The Lallantop
Advertisement

स्टेशन के इन्क्वायरी रूम से 'डिंपल यादव जिंदाबाद' का नारा लगा दिया, अब झेलेंगे!

मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव लड़ रही हैं डिंपल यादव.

Advertisement
etawah railway station dimple yadav zindabad
(बाएं-दाएं) डिंपल यादव और इटावा रेलवे स्टेशन की तस्वीरें. (साभार- ट्विटर और इंडिया टुडे)
29 नवंबर 2022 (Updated: 29 नवंबर 2022, 09:02 IST)
Updated: 29 नवंबर 2022 09:02 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

उत्तर प्रदेश के इटावा रेलवे स्टेशन के इंक्वायरी पैनल से 'डिंपल यादव जिंदाबाद' बोलने के मामले में कार्रवाई हुई है. खबर है कि रेलवे स्टेशन के टीसी को सस्पेंड कर दिया गया है. साथ ही 10 लोगों पर मामला दर्ज किया गया है. आजतक के कुमार अभिषेक की रिपोर्ट के मुताबिक उत्तरी रेलवे की यूनियन के कुछ लोगों पर भी FIR हुई है.

रेलवे स्टेशन पर हुई अनाउंसमेंट- ‘डिंपल यादव को जिताएं’

मामला 26 नवंबर की रात हुई घटना से जुड़ा है. मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, तब रेलवे स्टेशन पर मौजूद लोगों को अजीब अनाउंसमेंट सुनने को मिली थी. इंक्वायरी पैनल से 15 से 20 बार कहा गया, 'डिंपल यादव जिंदाबाद'. साथ ही डिंपल यादव को वोट करने की अपील की गई थी.

उस समय स्टेशन पार्किंग में तैनात एक कर्मचारी मोहित चतुर्वेदी ने बताया था कि रात को करीब 11 बजे इस तरह के नारे लगे थे. उन्हें सुनकर वो इंक्वायरी पैनल के पास पहुंचे. मोहित के मुताबिक उन्होंने देखा कि पैनल से 'डिंपल यादव जिंदाबाद' के नारे लगाए जा रहे थे. उन्होंने बताया था कि उनके अलावा और भी बहुत सारे लोग पैनल के पास इकट्ठा थे. सभी रेलवे स्टेशन पर पार्टी विशेष की नेता के समर्थन में नारे सुनकर हैरान थे. अन्य लोगों का कहना था कि कुछ लोग जबरन पैनल में घुस गए थे. उन्होंने अनाउंसमेंट वाला माइक छीनकर डिंपल यादव के समर्थन में नारे लगा दिए.

घटना के बाद इटावा रेलवे स्टेशन के कर्मचारी मुकेश कुमार ने बताया था कि रात में मौजूद इंक्वायरी कर्मचारी से इस बारे में जानकारी ली गई थी. मुकेश का कहना था कि रेलवे प्रशासन से घटना की शिकायत कर दी गई थी.

मैनपुरी में होना है उपचुनाव

सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव के निधन के बाद खाली हुई मैनपुरी लोकसभा सीट पर पांच दिसंबर को उपचुनाव होने हैं. इसके लिए समाजवादी पार्टी (सपा) ने डिंपल यादव को खड़ा किया है. इटावा रेलवे स्टेशन की घटना को इसी से जोड़कर देखा गया. वहां हुई अनाउंसमेंट में डिंपल यादव को जिताने की बात कही गई थी.

डिंपल यादव के खिलाफ चुनाव लड़ रहे रघुराज शाक्य कौन हैं, जो खुद को मुलायम यादव का शिष्य बताते हैं?

thumbnail

Advertisement