Submit your post

Follow Us

वो 44 महिलाएं जो चुनाव जीतकर उत्तर प्रदेश की विधानसभा में पहुंची हैं

उत्तर प्रदेश में बीजेपी एक बार फिर से सरकार बना रही है. 403 में से 273 सीटों पर बीजेपी गठबंधन ने जीत दर्ज की है. इस बार के यूपी चुनाव में कांग्रेस ने महिलाओं से जुड़े मुद्दों को हाईलाइट किया था. ‘लड़की हूं लड़ सकती हूं’ कैम्पेन चलाया था, 40 प्रतिशत सीटों पर महिलाओं को टिकट दिया था. हालांकि, इनमें से केवल एक महिला चुनाव जीत सकीं. ये तो हुई कांग्रेस की बात, पर दूसरी पार्टियों ने भी महिला उम्मीदवारों को मैदान में उतारा था, उनका क्या हुआ? उनमें से कितनी जीत पाईं?

403 सीटों वाली यूपी विधानसभा में इस बार 44 महिलाएं विधायक बनकर पहुंचेंगी. माने 10.9 प्रतिशत महिलाएं. अलग-अलग पार्टियों की बात करें तो जीतने वाली उम्मीदवारों में से 25 बीजेपी से, 14 सपा से, दो अपना दल से और जैसा कि हमने पहले बताया कि एक कांग्रेस पार्टी से हैं. 2017 के चुनाव की बात करें तो तब 41 महिलाएं चुनाव जीतकर विधानसभा पहुंची थीं.

अब थोड़ी बात यूपी की चर्चित महिला प्रत्याशियों के बारे में भी कर लेते हैं.

अदिति सिंह

mla aditi singh

रायबरेली  की सदर सीट से बीजेपी की प्रत्याशी अदिति सिंह ने चुनाव जीत लिया है. उन्हें कुल एक लाख दो हज़ार 429 वोट मिले हैं. अदिति ने समाजवादी पार्टी के आरपी यादव  को 7175 वोटों के अंतर से हराया. अदिति सिंह के पिता अखिलेश सिंह रायबरेली सीट से पांच बार कांग्रेस के विधायक रहे हैं. साल 2017 में अदिति ने कांग्रेस से ये सीट जीती थी. अदिति सिंह 2021 में कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गई थीं.

पल्लवी पटेल

Pallavi

समाजवादी पार्टी की पल्लवी पटेल ने सिराथू से चुनाव जीता है. उन्होंने डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को 7337 वोटों से हराया है. उन्हें कुल एक लाख छह हज़ार 278 वोट मिले हैं. वहीं, केशव प्रसाद मौर्य को 98 हज़ार से ज्यादा वोट मिले. पल्लवी अपना दल की मुखिया और केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल की बहन हैं. अपना दल भाजपा की सहयोगी पार्टी है, हालांकि पल्लवी समाजवादी पार्टी की सदस्य हैं.

अनुपमा जायसवाल

अनुपम

बीजेपी की अनुपमा जायसवाल ने बहराइच विधानसभा सीट पर जीत हासिल की है. उन्हें एक लाख सात हजार  628 वोट मिले हैं. उन्होंने सपा के यासर शाह को 4078 वोटों से हराया. 2017 में भी अनुपमा इसी सीट से चुनाव जीती थीं. वो योगी सरकार में मंत्री भी रहीं, उन्हें बेसिक शिक्षा राज्य का स्वतंत्र प्रभार दिया गया था. हालांकि, बाद में उनसे ये जिम्मेदारी वापस ले ली गई थी.

आराधना मिश्रा , मोना

Araadhanaa Maisara Sixteen Nine

आराधना मिश्रा, मोना कांग्रेस से जीतने वाली इकलौती महिला उम्मीदवार हैं. वो प्रतापगढ़ जिले के रामपुर खास से चुनाव जीती हैं. उन्हें 84 हजार 334 वोट मिले हैं. उन्होंने बीजेपी प्रत्याशी नागेश सिंह उर्फ़ छोटे सरकार को 14 हजार 741 वोटों के अंतर से हराया है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी की बेटी हैं. वह पहले उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले से लगातार तीन बार ब्लॉक प्रमुख के रूप में चुनी गई थीं.

नीलिमा कटियार

नीलिमा

नीलिमा कटियार ने कल्याणपुर सीट से दोबारा चुनाव जीता है. उन्होंने सपा के सतीश निगम को 21 हजार 535 वोटों से हराया है. उन्हें कुल 98 हजार 997 वोट मिले हैं. उन्होंने इसी सीट पर 2017 का विधानसभा चुनाव भी जीता था. 2019 में योगी आदित्यनाथ के पहले कैबिनेट विस्तार में उन्हें उत्तर प्रदेश राज्यमंत्री के रूप में नियुक्त किया गया था.

