The Lallantop
Advertisement

नूंह हिंसा के आरोपी बिट्टू बजरंगी ने युवकों को पीटा! घटना का वीडियो वायरल

वायरल वीडियो में नजर आ रहा है कि Bittu Bajrani ने एक युवक को डंडे से मारा. इस काम में कम-से-कम 5 लोग उसकी मदद कर रहे थे. दोनों पक्षों ने मुकदमा दर्ज कराया है.

Advertisement
Bittu Bajrangi
बिट्टू बजरंगी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. (वायरल वीडियो से स्क्रीनशॉट)
font-size
Small
Medium
Large
3 अप्रैल 2024 (Updated: 3 अप्रैल 2024, 13:37 IST)
Updated: 3 अप्रैल 2024 13:37 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

बिट्टू बजरंगी (Bittu Bajrangi viral video) का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है. बिट्टू बजरंगी हरियाणा (Haryana) के नूंह में पिछले साल हुई हिंसा (Nuh Violence) मामले में आरोपी है और जमानत पर जेल से बाहर है. इस दौरान उसे एक युवक की पिटाई करते देखा गया है. वायरल वीडियो में ये भी दिख रहा है कि वहां एक पुलिसवाला मूकदर्शक बना हुआ है. पुलिसवाले के सामने ही बजरंगी युवक को डंडे से मार रहा है. इतना ही नहीं इस काम में कम-से-कम पांच लोग उसकी मदद कर रहे हैं. 

NDTV की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस ने बताया है कि वायरल वीडियो 1 अप्रैल का है. जिस युवक की पिटाई हो रही है उसका नाम शामू है. शामू फरीदाबाद के सरूरपुर का रहने वाला है. लोगों ने आरोप लगाया था कि शामू ने अपने पड़ोस की दो लड़कियों को चॉकलेट देकर अपने घर में बुलाया. जिसके बाद स्थानीय लोगों को संदेह हुआ तो वो उसके घर में घुस गए.

बात जब फैली तो बिट्टू बजरंगी के गोरक्षा समूह और गोरक्षा बजरंग फोर्स से जुड़े लोग भी वहां पहुंच गए. उन्होंने शामू को पकड़ा और संजय एन्क्लेव में बिट्टू बजरंगी के घर ले गए. जहां बिट्टू ने शामू की पिटाई की. इस दौरान बिट्टू बजरंगी का गनमैन भी वहीं मौजूद था.

ये भी पढ़ें: नूह में हिंसा भड़की या भड़काई गई? खट्टर सरकार और हरियाणा पुलिस के पास क्या इसका जवाब है?

DSP एनआईटी कुलदीप सिंह ने NDTV को बताया कि इस मामले में दो मुकदमे हुए हैं. दोनों पक्षों ने मुकदमा दर्ज कराया है. शामू की शिकायत पर एक मुकदमा बिट्टू बजरंगी और उसके समूह के लोगों के खिलाफ दर्ज हुआ है. दूसरा मुकदमा शामू के खिलाफ दर्ज कराया गया है. जिसमें आरोप लगाया गया है कि शामू दो बच्चियों को गलत नियत से बहला फुसला कर अपने घर ले जा रहा था. DSP ने कहा है कि बिट्टू बजरंगी के गनमैन पर भी कार्रवाई की जा रही है.

जुुलाई 2023 में हुई नूंह हिंसा में 5 लोग मारे गए थे और 70 से ज्यादा लोग घायल हुए थे. इस हिंसा की चपेट में गुरुग्राम भी आया था. 31 जुलाई और 1 अगस्त की दरमियानी रात गुरुग्राम के सेक्टर 57 में भीड़ ने एक मस्जिद को आग लगा दी गई थी.

वीडियो: नूह वायलेंस के बाद फिर शोभायात्रा निकालने पर अड़े हिंदू संगठन, CM और पुलिस ने परमिशन से मना किया

thumbnail

Advertisement

election-iconचुनाव यात्रा
और देखे

Advertisement

Advertisement