The Lallantop
Advertisement

'बता दो उन्हें ये हैदराबाद नहीं, MP है... ' 11 लोगों के मकान तोड़ने पर मोहन यादव का ओवैसी को जवाब

Madhya Pradesh के Mandla में 'बीफ' मिलने पर आरोपियों पर कार्रवाई हुई. इसे लेकर AIMIM नेता असदुद्दीन औवेसी ने MP सरकार पर बहुत बड़े आरोप लगाए. अब मुख्यमंत्री मोहन यादव का भी जवाब आया है. क्या-क्या बोले हैं दोनों नेता?

Advertisement
mohan yadav assdudin owaisi mandla beef case
मंडला में मकान गिराए जाने की कार्रवाई पर ओवैसी और मोहन यादव में 'तकरार' हो गई | फाइल फोटो: आजतक
18 जून 2024 (Updated: 18 जून 2024, 07:59 IST)
Updated: 18 जून 2024 07:59 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के मंडला (Mandla) में अवैध रूप से गोमांस का कारोबार करने वालों पर कार्रवाई हुई थी. प्रशासन ने 11 आरोपियों के घर गिरा दिए थे. अब हैदराबाद के सांसद और AIMIM के नेता असदुद्दीन ओवैसी का बयान आया है. उन्होंने MP सरकार पर आरोप लगाया है कि जो काम भीड़ करती थी वो अब सरकार कर रही है और एक समुदाय को ही निशाना बनाया जा रहा है. एमपी के सीएम मोहन यादव का इसपर जवाब भी आया है.

असदुद्दीन ओवैसी ने 17 जून को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म X पर लिखा,

'2015 में अखलाक के फ्रिज में रखे मांस को बीफ बता कर एक भीड़ ने घर में घुसकर उन्हें मार दिया था. न जाने कितने मुसलमानों पर “तस्करी” और “चोरी” का झूठा इल्जाम लगाकर उनका कत्ल कर दिया गया.'

ओवैसी ने आगे कहा,

'जो काम पहले भीड़ करती थी, वो काम अब सरकार कर रही है. मध्यप्रदेश सरकार ने कुछ मुसलमानों पर इल्जाम लगाया कि उनके फ्रिज में बीफ था और 11 घरों पर बुलडोजर चला दिया. नाइंसाफी का सिलसिला थमता नहीं. चुनाव के नतीजों से पहले और बाद में भी, घर मुसलमानों के ही तोड़े जाते हैं. कत्ल मुसलमानों के ही होते हैं. जिन्हें झोली भर-भर के मुसलमानों का वोट मिलता है, वो अब क्यों चुप हैं?'

मोहन यादव ने ओवैसी को जवाब दिया

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव ने ओवैसी के बयान पर प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा,

'ये ओवैसी का नजरिया हो सकता है. जिसमें वे दो वर्गों की बात करते हैं. बड़े दुर्भाग्य के साथ कहना पड़ रहा है कि वे जिस वर्ग से आते हैं, वे उस वर्ग को भी लज्जित करते हैं. भारत में संविधान से सरकार चलती है. हमारी सरकार अपराध पर कार्रवाई करना लगातार जारी रखेगी. सबको कानून के हिसाब से चलना होगा. गुंडा तत्वों के खिलाफ सरकार का निर्णय कठोरता से पेश करेंगे. आम जनता पर किसी प्रकार का कोई कष्ट हम बर्दाश्त नहीं करेंगे.'

फिर मुख्यमंत्री ये भी बोले-

'मेरी ये बात असदुद्दीन ओवैसी तक पहुंचा दीजिएगा कि वो मध्यप्रदेश को हैदराबाद नहीं समझें. MP में भाजपा की सरकार है, जो शरारती और गुंडई सब प्रकार के तत्वों से निपटने में सक्षम है.'

Mandla में क्या हुआ था?

मध्य प्रदेश के मंडला में 14 जून की रात को पुलिस ने अवैध गोमांस बेचने वालों के खिलाफ कार्रवाई की थी. मंडला के SP रजत सकलेचा ने बताया था कि अवैध गोमांस के कारोबार की सूचना पुलिस को मिली थी, जिसके बाद वहां एक टीम भेजी गई. टीम को आरोपियों के मकान के पीछे वाले हिस्से में 150 गायें बंधीं हुई मिलीं. सभी 11 आरोपियों के घरों के फ्रिज से गाय का मांस बरामद हुआ. साथ ही, जानवरों की चर्बी, खाल और हड्डियां भी मिली हैं, जिन्हें एक कमरे में रखा गया था.

पुलिस के मुताबिक स्थानीय सरकारी पशु चिकित्सक ने जब्त किए गए मांस के गोमांस होने की पुष्टि की. इसके बाद प्रशासन ने सभी 11 आरोपियों के घर ध्वस्त कर दिए. पुलिस के मुताबिक ये सभी घर सरकारी जमीन पर बने थे. कार्रवाई के दौरान एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. जबकि अन्य 10 आरोपियों की तलाश जारी है.

वीडियो: मध्य प्रदेश के CM मोहन यादव ने उज्जैन में सिंधिया परिवार की कौन सी बात काट दी!

thumbnail

Advertisement

Advertisement