Submit your post

Subscribe

Follow Us

तेज बहादुर शराबी, बदतमीज़ और आदतन अनुशासनहीन: BSF

बॉर्डर सिक्योरिटी फ़ोर्स के जवान तेज बहादुर यादव के प्रधानमंत्री के नाम जारी वीडियो के बाद BSF और सरकार में हडकंप मचा हुआ है. होम मिनिस्टर राजनाथ सिंह ने होम सेक्रेटरी से इस मामले की डिटेल्ड रिपोर्ट मांगी है. साथ ही ज़रूरी कारवाई करने का अनुरोध भी किया है. बीएसएफ ने बयान जारी किया है कि जवान तेज बहादुर का अनुशासनहीनता का लंबा इतिहास है.rajnath

अपने वीडियो में तेज बहादुर ने कहा था कि हमें ढंग से खाना नहीं मिलता है. हम ग्यारह घंटे तक खड़े रहते हैं लेकिन ज़रूरी न्यूट्रीशन हमें हासिल नहीं पाता. सेना जो खाना जवानों को दे रही है वो कतई खाने लायक नहीं होता. अधपकी रोटियां, पतली दाल, नाश्ते में जले परांठे, वो भी बिना किसी अचार या जैम के. कई बार तो उन्हें भूखे पेट भी सोना पड़ता है. उन्होंने आगे कहा था कि ना तो मीडिया और ना ही कोई मंत्री जवानों की सुध लेता है. वीडियो मिनटों में वायरल हो गया था. उसको लाखों व्यूज मिले. अब BSF कह रही है कि इस जवान के साथ हमेशा से समस्या रही है.

देखें वीडियो

बीएसएफ का कहना है कि तेज बहादुर को करियर के शुरूआती दिनों से ही काउंसलिंग की ज़रूरत पड़ती आई है. बिना इजाज़त ड्यूटी से गैरहाज़िर रहना, शराबखोरी, सीनियर अफसरों से बदतमीज़ी करना जैसे गंभीर आरोप लगाए हैं BSF ने इस जवान पर.

BSF का कहना है कि इन्हीं वजहों से तेज-बहादुर की ज़्यादातर पोस्टिंग हेडक्वार्टर्स में होती रही है, जहां किसी डेडिकेटेड सीनियर अफसर की उनपर नज़र रह सके. सेना ने ये भी बताया कि अनुशासनहीनता की वजह से कई बार तेज बहादुर की नौकरी जाते जाते बची है. उन्होंने वीआरएस के लिए भी अर्जी दे रखी है. उन्हें सिर्फ दस दिन पहले उस लोकेशन पर भेजा गया था जहां कि वीडियो उन्होंने बनाई है. वो भी उनकी काउन्सलिंग के नतीजे देखने के लिए एक्सपेरिमेंटल बेसिस पर. उनके अलावा वहां 20 और जवान तैनात हैं जिनमे से किसी को भी कोई शिकायत नहीं है. 

जहां तक वीडियो की बात है BSF ने कहा है कि तेज बहादुर के इतिहास के बावजूद इसकी जांच की जाएगी. डीआईजी रैंक के एक अफसर लोकेशन पर पहुंच चुके हैं और मामले की छानबीन जारी है.bsf

एक टीवी चैनल से फोन पर बात करते हुए तेज़ बहादुर ने कहा कि उनपर लगे अनुशासनहीनता के आरोप निराधार हैं.  छोटी मोटी गलतियां सबसे होती है. उनका निपटारा BSF में ही हो जाता है. मेरे 16 अवॉर्ड का ज़िक्र नहीं किया.  जब उनसे पूछा गया कि खाने की क्वालिटी क्या हमेशा ऐसी होती है तो उन्होंने बोला, कुछ लोकेशन में ऐसा ही होता है. कुछ जगह हो सकता कि ठीक भी मिलता हो. मैंने तो खुद जो देखा वो बताया है. यादव ने ये भी बताया कि उनपर वीडियो हटा लेने का दबाव डाला जा रहा है.

गृह राज्यमंत्री किरण रिजुजी ने ट्वीट कर के कहा कि उन्होंने जवान के वीडियो को सीरियसली लिया है.  लेकिन उन्होंने जब-जब भी बॉर्डर पर विजिट की जवानों को हमेशा संतुष्ट पाया. kiran

अपने वीडियो में यादव ने कहा था कि भारत सरकार सब कुछ देती है लेकिन बीच में अधिकारी उसे बेच कर खा जाते हैं. ये कहां से होता है इसकी जांच होनी चाहिए. यादव ने ये आशंका भी जताई थी कि इस वीडियो को जारी करने के बाद उनके साथ कुछ बुरा हो सकता है. ‘अधिकारियों के बहुत बड़े हाथ हैं’ ये उनके शब्द थे.

उनकी इस आशंका की रोशनी में बीएसएफ के उनपर लगाए तमाम आरोप कितने सच्चे हैं ये सवाल तो उठेगा ही. जवान का इतिहास चाहे जो रहा हो लेकिन वीडियो में दिखाए गए खाने की क्वालिटी बेहद ख़राब थी ये तो तय है.

