The Lallantop
Advertisement

फ्लाइट से आकर प्रेमिका के घर पहुंचा, तकिए से मर्डर किया, फिर पेचकस से 51 बार गोदा!

गुजरात से छत्तीसगढ़ आया और सीधे प्रेमिका के घर पहुंचा

Advertisement
chhattisgarh korba Neel Kusum Panna Murder Case
आरोपी ने नील कुसम पन्ना (बाएं) के शरीर पर 51 जख्म किए | दोनों फोटो: आजतक
27 दिसंबर 2022 (Updated: 27 दिसंबर 2022, 22:01 IST)
Updated: 27 दिसंबर 2022 22:01 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

छत्तीसगढ़ के कोरबा में 20 साल की लड़की नील कुसुम पन्ना की हत्या के मामले में कई बड़े खुलासे हुए हैं. शनिवार, 24 दिसंबर को खून से लथपथ नील कुसुम का शव घर के कमरे से बरामद किया गया था. अब कुसुम की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई है. जिसके मुताबिक आरोपी ने पहले कुसुम को तकिए से मुंह दबाकर मार डाला. इसके बाद 51 बार एक पेचकस से कुसुम के शरीर को गोदा.

आजतक से जुड़े गेंदलाल शुक्ला के मुताबिक पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार नील कुसुम के सीने, गले, चेहरे और पीठ पर कुल 51 गहरे जख्म मिले हैं. वारदात के दौरान युवती ने हमलावर के साथ अपने बचाव के लिए संघर्ष भी किया, जिसके चलते उसके हाथ पर धारदार हथियार से चोट पहुंचाई गई. इसके बाद हमलावर ने नील कुसुम का मुंह तकिए से दबा दिया, ताकि वह शोर नहीं मचा सके. काफी देर तक मुंह को तकिए से दबाने के दौरान ही उसकी मौत हो गई.

neel kusum korba murder case chhattisgarh
फ्लाइट से हत्या करने आया था!

आजतक के मुताबिक कोरबा पुलिस की जांच में सामने आया है कि संभवत नील कुसुम की हत्या लव ट्रायंगल में की गई है. शाहबाज खान नाम के युवक से उसकी लगातार बात होती थी. वाट्सएप और कॉल डिटेल से ये भी पता चला है कि नील कुसुम जशपुर के किसी अन्य युवक के भी संपर्क में थी. ये भी पता चला कि उसे कुछ दिनों से शाहबाज खान से बात करना बंद कर दिया था, जबकि शाहबाज उसे लगातार फोन करता था.

पुलिस के मुताबिक गुजरात में काम करने वाला शाहबाज फ्लाइट से रायपुर आया. वो शनिवार, 24 दिसंबर को बस से रायपुर से कोरबा पहुंचा और घर में घुसकर नील कुसुम की हत्या कर दी. इसके बाद वो मौके से फरार हो गया. पुलिस को घटनास्थल से फ्लाइट की दो दिन पुरानी गुजरात की टिकट मिली है, जो शाहबाज खान नाम से है. इसके अलावा रायपुर से बिलासपुर तक की बस की टिकट, एक शर्ट और कुछ अन्य सामान भी घटनास्थल से पुलिस को मिला है.

neel kusum korba murder case chhattisgarh

अधिकारियों के मुताबिक आरोपी शाहबाज को पता था कि घर के सदस्य कब अपने-अपने काम पर जाते हैं. इसलिए हत्या सुबह आठ बजे से लेकर दोपहर साढ़े 12 बजे के बीच की गई. इसके बाद दोपहर में जब नील का भाई नितेश घर वापस आया, तो उसका लहूलुहान शव कमरे में पड़ा देखा.

स्थानीय थाने के इंस्पेक्टर रूपक शर्मा ने बताया,

‘शहबाज खान की तलाश में तीन पुलिस टीमें गठित कर उन्हें संभावित स्थानों पर छापेमारी के लिए भेजा गया है. जशपुर पहुंची एक पुलिस टीम ने सूचना दी है कि संदेही (शाहबाज) वहां नहीं पहुंचा है. दो अन्य टीमों की रिपोर्ट का इंतजार है.’

पुलिस का कहना है कि शाहबाज खान के पकड़े जाने के बाद ही हत्या के वास्तविक कारण का खुलासा हो सकेगा.

वीडियो: बिहार के कटिहार कांड का सच क्या? गुंडे ने भैंस चराने के नाम पर चार को मार डाला?

thumbnail

Advertisement