Submit your post

Follow Us

हरियाणा में झारखंड से खिलौने बेचने आए अजय से मिलिए

दी लल्लनटॉप की चुनाव यात्रा चल रही है. दो राज्यों में. महाराष्ट्र और हरियाणा. चुनाव कवर करने हमारी टीम जमुना हरियाणा के अंबाला पहुंची. यहां लोगों से बात करते-करते और ज़मीनी हकीकत पता करते-करते हमारी नज़र एक युवक पर पड़ी. वो युवक हाथ से बने हुए खिलौने बेच रहा था. जब उससे हमने पूछा कि वो कहां का है तब युवक ने बताया कि वो मूलत: झारखंड से है और दूसरे-दूसरे राज्यों में खिलौना घूम-घूमकर बेचता है. युवक की बातें काफी इंस्पायर्ड करने वाली थी, उसने बताया कि एक वक्त वो 20 रुपये रोज़ का कमाता था, फिर जब उसने अपना काम करना शुरू कर दिया तब जहां वो काम करता था वो उसे 8 हजार के महीने पर बुलाने लगा. लेकिन युवक नहीं गया. वीडियो में देखिए युवक ने और क्या-क्या इन्स्पायरिंग बातें कही.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

झमाझम

लल्लनटॉप अड्डा पर मशहूर हिंदी कवि अशोक वाजपेयी ने अवॉर्ड वापसी पर क्या कहा?

क्या आप जानते हैं कि हर कविता को लेकर लोगों के मन में एक भ्रम होता है.

विराट कोहली का जन्मदिन मनाने भूटान पहुंची अनुष्का शर्मा ने इमोशनल मैसेज शेयर किया

एक परिवार ने दोनों को चाय पिलाई, बिना ये जाने कि दोनों स्टार हैं.

क्या आप जानते हैं हवा की गंदगी साफ करने वाले एयर प्यूरिफायर्स कैसे काम करते हैं?

पल्यूशन के बीच अगली सांस लेने से पहले इसके बारे में जान लें.

पल्यूशन का इलाज क्या मास्क है?

जानिए क्या हुआ जब खुद सौरभ द्विवेदी ने रिसर्च कर डाली.

प्रियंका चोपड़ा ने ऐसा क्या किया कि लोग उन्हें पुरानी बातें याद दिला रहे हैं

लोग उन्हें उनकी पुरानी बातें याद दिला रहे हैं.

एसपी बालासुब्रमण्यम ने पीएम मोदी के साथ बॉलीवुड स्टार्स की सेल्फी दिखाते हुए एक राज़ खोल दिया

तमाम सेल्फीज़ के पीछे एक बुरा सच है?

बेटे की मौत पर मां पूनम तिवापी ने निर्गुण गाया और सब भावुक हो गए

ये सूरज की आख़िरी इच्छा थी...

लल्लनटॉप अड्डा: संबित पात्रा ने बताया राहुल गांधी मेडिटेशन के लिए बैंककॉक क्यों जाते हैं

संबित पात्रा की मां की सीख सुनकर आप भी चौंक जाएंगे.

दी लल्लनटॉप शो

दिल्ली पुलिस और वकीलों के क्लैश के बाद पुलिस हेडक्वार्टर पर प्रदर्शन लेकिन कोर्ट में 2 नवंबर को हुआ क्या था?

प्रदर्शन कर रहे पुलिस वालों को किरण बेदी की याद क्यों आई?

दिल्ली: वायु प्रदूषण के आगे नरेंद्र मोदी और केजरीवाल सरकार नाकाम । दी लल्लनटॉप शो|Episode 338

साफ हवा की अनदेखी क्यों करती हैं सरकारें?

सौरभ द्विवेदी के सवाल और संबित पात्रा के जवाब

दी लल्लनटॉप अड्डे की झलकियां - कुमार विश्वास से लेकर शेखर कपूर तक.

नरेंद्र मोदी ने जम्मू कश्मीर के आर्टिकल 370 को सरदार पटेल से जोड़ा, प्रियंका गांधी ने RSSको घेरा

साहित्य आज तक में लल्लनटॉप का बुलावा आया है.

कौन हैं मादी शर्मा नाम की बिजनेस ब्रोकर, जिन्होंने EU डेलिगेशन का कश्मीर दौरा तय किया? । दी लल्लनटॉप शो|Episode 335

अमेठी में हिरासत में मौत के बाद यूपी पुलिस फिर विवादों में फंस गई है

EU का डेलिगेशन जम्मू-कश्मीर की ज़मीनी हकीकत जानने पहुंचा तो मोदी सरकार की मंशा पर सवाल क्यों उठे?। दी लल्लनटॉप शो|Episode 334

धर्म देखकर नुकसान नहीं करता जहरीला धुआं!

महाराष्ट्र: क्या 50-50 फॉर्मूला फडणवीस की कुर्सी आदित्य ठाकरे को दिला पाएगा?। दी लल्लनटॉप शो|Episode 333

बगदादी के मारे जाने के अमेरिकी दावे में कितनी सच्चाई है?

जिस गोपाल कांडा पर उमा भारती ने सवाल उठाया है, उसने गीतिका शर्मा के साथ क्या किया था?

कौन हैं गोपाल कांडा जिसके नाम से भयानक हड़कंप मच गया?

पॉलिटिकल किस्से

बाबरी गिरने के बाद बीजेपी नेता कल्याण सिंह के तिहाड़ जेल का किस्सा, सीबीआई उनसे पूछताछ करना चाहती है

कल्याण सिंह ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री थे.

अमित शाह के खास स्वतंत्र देव सिंह की RSS से होते हुए यूपी बीजेपी चीफ बनने की कहानी

जानिए एक पत्रकार रहे कांग्रेस सिंह कैसे बने यूपी बीजेपी चीफ स्वतंत्र देव सिंह.

अटल के मंत्री जसवंत सिंह को परवेज मुशर्रफ ने कैसे धोखा दिया?

भारत के इस विदेश मंत्री पर अमेरिका का पिट्ठू होने का आरोप क्यों लगा?

नरेंद्र मोदी ने भारत रत्न से पहले प्रणब मुखर्जी से क्या अफसोस जताया?

भारत रत्न के ऐलान से पहले प्रणब मुखर्जी और नरेंद्र मोदी में ये बात हुई.

नरेंद्र मोदी के सरकारी बंगले की सुरंग कहां जाती है?

आखिरी में सुरंग का दूसरा दरवाजा भी खुल जाएगा.

राजीव और सोनिया के करीबी बूटा सिंह, जिनके कृपाण से चीफ मिनिस्टर्स डरते थे

वो नेता जो देश का राष्ट्रपति बनते-बनते रह गए.

कहानी MQM के अल्ताफ हुसैन की, जिसे सपोर्ट करने का आरोप भारत पर लगता था

पाकिस्तान की हुकुमत का एक ऐसा दुश्मन, जिससे पड़ोसी मुल्क के हुक्मरान सख्त नफरत करते हैं.

इंदिरा गांधी का वो मंत्री जिसने संजय गांधी को कहा- मैं तुम्हारी मां का मंत्री हूं

जिसे टॉर्चर किया गया, जिसके फेफड़े गल गए और जो ज़्यादा दिन ज़िंदा न रह सकी.