The Lallantop
Advertisement

किसान आंदोलन के चलते लाल किला-केंद्रीय सचिवालय मेट्रो स्टेशन बंद, क्या बोले विपक्षी नेता...

Farmers Protest: Mallikarjun Kharge ने कहा है कि मोदी सरकार ने किसानों को ‘आंदोलनजीवी’ और ‘परजीवी’ कहकर बदनाम किया था.

Advertisement
Mallikarjun Kharge on Farmers protest
मल्लिकार्जुन खरगे ने मोदी सरकार पर 750 किसानों की जान लेने का आरोप लगाया है. (तस्वीर साभार: PTI)
font-size
Small
Medium
Large
13 फ़रवरी 2024
Updated: 13 फ़रवरी 2024 14:12 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

दिल्ली बॉर्डर पर किसानों का जत्था (Delhi Chalo March) पहुंच चुका है. न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) के साथ कई अन्य मांगों को लेकर किसानों का दिल्ली चलो मार्च जारी है. इससे पहले चंडीगढ़ में सरकार और किसानों के बीच हुई बातचीत बेनतीजा रही. किसानों को दिल्ली में घुसने से रोकने के लिए कई लेयर की सिक्योरिटी लगाई गई है. कंटीले तार और बैरकेडिंग की भी व्यवस्था की गई है.

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, किसानों के दिल्ली के मार्च को लेकर लाल किले (Red Fort) को बंद कर दिया गया है. लाल किले के मेन गेट पर कई लेयर की बैरिकेडिंग की गई है. हरियाणा-पंजाब के बीच शंभू बॉर्डर पर किसानों पर आंसू गैस के गोले दागे गए हैं. 

गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने किसान आंदोलन को देखते हुए गुजरात दौरा रद्द कर दिया है. इस बीच हरियाणा के शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर ने कहा है कि ये सब पंजाब सरकार की वजह से हो रहा है. कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे (Mallikarjun Kharge) की भी प्रतिक्रिया आई है. उन्होंने सोशल मीडिया X (ट्विटर) पर एक पोस्ट किया है. लिखा है,

"कंटीले तार, ड्रोन से आंसू गैस, कीलें और बंदूकें. सबका इंतजाम है. तानाशाही मोदी सरकार को किसानों की आवाज पर लगाम जो लगानी है."

खरगे ने मोदी सरकार पर 750 किसानों की जान लेने का आरोप लगाते हुए लिखा,

"याद है ना ‘आंदोलनजीवी’ और ‘परजीवी’ कहकर बदनाम किया था. और 750 किसानों की जान ले ली थी."

ये भी पढ़ें: किसान आंदोलन से जुड़े सभी लाइव अपडेट्स यहां पढ़ें

उन्होंने मोदी सरकार पर किसानों से वादाखिलाफी का भी आरोप लगाया है. उन्होंने लिखा,

"10 सालों में मोदी सरकार ने देश के अन्नदाताओं से किए गए अपने तीन वादे तोड़े हैं. 2022 तक किसानों की आमदनी दोगुनी करने, स्वामीनाथन रिपोर्ट के मुताबिक इनपुट कॉस्ट + 50% MSP लागू करने और MSP को कानूनी दर्जा देने का वादा. अब समय आ गया है 62 करोड़ किसानों की आवाज उठाने का."

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि किसान आंदोलन को उनका पूरा समर्थन है. 

कांग्रेस से राज्यसभा सांसद रणदीप सिंह सुरजेवाला ने किसानों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य की बात की है. उन्होंने लिखा,

“किसान को MSP की गारंटी का कानून क्यों नही? MSP की मांग पर उनके रास्ते में फूल के बजाय शूल और नश्तर क्यों? जालिम हुकूमत ये जान ले कि इसी सड़क पर किसान अपनी किस्मत और MSP की जीत की इबारत लिखेंगे.”

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता भूपिंदर सिंह हुड्डा ने न्यूज एजेंसी ANI को बताया,

“केंद्र सरकार को तुरंत किसानों के साथ चर्चा करनी चाहिए और वो जो कह रहे हैं उस पर सहमती होनी चाहिए.”

वहीं हरियाणा से कांग्रेस सांसद दीपेंद्र एस हुडा ने भी किसानों के लिए MSP की बात की है. कहा है कि सरकार को किसानों से MSP पर कानून बनाने समेत उनकी मांगों पर बात करनी चाहिए.'

इससे पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी और सपा नेता अखिलेश यादव ने भी किसान आंदोलन को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी थी. राहुल गांधी ने X पर कहा था कि दिन रात ‘झूठ की खेती’ करने वाले PM मोदी ने 10 वर्षों में किसानों को सिर्फ ठगा है. वहीं उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार किसान आंदोलन के लिए कीलें बिछाकर अपनी कमी छिपा रही है.

वीडियो: किसान आंदोलन समेत इन 9 आंदोलनों ने देश में क्या बदला?

thumbnail

Advertisement