जवान का बिहेवियर अलग मुद्दा है और उसके द्वारा उठाए गए सवाल अलग. बात फिलहाल इस पर ही होनी चाहिए कि क्या उसके आरोप सही है? अगर हां तो इसका दोषी कौन है? इसकी जगह जवान को ही विलेन साबित करने की, ‘हैबिच्युअल ऑफेंडर’ साबित करने की कोशिशें कोई अच्छा सिग्नल तो नहीं ही देती. 

क्या बड़े हाथों वाले अधिकारियों की उंची पहुंच भारी पड़ेगी तेज बहादुर पर? क्या ‘समरथ को नहीं दोष गुसाईं’ का मिलिट्री वर्शन देखने को मिलने वाला है? क्या तंत्र फिर लील जाएगा किसी छोटी-मोटी आवाज़ को? सिस्टम के ख़िलाफ़ खड़े होने की हिम्मत दिखाने वाले में रातोरात खामियां कैसे निकल आती है? तेज बहादुर अगर इतने ही बुरे थे तो उनको आज तक निकाला क्यों नहीं गया? इस बात को देखना दिलचस्प रहेगा कि तेज बहादुर के आरोपों का संज्ञान लेकर भ्रष्ट अफसरों पर कारवाई होती है या खुद तेज बहादुर पर!


 

ये भी देखिये

BSF जवान ने अफसरों की पोल खोल दी, देशभक्तों को ये वीडियो देखने चाहिए

आर्मी के एक बहुत बड़े अफसर पर लेडी अफसर को हैरेस करने का आरोप

आर्मी ट्रेनिंग का एक अमानवीय वीडियो सामने आया

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

BSF के अफसर बाज़ार में आधे दाम पर बेच रहे हैं राशन!

तेज प्रताप 'शराबी' सही, पर बात कतई गलत नहीं.

पंजाब में AAP जीती, तो CM होंगे केजरीवाल और शुरू हो गई भसड़!

बड़ी चुल्ल थी न ये जानने में कि पंजाब में 'आप' का सीएम कैंडिडेट कौन होगा. जवाब पढ़ लो.

नोटबंदी का फैसला किसका था, जानने के लिए अक्कड़-बक्कड़ करें?

सरकार ने RBI कहा था, RBI ने सरकार का नाम लिया.

अपने यहां दुनिया का सबसे तेज़ स्टॉक एक्सचेंज खुला है मितरों

आज दुकान खोलने से पहले की सबसे ज़रूरी खबर ये है

'मनमोहन थे मौन, सोनिया थीं पीएम,' मोदी सरकार के हाथ लग गईं फाइलें

पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने से पहले भूचाल आने वाला है राजनीति में.

पाकी टॉकी

पाकिस्तान की बजबजाती गंदगी का ये एक नमूना है

इस शायर ने कट्टरपंथियों को सुलगा के रख रखा था.

मिलिए वर्ल्ड फेमस पाकिस्तान की 'लेडी गागा' उरवाह खान से

ए आर रहमान की तरफ से कॉल आया तो बॉलीवुड में भी देंगी दस्तक.

बंद हो गईं वो अदालतें, जो आतंकियों को मौत की सज़ा सुना रही थीं

इन अदालतों में 275 केस की सुनवाई हुई और 161 को मौत की सज़ा दे दी गई.

'मुझे यकीन नहीं हो रहा, ओम पुरी दुनिया छोड़ कर चले गए'

ये वो एक्टर है जो सरहदों को पार कर गया. पाकिस्तान में भी मायूसी है.

इस लड़की ने 'मेहर' में ऐसा क्या मांग लिया, जो हंगामा बरपा है

उम्र को लेकर भी बवाल किया जा रहा है. मगर जवाब सुनकर आप भी खुश हो जाएंगे.

भौंचक

छोटे छोटे कई चांद टकराए तब बना है ये धरती का चांद!

इजराइली वैज्ञानिकों ने चांद की उत्पत्ति पर नई थ्योरी दी है.

जल्दी ही खेतों में तकरीबन हाथी के बराबर की गौमाता चरती मिलेंगी

औरॉक नाम था. 1627 में विलुप्त हो गई ये किस्म. साइंटिस्ट जुटे हैं इसे फिर से जिंदा करने में.

20 साल का लड़का प्रेग्नेंट हो गया, प्रेगनेंसी का सोलहवां सप्ताह चल रहा है

"मैं थोड़ा सा चिंतित हूं कि मैं कैसा दिखूंगा और लोग मेरे बारे में क्या सोचेंगे"

मोटर साइकिल लेकर गिरने के दिन बीत गए, थैंक्स टू होंडा

अभी तक जो भी टशन मारते हैं सब धरे रह जाएंगे. बाइक चलाने का तरीका ही बदल जाएगा.

लोग डीएसपी का तोता खोज रहे थे, और इसमें कुछ बुरा नहीं था

पुलिसवाले ऐसे भी होते हैं, जिनका करेजा एक तोते से लगा होता है.