The Lallantop
Advertisement

'केजरीवालमय हुई दिल्ली' बताकर शेयर की गई तस्वीर इथोपिया की निकली

सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल है जिसमें बड़ी संख्या में लोग पीले रंग की ड्रेस पहनकर मौजूद हैं. इस तस्वीर को शेयर करके दावा किया जा रहा कि दिल्ली की सड़कें केजरीवाल के समर्थकों से भर चुकी हैं.

Advertisement
image from ethiopian race shared as delhi arvind kejriwal event
इस तस्वीर को दिल्ली का बताकर शेयर किया गया है. (क्रेडिट:सोशल मीडिया)
31 मार्च 2024 (Updated: 31 मार्च 2024, 20:49 IST)
Updated: 31 मार्च 2024 20:49 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share
दावा:

दिल्ली के रामलीला मैदान में I.N.D.I.A. गठबंधन की 31 मार्च को लोकतंत्र बचाओ रैली का आयोजन हुआ. इसमें देश भर के बड़े विपक्षी नेता शामिल रहें. इस दौरान दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की पत्नी सहित आम आदमी पार्टी के कई नेता भी मंच पर मौजूद थे. इसी बीच सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल है जिसमें बड़ी संख्या में लोग पीले रंग की ड्रेस पहनकर मौजूद हैं. इस तस्वीर को शेयर करके दावा किया जा रहा कि दिल्ली की सड़कें केजरीवाल के समर्थकों से भर चुकी हैं.

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ‘एक्स’ पर सरिता नाम की एक यूजर ने वायरल तस्वीर को ‘IndiawithKejriwal’ हैशटैग के साथ शेयर करते हुए लिखा,

“दिल्ली की पूरी सड़क केजरीवालमय हो चुकी है.”

इस ट्वीट का आर्काइव लिंक यहां देख सकते हैं. इसी तरह कई अन्य यूजर्स ने भी वायरल तस्वीर को दिल्ली का बताकर शेयर किया है जिनके ट्वीट आप यहां और यहां देख सकते हैं.

पड़ताल

वायरल तस्वीर की सच्चाई जानने के लिए हमने गूगल लेंस का सहारा लिया. हमें यह तस्वीर इथोपिया के विदेश मंत्रालय के एक्स हैंडल से 23 जनवरी, 2022 को किए गए एक ट्वीट में मिली. ट्वीट के कैप्शन के मुताबिक, यह अफ्रीका की सबसे बड़ी दौड़ प्रतियोगता ‘Great Ethiopian Run’ की तस्वीर है.

थोड़ी और खोजबीन में हमें अमेरिकी मीडिया वेबसाइट CNN की वेबसाइट पर साल 2017 छपी एक रिपोर्ट में भी यह तस्वीर मिली. यहां दी गई जानकारी के अनुसार, इथोपिया की राजधानी अदीस अबाबा में सालाना ‘ग्रेट इथियोपियन रन’ का आयोजन होता है. यह तस्वीर उसी इवेंट की है. तस्वीर का क्रेडिट इथोपियन टूरिज्म को दिया गया है.

CNN की वेबसाइट पर मौजूद वायरल तस्वीर का स्क्रीनशॉट. (Credit:CNN)

इससे यह तो तय है कि दिल्ली का बताकर वायरल हो रही तस्वीर अफ्रीका महाद्वीप में बसे इथोपिया की है. इसके अलावा वायरल तस्वीर ‘मिलेनियम डेवलपमेंट गोल्स अचीवमेंट फंड’ (MDG fund) की वेबसाइट पर साल 2015 में छपे एक आर्टिकल में भी मौजूद है.  

MDG की वेबसाइट पर वायरल तस्वीर साल 2015 से मौजूद है. 

 

निष्कर्ष

कुल मिलाकर, दिल्ली का बताकर शेयर की गई वायरल तस्वीर, असल में अफ्रीकी देश इथोपिया की है और यह इंटरनेट पर करीब 8 साल से इंटरनेट पर मौजूद है. 


पड़ताल की वॉट्सऐप हेल्पलाइन से जुड़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें. 
ट्विटर और फेसबुक पर फॉलो करने के लिए ट्विटर लिंक और फेसबुक लिंक पर क्लिक करें. 

वीडियो: पड़ताल: अयोध्या राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के बाद क्या बुर्ज खलीफ पर राम की तस्वीर बनाई गई?

thumbnail

Advertisement