The Lallantop
Advertisement

मध्य प्रदेश: Kashmir Files पर राय देने वाले IAS नियाज खान सरकार के निशाने पर आए

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने नियाज खान को लेकर क्या कहा?

Advertisement
Img The Lallantop
मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा (बाएं) और आईएएस नियाज खान. (तस्वीरें पीटीआई और ट्विटर से साभार हैं.)
23 मार्च 2022 (Updated: 23 मार्च 2022, 14:04 IST)
Updated: 23 मार्च 2022 14:04 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share
'द कश्मीर फाइल्स' फिल्म पर बयान देकर चर्चा में आए मध्य प्रदेश के आईएएस अधिकारी नियाज़ खान मुश्किल में फंसते दिख रहे हैं. मध्य प्रदेश की बीजेपी सरकार उन्हें कारण बातओ नोटिस देने की तैयारी में है. इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक राज्य के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बुधवार 23 मार्च को कहा,
"आईएएस अधिकारी नियाज़ खान का मुद्दा गंभीर है. वो हद पार कर रहे हैं और उन्हें कारण बताओ नोटिस दिया जाएगा."
क्या कहा था नियाज़ खान ने? नियाज़ खान ने कश्मीर फाइल्स पर कहा था कि ऐसी ही एक मूवी देश में मुसलमानों के नरसंहार पर भी बननी चाहिए. उन्होंने ट्वीट कर लिखा था,
“कश्मीर फाइल ब्राह्मणों का दर्द दिखाती है. उन्हें पूरे सम्मान के साथ कश्मीर में सुरक्षित रहने की इजाज़त दी जानी चाहिए. फिल्म निर्माता को कई राज्यों में बड़ी संख्या में मुसलमानों की हत्याओं को दिखाने के लिए भी एक फिल्म बनानी चाहिए. मुसलमान कीड़े नहीं बल्कि इंसान और देश के नागरिक हैं."
फिल्म पर दी इस प्रतिक्रिया के बाद नियाज़ खान सबसे पहले बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा के निशाने पर आए थे. उन्होंने आरोप लगाया कि आईएएस अधिकारी नियाज़ खान एक विशेष समुदाय के लिए रुख रखते हैं जो कि सर्विस कंडक्ट के नियमों का उल्लंघन है. रामेश्वर शर्मा ने कहा था कि नियाज़ खान को भारतीय प्रशासनिक सेवा छोड़कर उस समुदाय के लिए खुले तौर पर लड़ना चाहिए जिनका वो समर्थन करने की कोशिश कर रहे हैं.

सुपरस्टार खानों को भी निशाने पर लिया था

नियाज़ खान मध्य प्रदेश कैडर के आईएएस अधिकारी हैं. वो फिलहाल लोक निर्माण विभाग में उप सचिव के रूप में काम कर रहे हैं. उन्होंने बॉलीवुड के सुपरस्टार खानों को भी निशाने पर लिया है, उन्हें सिर्फ पर्दे का हीरो बताया है. नियाज ने आमिर खान को सलाह देते हुए सोनू सूद और नाना पाटेकर को अपना हीरो बताया है. उन्होंने कहा है कि उन्हें असली पठान हीरो पसंद हैं, नकली हीरो नहीं. बहरहाल, नियाज़ खान ने कश्मीर फाइल्स की कमाई को कश्मीरी ब्राह्मणों पर ही खर्च करने की सलाह भी दी थी.
"कश्मीर फाइल फिल्म की कमाई 150 करोड़ तक पहुंच चुकी है. लोगों ने कश्मीरी ब्राह्मणों की भावनाओं का बहुत सम्मान किया है. मैं फिल्म निर्माता का सम्मान करूंगा अगर वो सारी कमाई ब्राह्मण बच्चों की शिक्षा और कश्मीर में उनके लिए घर बनाने के लिए दे दें तो ये एक महान दान होगा."
कश्मीर फाइल्स को लेकर नियाज ने ये भी लिखा कि वो अलग-अलग मौकों पर मुसलमानों के नरसंहार को दिखाने के लिए एक किताब लिखने की सोच रहे हैं ताकि निर्माता कश्मीर फाइल्स जैसी फिल्म बना सकें. अल्पसंख्यकों के दर्द और पीड़ा को देशवासियों के सामने लाया जा सके. इसी बीच मध्य प्रदेश सरकार ने उन्हें नोटिस देने की बात कह दी है. देखते हैं नियाज खान क्या जवाब देते हैं.

thumbnail

Advertisement