The Lallantop
Advertisement

प्रयागराज, लखनऊ, मेरठ... 'पेपर लीक' के खिलाफ हजारों छात्र सड़कों पर उतरे, दोबारा परीक्षा कराने की मांग

प्रियंका गांधी और अखिलेश यादव ने भी छात्रों के प्रदर्शन का वीडियो शेयर किया है. प्रियंका ने दोबारा परीक्षा कराने और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है.

Advertisement
 protests over alleged paper leak in prayagraj
प्रयागराज में लोकसेवा आयोग के बाहर हजारों छात्र जुटे ( फोटो- 'X' )
23 फ़रवरी 2024
Updated: 23 फ़रवरी 2024 18:43 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

उत्तर प्रदेश कांस्टेबल भर्ती परीक्षा (UP Police Exam) में कथित पेपर लीक का मामला गरमाता नजर आ रहा है. आज, 23 फरवरी को सूबे के कई शहरों से छात्रों के प्रदर्शन की तस्वीरें सामने आईं. लखनऊ के इको गार्डन में सबसे ज्यादा भीड़ देखने को मिली. दोबारा परीक्षा करवाने की मांग को लेकर सैकड़ों छात्रों ने जमकर प्रदर्शन किया. हाथों में होर्डिंग और बैनर लेकर नारेबाजी की. छात्रों की भारी भीड़ को देखते हुए मौके पर सुरक्षा बल भी तैनात थे.

आजतक से जुड़े संतोष शर्मा की रिपोर्ट के मुताबिक, विरोध प्रदर्शन के बीच अभ्यर्थियों के प्रतिनिधिमंडल ने यूपी पुलिस भर्ती व प्रोन्नति बोर्ड (UPPRPB) के अफसरों से मुलाकात की. इस प्रतिनिधिमंडल में 7 लोग शामिल थे. इसमें 5 कोचिंग सेंटर के टीचर और 2 अभ्यर्थी मौजूद थे. उन्होंने भर्ती बोर्ड को ज्ञापन सौंपा. इसके साथ प्रतिनिधिमंडल ने भर्ती बोर्ड को पेपर लीक के ‘सबूत’ भी दिए.

भर्ती बोर्ड के अफसरों से मुलाकात के बाद अभ्यर्थियों के प्रतिनिधिमंडल ने बताया,

“हमारी मुलाकात DG मैडम से हुई है. हमें आश्वासन दिया गया है कि जांच के बाद कार्रवाई होगी. उन्होंने जांच का वक्त मांगा है.”

मेरठ में भी छात्रों ने एसएसपी ऑफिस पहुंचकर प्रदर्शन किया. उत्तर प्रदेश पुलिस परीक्षा में धांधली का आरोप लगाते हुए पुलिस भर्ती को निरस्त करने की मांग की गई.

प्रयागराज में लोक सेवा आयोग का घेराव

प्रयागराज में ‘पेपर लीक’ के विरोध में छात्रों ने ‘महापंचायत’ बुलाई. इसके बाद भारी संख्या में लोक सेवा आयोग के गेट पर पहुंचे छात्रों का गुस्सा फूट गया. यूपी तक की रिपोर्ट के मुताबिक, 200 से ज्यादा लाइब्रेरी और कोचिंग सेंटर भी बंद करवाए गए. छात्रों की मांग है कि पेपर लीक के मामले की उच्च स्तरीय जांच करवाई जाए और परीक्षा फिर से ली जाए.

पेपर लीक का मामला आज सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म 'X' पर भी दिन भर ट्रेंड करता रहा. कई नेताओं, छात्रों और शिक्षकों ने इस पर प्रतिक्रिया जारी की है. समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने इस मामले को लेकर बीजेपी पर नौकरी देने में टालमटोल करने का आरोप लगाया है. उन्होंने लिखा,

प्रियंका गांधी ने भी छात्रों के प्रदर्शन का वीडियो शेयर किया है. ट्वीट में उन्होंने दोबारा परीक्षा कराने और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है.

 बोर्ड ने पेपर लीक के प्रमाण मांगे

पेपर लीक के आरोपों पर यूपी पुलिस विभाग ने 22 फरवरी को एक नोटिस जारी किया था. प्रशासन ने 23 फरवरी की शाम 6 बजे तक इससे जुड़े सबूत मांगे हैं. नोटिस में कहा गया है कि शिकायत करने वाला अपना नाम, पता, मोबाइल नंबर और पेपर लीक से जुड़े सबूत दी गई ईमेल आईडी पर मेल करें.

ये भी पढ़ें- दी लल्लनटॉप शो: UP police paper leak, UP RO ARO paper leak 2024, भर्तियों में क्या खेल हो रहे हैं? 

बता दें, राज्य सरकार ने 60,244 पुलिस कॉन्स्टेबलों की भर्ती निकाली थी. भर्ती बोर्ड ने इसके लिए 17 और 18 फ़रवरी को परीक्षा ली. राज्य के 75 ज़िलों में क़रीब 48 लाख अभ्यर्थी इम्तिहान के लिए बैठे थे. परीक्षा के पहले दिन यानी 17 फ़रवरी से ही परीक्षा के पेपर लीक होने के दावे सामने आने लगे. तब से अभ्यर्थी लगातार विरोध कर रहे हैं.

वीडियो: यूपी पुलिस और यूपीपीएससी आरओ एआरओ पेपर लीक के खिलाफ हजारों छात्र सड़क पर उतरे

thumbnail

Advertisement

election-iconचुनाव यात्रा
और देखे

Advertisement

Advertisement