The Lallantop
Advertisement

बीजेपी कल राज्यसभा में कुछ बड़ा करने वाली थी, लेकिन दिल्ली में चुनाव हार गयी

क्या था उस तीन लाइन की चिट्ठी में?

Advertisement
Img The Lallantop
तस्वीर में अमित शाह और नरेंद्र मोदी. बात दवाओं से जुड़ी हुई है. क़ानून से जुड़ी है. भ्रष्टाचार से जुड़ी है. मेमे हमने बनाया है.
12 फ़रवरी 2020 (Updated: 12 फ़रवरी 2020, 08:49 IST)
Updated: 12 फ़रवरी 2020 08:49 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share
11 फरवरी 2020. दिल्ली चुनाव के नतीजे आ रहे थे. अरविन्द केजरीवाल जीत रहे थे. भाजपा हार रही थी. खबरों के हिसाब से बड़ा दिन. लेकिन इस दिन एक और बात होने वाली थी. बीजेपी राज्यसभा में कुछ बड़ा करने वाली थी.
राज्यसभा में पार्टी के प्रमुख व्हिप नारायण लाल पंचारिया भाजपा के सभी सांसदों को तीन लाइन का व्हिप जारी किया. मतलब आदेश. कहा कि सबको रहना है 11 फरवरी को सदन में. “कुछ अति महत्त्वपूर्ण विधायी कार्य चर्चा एवं पारित करने के लिए मंगलवार दिनांक 11 फरवरी 2020 को लाये जायेंगे. कहा कि पूरे दिन सदन में रहें और सरकार के पक्ष का समर्थन करें."
Bjp Whip तीन लाइन का व्हिप जो पंचारिया ने जारी किया था

सोशल मीडिया पर होने लगा बवाल. भाजपा क्या करने वाली है? नयी सरकार में कई मौकों पर भाजपा ने सदन में बिल ऐन मौके पर पेश किये. दोनों सदनों की सहमति मिल गयी. और बिल क़ानून में बदल गए. कई बार बहुत बहसतलब बिल होते थे. इस बार भी ऐसी ही आशंका.
11 फरवरी का दिन. दिल्ली चुनाव नतीजों पर सबकी नज़रें टिकी हुई थीं. इधर था राज्य सभा में 11 बजने का इंतज़ार. बीजेपी क्या करने जा रही है? लेकिन हुआ वही. पार्टी के राज्यसभा सांसदों ने व्हिप तक का पालन नहीं किया. सदन से गायब.
ये बजट सत्र का आखिरी दिन था. इसके बाद पांच हफ़्तों की छुट्टी. सरकार मामला पेश करने वाली थी. नहीं कर पायी. राज्यसभा अध्यक्ष वेंकैया नायडू भड़क गए. मिंट में छपी खबर जानकारी देती है. नायडू ने कहा,
“कुछ राजनीतिक पार्टियों ने व्हिप जारी किया था. ताकि सदन का स्वास्थ्य दुरुस्त रहे. क्योंकि आज सदन का आखिरी दिन है. हम देख रहे हैं कि अटेंडेंस बहुत कम कम है, और ये बहुत खराब संदेश दे रहा है. लग रहा है कि सदस्य बजट या सदन में कोई रुचि नहीं रख रहे हैं.”
नायडू ने आगे कहा,
“विपक्ष के नेता और सदन के नेता ने इन्हीं सब वजहों से पूछा कि क्या वो व्हिप जारी कर सकते हैं. मैंने कहा था कि अगर पूरे सत्र के दौरान व्हिप जारी किया जाए, तो सदस्य सदन में मौजूद रहेंगे.”
नीचे ANI का ट्वीट है. देखिए. कितने नेता थे सदन में.


लल्लनटॉप वीडियो : राज्यसभा से निकला वेंकैया नायडू का ये क्लिप औरतों के प्रति उनकी मानसिकता को दिखाता है

thumbnail

Advertisement

election-iconचुनाव यात्रा
और देखे

Advertisement

Advertisement