The Lallantop
Advertisement

‘मैं अपने पिता से कॉन्टैक्ट में नहीं हूं’, IAS पूजा खेडकर ने वायरल वीडियो में क्या कहा?

सर्विस जॉइन करने से पहले पूजा अपने पिता दिलीप खेडकर के साथ ऑफिस गई थीं. उन्होंने खनन विभाग के बगल में मौजूद VIP हॉल को अपने केबिन के रूप में इस्तेमाल करने की मांग की थी.

Advertisement
puja khedkar viral mock interview video trainee ias pune
IAS पूजा खेडकर ने UPSC एग्जाम साल 2021 में क्लियर किया था. (फोटो- ट्विटर)
11 जुलाई 2024
Updated: 11 जुलाई 2024 23:41 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

पूजा खेडकर (IAS Puja Khedkar). महाराष्ट्र की प्रोबेशनरी IAS अधिकारी. सीनियर का केबिन कब्जाने और पद का दुरुपयोग करने के आरोपों में चर्चा में आईं. यही नहीं पूजा पर UPSC में विकलांगता और OBC क्रीमी लेयर के तहत सेलेक्शन पाने के आरोप भी लग रहे हैं. अब पूजा का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है. इसमें वो अपने पिता की आय के बारे में बता रही हैं.

सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो पूजा खेडकर के एक ‘मॉक इंटरव्यू’ का है. UPSC की तैयारी करने वाले कैंडिडेट्स मेंस की परीक्षा पास करने के बाद अक्सर मॉक इंटरव्यू में बैठते हैं. इंटरव्यू में पैनल के एक सदस्य पूजा के डॉक्यूमेंट्स देखकर उनसे उनके पिता की आय के बारे में सवाल करते हैं. वे पूछते हैं कि उनके पिता किसी बैंक में काम करते हैं या कहीं और?

जवाब में पूजा बताती है कि उनके पिता एक सिविल सर्वेंट हैं. इसके बाद पैनल मेंबर उनसे कहते हैं कि उनके पिता की कोई आय नहीं है, शून्य इनकम है? पूजा जवाब देती हैं,

“मेरे पेरेंट्स अलग हो चुके हैं. मैं अपने पिता से कॉन्टैक्ट में नहीं हूं.”

पूजा अपने पिता से अब कॉन्टैक्ट में हैं या नहीं, इसका जवाब तो वो खुद ही दे पाएंगी. लेकिन बीते दिनों जो बातें सामने आईं, उसमें ये जानकारी भी आई थी कि सर्विस जॉइन करने से पहले पूजा अपने पिता दिलीप खेडकर के साथ ऑफिस गई थीं. उन्होंने खनन विभाग के बगल में मौजूद VIP हॉल को अपने केबिन के रूप में इस्तेमाल करने की मांग की थी.

फर्जी सर्टिफिकेट देकर बनीं IAS!

पूजा की नियुक्ति को लेकर भी विवाद सामने आया है. उनकी नियुक्ति से जुड़े डॉक्यूमेंट्स की जांच की गई तो पता चला कि उन्होंने सिविल सेवा एग्जाम पास करने के लिए कथित रूप से फर्जी विकलांगता और OBC सर्टिफिकेट पेश किए थे. खेडकर ने OBC और दृष्टिबाधित (visually impaired) श्रेणियों के तहत सिविल सेवा का एग्जाम दिया था. उन्होंने मानसिक बीमारी का सर्टिफिकेट भी जमा किया था.

इंडिया टुडे की खबर के मुताबिक, अप्रैल 2022 में उन्हें अपनी विकलांगता की पुष्टि के लिए AIIMS में मेडिकल टेस्ट कराने के लिए कहा गया था. हालांकि, एक अफसर ने बताया कि खेडकर ने छह अलग-अलग मौकों पर इन टेस्ट में शामिल होने से मना कर दिया. बाद में, उन्होंने एक प्राइवेट अस्पताल से मिली MRI स्कैनिंग सर्टिफिकेट पेश किए. इसी आधार पर उनकी IAS नियुक्ति को स्वीकार किया गया था.

जानकारी के अनुसार, खेडकर के OBC नॉन-क्रीमी लेयर दर्जे के दावों में भी गड़बड़ी पाई गईं. 2024 लोकसभा चुनाव में पूजा के पिता दिलीप खेडकर ने वंचित बहुजन आघाड़ी के टिकट पर चुनाव लड़ा था. तब चुनावी हलफनामे में उनकी संपत्ति 40 करोड़ रुपये बताई गई थी. इससे उनकी OBC नॉन-क्रीमी लेयर की योग्यता पर भी सवाल उठ रहे हैं.

पूजा खेडकर कौन हैं?

ट्रेनी IAS पूजा खेडकर ने UPSC एग्जाम साल 2021 में क्लियर किया था. एग्जाम में उनकी ऑल इंडिया रैंक 821 आई. कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय में उन्होंने खुद को विकलांग बताते हुए याचिका दायर की थी. इसमें उन्होंने तर्क दिया कि दिव्यांग उम्मीदवारों को SC/ST उम्मीदवारों की तुलना में ज़्यादा मुश्किलों का सामना करना पड़ता है. उन्हें भी बराबर लाभ दिया जाना चाहिए.

वीडियो: ट्रेनी IAS पूजा खेडकर के बारे में अब क्या पता चला?

thumbnail

Advertisement

Advertisement