The Lallantop
Advertisement

MPESB के अटके पड़े परीक्षा नतीजों की पूरी कहानी: 15 लाख से ज़्यादा अभ्यर्थियों का भविष्य अधर में

सरकार पर रिजल्ट जारी करने को लेकर दबाव बनाने के लिए अभ्यर्थी 30 जनवरी को धरना प्रदर्शन करने की बात भी कह रहे हैं. X पर #esb_results_2024_jari_karo नाम से कैंपेन भी चला रहे हैं.

Advertisement
madhya pradesh employee selection board esb candidates long wait for recruitment exam results
भर्ती में शामिल हुए अभ्यर्थियों के मुताबिक प्रदेश के लगभग 15 लाख अभ्यर्थी अलग-अलग परीक्षाओं में शामिल हुए थे. (फोटो- आजतक/संदीप गौड़)
12 जनवरी 2024 (Updated: 12 जनवरी 2024, 21:18 IST)
Updated: 12 जनवरी 2024 21:18 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

मध्य प्रदेश कर्मचारी चयन बोर्ड (ESB) की कराई तमाम परीक्षाओं के रिजल्ट लंबे समय से अटके हुए हैं. अभ्यर्थी इन परीक्षाओं के रिजल्ट जारी करने के लिए सोशल मीडिया पर गुहार लगा रहे हैं. वो सोशल मीडिया साइट X पर  #ESB_RESULT_JARI_KARO  और #esb_results_2024_jari_karo नाम से कैंपेन भी चला रहे हैं. ESB भर्ती रिजल्ट से जुड़ा ये मामला क्या है? किन-किन परीक्षाओं के रिजल्ट अटके हैं और कब से अटके हैं? विस्तार से जानते हैं.

क्या है MPESB?

मध्य प्रदेश कर्मचारी चयन बोर्ड (ESB) प्रदेश में ग्रुप C और ग्रुप D के पदों के लिए भर्ती आयोजित कराती है. इसमें मुख्य भर्तियां पुलिस कांस्टेबल, हाई स्कूल टीचर सेलेक्शन और वन रक्षक Qj जेल प्रहरी की होती हैं. इसके अलावा पटवारी भर्ती भी आयोग द्वारा कराई जाती है. भर्ती में शामिल हुए अभ्यर्थियों के मुताबिक प्रदेश के लगभग 15 लाख अभ्यर्थी अलग-अलग परीक्षाओं में शामिल हुए थे. अब ये सभी इन परीक्षाओं के रिजल्ट आने का इंतजार कर रहे हैं.

किन-किन परीक्षाओं के रिजल्ट की बात हो रही?

1. पुलिस कांस्टेबल रिक्रूटमेंट टेस्ट- पुलिस कांस्टेबल भर्ती के लिए कुल 7,090 पदों पर वैकेंसी निकाली गई थी. इसके लिए नोटिफिकेशन 23 जून 2023 को आया. 10 जुलाई 2023 तक फॉर्म भरे गए. परीक्षा हुई 12 अगस्त से 12 सितंबर के बीच. 4 महीने से ज्यादा बीत चुके हैं लेकिन अभी तक इसका रिजल्ट नहीं जारी किया गया है.

2. हाई स्कूल टीचर सेलेक्शन टेस्ट- हाई स्कूल टीचर भर्ती के लिए आयोग ने 8,720 पदों पर भर्ती निकाली. नोटिफिकेशन 28 अप्रैल 2023 को जारी किया गया. 18 मई से 1 जून के बीच फॉर्म भरे गए. टीचर सेलेक्शन के लिए परीक्षा 2 अगस्त से 6 अगस्त के बीच कराई गई. अभी तक रिजल्ट नहीं जारी हुआ है.

3. वन रक्षक व जेल प्रहरी कंबाइंड रिक्रूटमेंट टेस्ट- इसके लिए आयोग ने 2,285 पदों पर भर्ती निकाली थी. नोटिफिकेशन 29 नवंबर 2022 को जारी हुआ था. 25 जनवरी से 8 फरवरी 2023 के बीच परीक्षा के लिए फॉर्म भरे गए. एग्जाम 25 मई से 20 जून के बीच आयोजित कराया गया. 6 महीने से ज्यादा बीत गए हैं, पर वनरक्षक व जेल प्रहरी परीक्षा का रिजल्ट अभी तक नहीं आया है.

4. ग्रुप 1 (सब ग्रुप 1) व ग्रुप 2 (सब ग्रुप 1) कंबाइंड रिक्रूटमेंट टेस्ट-  इस परीक्षा के लिए कुल रिक्त पदों की संख्या 1,978 थी. नोटिफिकेशन 6 अप्रैल 2023 को निकाला गया. 17 अप्रैल से 1 मई तक आवेदन मंगाए गए. परीक्षा 21 और 22 जुलाई 2023 को हुई. लेकिन परीक्षा का रिजल्ट अभी तक अटका पड़ा है.

5. ग्रुप 4 जॉइंट रिक्रूटमेंट टेस्ट- इसके तहत स्टेनोग्राफर, स्टेनो टाइपिस्ट जैसे पदों पर भर्ती होती है. कुल 3,047 पदों के लिए 13 दिसंबर 2022 को नोटिफिकेशन जारी किया गया. 6 मार्च से 20 मार्च के बीच परीक्षा के लिए फॉर्म भरे गए. 15 से 18 जुलाई 2023 के बीच परीक्षा आयोजित कराई गई. लेकिन रिजल्ट अभी तक नहीं आया.

