The Lallantop
Advertisement

"कांग्रेस में कुछ ही मुस्लिम विधायक बचेंगे..."- हिमंता सरमा ने ऐसा क्यों कहा?

राज्य के जल संसाधन मंत्री पीयूष हजारिका ने दावा किया था कि कई कांग्रेस नेता और विधायक उनके कॉन्टैक्ट में हैं.

Advertisement
assam cm himanta sarma few muslim mla to remain in congress before 2026 elections
असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा (फाइल फोटो- इंडिया टुडे)
28 फ़रवरी 2024 (Updated: 28 फ़रवरी 2024, 09:40 IST)
Updated: 28 फ़रवरी 2024 09:40 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा (Himanta Biswa Sarma) ने दावा किया है कि 2026 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले कुछ ही मुस्लिम विधायक कांग्रेस (Congress) के साथ जुड़े रहेंगे. कुछ दिन पहले ही असम सरकार ने फैसला लिया था कि राज्य में मुस्लिम विवाह और तलाक पंजीकरण एक्ट, 1935 को निरस्त कर दिया जाएगा.

PTI की रिपोर्ट के मुताबिक, मुख्यमंत्री सरमा बिश्वनाथ जिले के गोहपुर में एक कार्यक्रम में पहुंचे हुए थे. इस दौरान मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा,

केवल रकीबुल हुसैन, रेकीबुद्दीन अहमद, जाकिर हुसैन सिकदर, नुरुल हुदा और कुछ अन्य कांग्रेस विधायक ही पार्टी में बने रहेंगे.

हाल ही में कांग्रेस नेता राणा गोस्वामी ने पार्टी में कार्यकारी अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया था. इस पर CM सरमा ने कहा,

गोस्वामी कांग्रेस के एक शक्तिशाली नेता हैं और अगर वो BJP में शामिल होते हैं तो मैं इसका स्वागत करूंगा.

इससे पहले राज्य के जल संसाधन मंत्री पीयूष हजारिका ने दावा किया था कि कई कांग्रेस नेता और विधायक उनके कॉन्टैक्ट में हैं.

CM पर गंभीर आरोप!

इससे पहले, असम कांग्रेस प्रमुख भूपेन बोरा ने कहा था कि CM सरमा उनसे डरते हैं. बोरा ने आरोप लगाया था कि उनके भाई और भाभी सरकारी कर्मचारी हैं जिन्हें राज्य के अलग-अलग कोनों में ट्रांसफर कर दिया गया. उन्होंने कहा कि पिछले महीने भारत जोड़ो न्याय यात्रा के दौरान उन पर हमला हुआ और अनुरोध करने के बावजूद उन्हें अतिरिक्त सुरक्षा नहीं दी गई.

ये भी पढ़ें- असम सरकार ने मुस्लिमों की शादी-तलाक वाला एक्ट ही खत्म कर दिया, अब कैसे काम चलेगा?

इन आरोपों पर राज्य मंत्री हजारिका ने कहा कि सरकारी कर्मचारियों को राज्य के किसी भी कोने में सेवा देनी चाहिए. बोले कि वो किसी बड़े कांग्रेस नेता के रिश्तेदार हैं इसका मतलब ये नहीं है कि उन्हें स्पेशल ट्रीटमेंट मिलेगा. 

वीडियो: असदुद्दीन ओवैसी ने असम मुस्लिम मैरिज एक्ट रद्द किए जाने पर शरीयत को लेकर क्या कह दिया?

thumbnail

Advertisement

election-iconचुनाव यात्रा
और देखे

Advertisement

Advertisement