The Lallantop
Advertisement

उत्तरकाशी टनल बचाव अभियान में लगे PMO, ग्रीन कॉरिडोर, 1 हजार कर्मचारियों की योजना की पूरी कहानी

17 दिनों तक चले बचाव अभियान में लगभग 400 घंटों के बाद 28 नवंबर को सफलता मिली.

Advertisement
29 नवंबर 2023
Updated: 29 नवंबर 2023 17:54 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

उत्तरकाशी सुरंग हादसे में फंसे सभी 41 मजदूरों को बाहर (Uttarakhand Tunnel Rescue) निकाल लिया गया है. 17 दिनों तक चले बचाव अभियान में लगभग 400 घंटों के बाद 28 नवंबर को सफलता मिली. इस बचाव अभियान में कम से कम 652 सरकारी कर्मचारी काम कर रहे थे. इंडियन एक्सप्रेस से जुड़े अवनीश मिश्रा की एक रिपोर्ट के मुताबिक, बचाव कार्य मेंं 189 पुलिस विभाग, 106 स्वास्थ्य विभाग, 77 भारत तिब्बत बॉर्डर पुलिस, 62 राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF), 39 राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (SDRF), 46 जल संस्थान उत्तरकाशी, 32 बिजली विभाग और 38 सीमा सड़क संगठन (BRO) के कर्मचारी शामिल थे. देखें वीडियो. 

thumbnail

Advertisement