतापुर, बरेली, मोरादाबाद, रामपुर, संबल, अमरोहा, अलीगढ, बदायूं, बुलन्दशहर और आगरा जैसे क्षेत्र शामिल थे.

20 मार्च को मुबंई में यात्रा का समापन होना है. लेकिन अब खबर इसे 10 से 14 मार्च के बीच खत्म किया जा सकता है. रिपोर्ट के अनुसार, AICC महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा 14 फरवरी को न्याय यात्रा में शामिल हो सकती हैं. 14 फरवरी को यात्रा का एक महीना पूरा हो जाएगा. प्रियंका अभी तक इस यात्रा में शामिल नहीं हुई हैं.

वीडियो: 'BJP वालों ने न्याय यात्रा पर हमला किया', राहुल गांधी ने PM मोदी पर क्या कह दिया?

thumbnail

Advertisement