इस बार विधानसभा में महिलाओं की संख्या 2017 की तुलना में भले ही बहुत ज्यादा न बढ़ी हो, लेकिन इस चुनाव में महिलाओं के मुद्दों पर बात हुई. पर केवल बात होना काफी नहीं है. महिलाओं का रिप्रेजेंटेशन बढ़ाने के लिए कदम उठाए जाने की ज़रूरत है. कदम जो उठा तो सही, पर अब तक रखा नहीं जा सका है. विधानसभाओं और संसद में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण का बिल सालों से पेंडिंग है, सरकारें बदली, संसद में हमारे प्रतिनिधि बदले लेकिन बिल अटका रहा. मालूम नहीं हम कब तक औरतों को मिलने वाले 9,10 या 11 प्रतिशत के आरक्षण पर छाती पीटते रहेंगे?


 

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव जीतने वाली महिलाओं की पूरी लिस्ट ये रही

  • अनुपमा जयसवाल – बहराइच – बीजेपी
  • केतकी सिंह –  बांसड़ी – बीजेपी
  • इंद्राणी देवी – भींगा – सपा
  • आराधना मिश्रा मोना – रामपुर खास – कांग्रेस
  • रेखा वर्मा – बिधुता – सपा
  • सुचि – बिजनौर – बीजेपी
  • पूजा यादव – चायल – सपा
  • गुलाब देवी – चंदौसी – बीजेपी
  • बेबी रानी मौर्या – आगरा ग्रामीण – बीजेपी
  • महाराजी प्रजापति  – अमेठी – सपा
  • प्रतिभा शुक्ला – अकबरपुर – बीजेपी
  • गुड़िया खटेरिया – औरया – बीजेपी
  • रानी पक्षालिका सिंह – बाह – बीजेपी
  • सईदा खातून – डोमारिया गंज – सपा
  • सरिता – इटावा – बीजेपी
  • संगीता बलवंत – ग़ाज़ीपुर – बीजेपी
  • उषा मौर्या – हुसैनगंज – बीजेपी
  • डॉ सुरभि – कायमगंज – अपना दल
  • नीलिमा कटियार – कल्याणपुर – बीजेपी
  • मीनाक्षी सिंह – खुरजा – बीजेपी
  • आशा मौर्या – महमूदाबाद – बीजेपी
  • जय देवी – मलीहाबाद – बीजेपी
  • मारिया – बहराइच – सपा
  • रश्मि आर्या – मउरानीपुर – बीजेपी
  • पूजा – मेहनगर – सपा
  • राजबाला सिंह – मिलक – बीजेपी
  • डॉ मंजू सिवाचा – मोदीनगर – बीजेपी
  • नादिया सुल्तान – परियाली – सपा
  • बीजमा यादव – प्रतापपुर – सपा
  • अदिति सिंह – रायबरेली – कांग्रेस
  • पूनम शंखवार – रसूलबाद – बीजेपी
  • मनीषा अनुरागी – राठ – बीजेपी
  • विजयलक्ष्मी गौतम – सलीमपुर – बीजेपी
  • अलका सिंह – संडीला – बीजेपी
  • रजनी तिवारी – साहाबाद – सपा
  • गीत पासी – सोरांव – सपा
  • मंजू त्यागी – श्रीनगर – बीजेपी
  • सलोना कुशवाहा – तिलहर – बीजेपी
  • मुक्ता राजा – अलीगढ़ – बीजेपी
  • पिंकी सिंह – असमोली – सपा
  • सरोज सोंकर – बलहा – बीजेपी
  • अर्चना पांडेय – छिबरामऊ – सपा
  • सरोज – घाटमपुर – अपना दल
  • पल्लवी पटेल – सिराथू – सपा

पंजाब चुनाव 2022 में AAP की जीवन ज्योत कौर ने सिद्धू और मजीठिया को हराया


लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गुजरात चुनाव 2017

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

एक-एक वोट कितना कीमती होता है, कोई इन प्रत्याशियों से पूछे.

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

बहुमत हासिल करने के बावजूद चुनाव के नतीजों से बीजेपी अंदर ही अंदर सकते में है.

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

अरविंद केजरीवाल का गुजरात में जादू चला या नहीं?

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

चुनाव के नतीजे आने के बाद भी लिचड़ई नहीं छोड़ रहे.

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इन लोगों ने थोड़ी मेहनत और की होती, तो ये गुजरात की विधानसभा में बैठने की तैयारी कर रहे होते.

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की क्रेडिबिलिटी पर ही सवाल खड़े कर दिए.

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

इनके बारे में कांग्रेस पार्टी ने बड़े-बड़े प्लान बनाए होंगे.

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

इनको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभाएं और तमाम टोटके नहीं जिता सके.

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

दोनों प्रदेशों में भगवा लहराया मगर गुजरात की जीत पर भावुक दिखे पीएम.

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

वाघेला ने इस सीट पर एक निर्दलीय प्रतायशी को वॉकओवर दिया था.