The Lallantop
Advertisement

यूपी: ट्रेन में घायल मिली थी महिला कॉन्सटेबल, HC ने छुट्टी वाले दिन सुनवाई कर किससे जवाब मांगा?

सरयू एक्सप्रेस ट्रेन में महिला सिपाही के साथ बर्बरता मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस प्रीतिंकर दिवाकर ने सुओ मोटो लेकर छुट्टी वाले दिन यानी 3 सितंबर की रात को सुनवाई की.

Advertisement
allahabad high court saryu express incident chief justice takes suo moto
इलाहाबाद हाइकोर्ट ने रात में की सुनवाई (Twitter)
4 सितंबर 2023 (Updated: 4 सितंबर 2023, 09:35 IST)
Updated: 4 सितंबर 2023 09:35 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

सरयू एक्सप्रेस ट्रेन (Saryu Express) में एक महिला सिपाही के साथ दरिंदगी मामले में इलाहाबाद हाई कोर्ट ने स्वत: संज्ञान लिया है. चीफ जस्टिस प्रीतिंकर दिवाकर ने इस मामले में छुट्टी वाले दिन यानी 3 सितंबर की रात को सुनवाई की. चीफ जस्टिस प्रीतिंकर दिवाकर और जस्टिस आशुतोष श्रीवास्तव ने रात करीब 9 बजे मामले में सुनवाई की. चीफ जस्टिस के आवास पर बैठी स्पेशल बेंच ने रेलवे और यूपी सरकार से जवाब मांगा है.

दी लल्लनटॉप के रणवीर सिंह की रिपोर्ट के मुताबिक, सुनवाई के दौरान हाई कोर्ट ने यूपी सरकार के एडिशनल एडवोकेट जनरल मनीष गोयल, शासकीय अधिवक्ता एके संड, एडिशनल गवर्नमेंट एडवोकेट जेके उपाध्याय और एडिशनल चीफ स्टैंडिंग काउंसिल प्रियंका मिड्ढा को तलब किया था. इलाहाबाद हाई कोर्ट इस मामले में 4 सितंबर को दोपहर 12 बजे सुनवाई करेगा. कोर्ट ने इस सुनवाई के दौरान जांच से जुड़े किसी सीनियर अफसर को भी पेश होने को कहा है. अफसर को कोर्ट में मौजूद होकर यह बताना होगा कि इस मामले में अब तक क्या एक्शन हुआ है. सरकार को ये भी बताना होगा कि इस मामले में अभी तक आरोपियों की पहचान और गिरफ्तारी हुई है या नहीं. इस सुनवाई के दौरान रेलवे की तरफ से केंद्र सरकार के एडिशनल सॉलिसिटर जनरल को मौजूद रहने के आदेश दिए गए हैं.

क्या हुआ था?

इंडिया टुडे से जुड़े बनबीर सिंह रिपोर्ट के मुताबिक, कुछ दिन पहले सरयू एक्सप्रेस में एक महिला हेड कांस्टेबल गंभीर हालत में मिली थी. उनके कपड़े कई जगह फटे हुए थे और शरीर पर कई जगह गंभीर चोट के निशान दिखे. उनके शरीर से कुछ कपड़े भी गायब थे. गंभीर हालत में कॉन्सटेबल को GRP सिपाहियों ने अयोध्या रेलवे स्टेशन पर उतारकर जिला अस्पताल पहुंचाया, जहां से उन्हें लखनऊ मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया. रिपोर्ट के मुताबिक, उनकी हालत फिलहाल स्थिर है. महिला कांस्टेबल सुल्तानपुर में तैनात थीं और अयोध्या मेला ड्यूटी पर थीं. वो 1998 बैच की कांस्टेबल हैं. महिला कांस्टेबल सरयू एक्सप्रेस से सुल्तानपुर से अयोध्या आ रही थीं.  

ये भी पढ़ें- 'डेंगू, मलेरिया, कोरोना...', स्टालिन के बेटे ने सनातन धर्म पर ऐसा क्या बोला कि बवाल हो गया

वीडियो: ISRO का आदित्य L1 मिशन सूरज के पास किस मकसद से जा रहा? इसमें लगे सामान के बड़े-बड़े काम जानते हैं?

thumbnail

Advertisement