Submit your post

Follow Us

अखिलेश के 'कौन राजा भैया' पर रघुराज प्रताप ने रामायण का जिक्र क्यों किया?

रघुराज प्रताप उर्फ ​​राजा भैया. उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले की कुंडा सीट के बाहुबली विधायक. हालांकि राजा भैया खुद के बाहुबली होने से इन्कार करते हैं. वो यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव की सरकार में कैबिनेट मंत्री भी रह चुके हैं. लेकिन फिर समाजवादी पार्टी के मुखिया से उनका ऐसा विवाद हुआ कि जब पिछले दिनों अखिलेश प्रतापगढ़ आए तो राजा भैया को पहचानने से ही इन्कार कर दिया. जब पत्रकारों ने अखिलेश यादव से राजा भैया से नाराज़गी और गठबंधन को लेकर सवाल पूछा तो समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष ने कहा, ‘ये कौन है, ये है कौन.’

अब जब राजा भैया ‘द लल्लनटॉप’ के खास चुनावी शो ‘जमघट’ में पहुंचे तो अखिलेश के इस बयान पर हमने उनसे सवाल पूछा. जमघट में हम चर्चित नेताओं का इंटरव्यू कर उनसे आपसे जुड़े मुद्दों पर सवाल पूछते हैं. और बात करते हैं चुनावी सियासी सरगर्मी की. तो इस बार बारी थी राजा भैया की. हमारे संपादक सौरभ द्विवेदी ने राजा भैया से पूछा,

अखिलेश यादव प्रतापगढ़ आए आपके बारे में सवाल पूछा गया, उन्होंने कहा ‘कौन राजा भैया’. इस पर आपकी क्या प्रतिक्रिया है?

जवाब- 

कोई प्रतिक्रिया नहीं है. उनको जो समझ आया, जिस भाषा में उन्होंने जवाब दिया, वो अलग बात है कि कई लोगों ने इसे अच्छा नहीं माना. हर क्षेत्र की अपनी भाषा और तेवर होता है. हम अवध के निवासी हैं. यहां भाषा की शिष्टता और मर्यादा बहुत मायने रखती है. अवधी में गोस्वामी तुलसीदास ने रामायण की रचना की. तो हमारे विचार से अगर किसी पत्रकार ने पूछा कि आपका (अखिलेश यादव का) उनके (राजा भैया के) साथ गठबंधन हो रहा है या नहीं, तो हां या नहीं में जवाब दे देते तो वही पर्याप्त होता. उस बयान को लोगों ने अच्छा नहीं माना.

समाजवादी पार्टी से गठबंधन के प्रयास के सवाल पर राजा भैया ने इससे इंकार किया. उन्होंने कहा कि उनकी तरफ से ऐसा कोई प्रयास नहीं किया गया है. राजा भैया ने बताया कि नेताजी (मुलायम सिंह यादव) के जन्मदिन पर वो हर साल मिलने जाते हैं, इसमें गठबंधन की कोई बात नहीं थी. उनके मुताबिक नेताजी और अखिलेश की बात अलग है. 


वीडियो- UP चुनाव: कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने संजय गांधी और राजा भैया पर क्या खुलासे कर दिए?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गुजरात चुनाव 2017

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

एक-एक वोट कितना कीमती होता है, कोई इन प्रत्याशियों से पूछे.

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

बहुमत हासिल करने के बावजूद चुनाव के नतीजों से बीजेपी अंदर ही अंदर सकते में है.

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

अरविंद केजरीवाल का गुजरात में जादू चला या नहीं?

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

चुनाव के नतीजे आने के बाद भी लिचड़ई नहीं छोड़ रहे.

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इन लोगों ने थोड़ी मेहनत और की होती, तो ये गुजरात की विधानसभा में बैठने की तैयारी कर रहे होते.

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की क्रेडिबिलिटी पर ही सवाल खड़े कर दिए.

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

इनके बारे में कांग्रेस पार्टी ने बड़े-बड़े प्लान बनाए होंगे.

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

इनको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभाएं और तमाम टोटके नहीं जिता सके.

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

दोनों प्रदेशों में भगवा लहराया मगर गुजरात की जीत पर भावुक दिखे पीएम.

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

वाघेला ने इस सीट पर एक निर्दलीय प्रतायशी को वॉकओवर दिया था.