The Lallantop
Advertisement

NEET पेपर लीक पर बोले शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, परीक्षा रद्द करने की बात पर क्या कहा?

धर्मेंद्र प्रधान ने पेपर लीक को लेकर एक पत्रकार के सवाल पर कहा कि वे इसकी जिम्मेदारी लेते हैं लेकिन इसके लिए जिम्मेवार लोगों को छोड़ा नहीं जाएगा.

Advertisement
Dharmendra Pradhan on NEET
केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान. (फाइल फोटो- पीटीआई)
20 जून 2024 (Updated: 20 जून 2024, 21:54 IST)
Updated: 20 जून 2024 21:54 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

NEET-UG 2024 परीक्षा में हुई गड़बड़ियों पर केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि इसकी जांच के लिए हाई लेवल कमिटी बनाई जा रही है. उन्होंने दावा किया कि मामले में कमिटी की रिपोर्ट जल्द जारी की जाएगी. शिक्षा मंत्री ने कहा कि NEET की परीक्षा फिलहाल रद्द नहीं होगी. उन्होंने बिहार में पेपर लीक के आरोपों पर कहा कि वे राज्य सरकार के संपर्क में हैं. बताया कि पटना पुलिस ने कुछ जानकारी जुटाई है और जल्द ही वे रिपोर्ट भेजेंगे.

इस पूरे विवाद को लेकर प्रधान ने कहा कि वे सभी को आश्वस्त करना चाहते हैं कि सरकार छात्रों के हितों को सुरक्षित करने के लिए प्रतिबद्ध है. 20 जून को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा, 

“प्राथमिक जानकारी के अनुसार कुछ एरर खास इलाकों में सीमित हैं. पुख्ता जानकारी आने पर किसी भी गुनहगार को नहीं छोड़ा जाएगा, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी. NTA हो या एजेंसी में कोई भी बड़ा व्यक्ति हो, जो भी दोषी पाया जाएगा, कार्रवाई होगी.”

NTA की पारदर्शिता पर उठ रहे सवाल पर प्रधान ने कहा कि NEET मुद्दे का राजनीतिकरण नहीं करना चाहिए, इक्का-दुक्का घटनाओं से उन लाखों छात्रों पर असर नहीं पड़ना चाहिए जो सही तरीके से परीक्षा में पास हुए हैं.

आज ही कांग्रेस NEET विवाद को लेकर देश भर में प्रदर्शन का आयोजन किया था. दिल्ली में भी धर्मेंद्र प्रधान के आवास के सामने प्रदर्शन किया गया. कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस मुद्दे को उठाया. कहा कि पेपर लीक की वजह से बहुत सारे युवाओं का भविष्य खतरे में है और प्रधानमंत्री मोदी इसके खिलाफ कुछ करना नहीं चाहते हैं.

शिक्षा मंत्री ने इन्हीं प्रदर्शन और बयानों को लेकर टिप्पणी की. उन्होंने कहा कि व्यवस्था पर भरोसा रखना चाहिए. सरकार किसी भी प्रकार की अनियमितता बर्दाश्त नहीं करेगी. इसके अलावा UGC-NET की परीक्षा रद्द किए जाने पर मंत्री ने कहा कि इस परीक्षा पेपर डार्कनेट पर लीक हो गया था. उन्होंने इसकी जांच कराने का भी भरोसा दिया है.

ये भी पढ़ें- NEET पर गरमाई बिहार की सियासत, डिप्टी CM विजय सिन्हा बोले-'तेजस्वी के इशारे पर हुआ पेपर लीक...'

NEET-UG 2024 की परीक्षा 5 मई को हुई थी. इसमें करीब 24 लाख छात्र शामिल हुए थे. रिजल्ट 4 जून को आया था. परीक्षा में 67 छात्रों को 720 में से 720 अंक मिले थे. इसके बाद रिजल्ट पर कई लोगों ने संदेह जताया. NTA ने बताया कि ऐसा ग्रेस मार्क्स की वजह से हुआ है. कुछ एग्जाम सेंटर्स पर ‘लॉस ऑफ टाइम’ की वजह से कुल 1563 छात्रों को ग्रेस मार्क्स दिए गए हैं. टॉप 67 में से 44 अभ्यर्थियों को भी ग्रेस मार्क्स दिए गए हैं. विवाद के बाद NTA ने सुप्रीम कोर्ट में कहा कि वो ग्रेस मार्क्स रद्द करके इन छात्रों का री-एग्जाम 23 जून को आयोजित करवाएंगे.

हालांकि इसके बाद पेपर लीक के आरोप भी लगे हैं. इस मामले में बिहार से चार अभ्यर्थियों को गिरफ्तार भी किया गया है. पुलिस की पूछताछ में अनुराग यादव नाम के एक आरोपी ने स्वीकार किया कि उसे परीक्षा के पहले एक प्रश्न पत्र दिया गया था, जो असली प्रश्न पत्र से बिल्कुल मेल खाता था. बिहार पुलिस इन आरोपों की जांच में जुटी है.

वीडियो: 'एग्जाम से पहले ही मेरे हाथ में था NEET का पेपर', पकड़े गए आरोपियों का बड़ा खुलासा

thumbnail

Advertisement

Advertisement