6. ग्रुप 5 कंबाइंड टेस्ट- ग्रुप 5 में सहायक पशु चिकित्सक, स्टाफ नर्स सहित कई अन्य पदों के लिए भर्ती होती है. इसके लिए 4,792 पदों पर वैकेंसी निकाली गई थी. नोटिफिकेशन जारी किया गया 15 फरवरी 2023 को. 15 मार्च से 29 मार्च के बीच आवेदन स्वीकार किए गए. पेपर हुआ 25 जून से 3 जुलाई के बीच. लेकिन अभ्यर्थी अभी तक परीक्षा के रिजल्ट का इंतजार कर रहे हैं.

अभ्यर्थी क्या कह रहे?

इन सब भर्तियों के अलावा पटवारी भर्ती के लिए लगभग 9 हजार पदों पर वैकेंसी निकाली गई थी. जिसका रिजल्ट 10 जुलाई 2023 को जारी हुआ था. लेकिन पटवारी भर्ती में सेलेक्ट हुए उम्मीदवारों की जॉइनिंग अभी तक लटकी हुई है. इन भर्तियों से जुड़े एक उम्मीदवार ने नाम ना छापने की शर्त पर ‘दी लल्लनटॉप’ को बताया,

“मैंने बीते साल दो परीक्षाएं दी थीं. दोनों में मेरा स्कोर अच्छा है. लेकिन सात महीने से ज्यादा बीत गए हैं, किसी का भी रिजल्ट जारी नहीं किया गया है. मैं कितना इंतजार करूं. सरकार चुनाव के कारण एक साथ इतनी भर्तियां निकाल देती है. लेकिन किसी भी परीक्षा का फाइनल रिजल्ट जारी नहीं किया जाता है.”

ESB की हाई स्कूल टीचर भर्ती परीक्षा में शामिल हुए रॉबिन अग्रवाल ने लल्लनटॉप से बताया,

“हमारी मांग है कि सभी एग्जाम के रिजल्ट जल्द जारी किए जाएं. युवाएं को रोजगार दिया जाए. पुलिस, जेल, वनरक्षक के रिजल्ट आ भी जाएंगे तो फिजिकल टेस्ट देना होगा. उसके बाद ही नौकरी की आशा होगी. इसमें भी समय लगेगा. वहीं शिक्षक, ग्रुप 4 व 5 में रिजल्ट के तुरंत बाद नौकरी दी जा सकती है. सरकार को ऐसे एग्जाम्स का रिजल्ट तुरंत जारी करना चाहिए.”

मध्य प्रदेश बेरोज़गार युवा संघ के अध्यक्ष दिनेश चौहान ने लल्लनटॉप से बताया,

“ESB की इन परीक्षाओं में 15 से 20 लाख अभ्यर्थी बैठे थे. नई सरकार का गठन हो गया. लेकिन अभी तक इन परीक्षाओं का रिजल्ट नहीं जारी किया गया है. सरकार सिर्फ बड़ी-बड़ी बातें करती है. SI और कांस्टेबल भर्ती पिछली बार पांच साल पहले हुई थी. पटवारी भर्ती का रिजल्ट आया, लेकिन परीक्षा में जब धांधली का आरोप लगा तो जांच के लिए कमेटी बैठाई गई. लेकिन जांच कमेटी क्या कर रही है किसी को पता नहीं है.”

(ये भी पढ़ें: MP पटवारी भर्ती में 15 लाख रुपए देने का बात पर लड़की बोली, ‘मस्ती-मस्ती में बनाया था वीडियो’)

CM को लिखा पत्र, धरने की तैयारी

मध्य प्रदेश कर्मचारी चयन बोर्ड की भर्ती परीक्षाओं से जुड़े अभ्यर्थी अब रिजल्ट आने का इंतजार कर रहे हैं. सरकार पर रिजल्ट को लेकर दबाव बनाने के लिए अभ्यर्थी 30 जनवरी को धरना प्रदर्शन करने की बात भी कह रहे हैं. रिजल्ट को लेकर अभ्यर्थियों ने कई मंत्रियों को भी पत्र लिखे हैं. लेकिन अभी तक किसी ने भी उनकी मांगों का संज्ञान नहीं लिया है. प्रदेश में राज्य मंत्री गौतम टेटवाल ने NDTV को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि अच्छे परिणाम आने में समय तो लग ही जाता है. सरकार सब के लिए और सब के हित में काम कर रही है.

नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार परीक्षाओं के अटके रिजल्ट को लेकर सीएम मोहन यादव को पत्र लिखा.

वहीं मध्य प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार परीक्षाओं के अटके रिजल्ट को लेकर सीएम मोहन यादव को पत्र लिख चुके हैं. उन्होंने सीएम को पद लिख अनुरोध किया कि सभी परीक्षाओं के परिणाम जारी कराए जाए और रिक्त पदों पर शीघ्र नियुक्तियां की जाएं.

वीडियो: MPPSC, पटवारी एग्जाम, भर्तियों में घोटाले और बेरोज़गारी पर MP के युवाओं ने सरकार को जमकर सुना दिया

thumbnail

Advertisement