The Lallantop
Advertisement

"कर्ज लेकर पढ़ाया, सरकारी नौकरी के बाद छोड़ गई"... 'पति' ने लगाया आरोप, अब महिला का जवाब आया है

Jhansi के नीरज विश्वकर्मा का कहना है कि उसकी पत्नी ऋचा सोनी आख़िरी बार 18 जनवरी 2024 को घर से निकली थी. उसने कॉलेज जाने की बात कही थी. इसके बाद वो घर नहीं लौटी.

Advertisement
Jhansi Woman Abandons Husband After Getting lekhpal Job In UP
नीरज ने बताया कि ढाई साल पहले दोनों की शादी हुई थी. (फ़ोटो - आजतक)
font-size
Small
Medium
Large
11 जुलाई 2024 (Updated: 11 जुलाई 2024, 11:56 IST)
Updated: 11 जुलाई 2024 11:56 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) का झांसी ज़िला. यहां एक व्यक्ति ने आरोप लगाया है कि उसकी पत्नी ने लेखपाल की नौकरी (Wife left after job) मिलने के बाद उसे छोड़ दिया. व्यक्ति का नाम नीरज विश्वकर्मा है. वो पेशे से कारपेंटर है. नीरज ने अपनी बातें रखते हुए कुछ तस्वीरें और वीडियो भी शेयर किए. नीरज विश्वकर्मा ने बताया कि उसने दो साल पहले 6 फ़रवरी, 2022 को महिला से शादी की थी. वो लोग 5 साल पहले मिले थे और तब लव मैरिज की थी.

नीरज का कहना है कि लेखपाल के रूप में जॉइनिंग लेटर मिलने के बाद उसकी पत्नी ऋचा सोनी ने उसे छोड़ दिया. नीरज ने DM को एक लेटर लिखकर मामले में मदद की मांग की है. उसका कहना है कि उसकी पत्नी अब उससे बात नहीं कर रही है और फ़ोन भी नहीं उठा रही है. नीरज ने बताया कि उसकी पत्नी ऋचा आख़िरी बार 18 जनवरी 2024 को घर से निकली थी. ऋचा ने कॉलेज जाने की बात कही थी. हालांकि, इसके बाद वो घर लौटी ही नहीं.

जब नीरज को पता चला कि ऋचा लेखपाल के पद के लिए नियुक्ति पत्र लेने जा रही है, तो वो भी कलेक्टर ऑफ़िस पहुंचा था. लेकिन ऋचा उससे मिलने से बचने के लिए दूसरे दरवाजे से निकल गई. आजतक के साथ बातचीत में नीरज ने बताया,

"क़रीब ढाई साल पहले हमने ओरछा मंदिर में शादी की थी. बाद में ऋचा ने पढ़ने की इच्छा जताई. मैंने मजदूरी करते हुए उसे पढ़ाया. कई बार कर्ज भी लेना पड़ा. लेकिन अब जॉइनिंग लेटर मिलने के बाद वो बदल गई. जॉइनिंग लेटर लेकर भी वो छिपते हुए निकल गई."

ये भी पढ़ें - 'गाड़ियां, एरोप्लेन, हथियार, 7500 करोड़'- 2 साल से फरार, फिर पत्नी की पोस्ट से ऐसे धरा गया माफिया!

हालांकि, कुछ-एक मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया कि दोनों के बीच कुछ विवाद हो गया था. इस कारण ऋचा अपने मायके चली गई थी. इस पर नीरज ने फ़ैमिली कोर्ट में सेक्शन 9 (हिंदू विवाह अधिनियम 1955 की धारा 9 - वैवाहिक अधिकारों की बहाली से संबंधित है. इसके अनुसार, जब पति और पत्नी दोनों में से कोई एक पक्ष किसी उचित कारण के बिना ही दूसरे से अलग हो जाता है, तब दूसरा पक्ष ज़िला अदालत में याचिका द्वारा आवेदन कर सकता है) दायर कर अपने घर बुलाया था. इसके बाद ऋचा की नौकरी लग गई और वो लोग मिले ही नहीं.

नीरज ने इस बारे में बताया कि एक बार कोतवाली में दोनों की मुलाक़ात हुई थी. तब ऋचा ये कहने लगी कि SDM के पास जाओ और शपथ पत्र देकर आओ कि कोई शादी हुई ही नहीं है. नीरज का कहना है कि वो कैसे कह दे कि उनकी शादी नहीं हुई है. वहीं दूसरी तरफ़ ऋचा से भी फ़ोन पर बात की गई, तो उसने कैमरे के सामने आने से इनकार कर दिया. ऋचा का कहना है कि उसने नीरज के साथ शादी ही नहीं की. उसने कहा कि ये उसे बदनाम करने की साजिश है.

वीडियो: 'पंचायत' वाले दामाद उर्फ आसिफ खान, सैफ-करीना की शादी में वेटर थे?

thumbnail

Advertisement

Advertisement