Submit your post

Follow Us

ओला, उबर की ग्रोथ रेट, फाइनेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण के बयान को झुठला क्यूं रही है?

निर्मला सीतारमण. वित्त मंत्री हैं. उनका एक बयान मीडिया और सोशल मीडिया में तैर रहा है. 10 सिंतबर को वित्त मंत्री ने कहा,

ऑटोमोबाइल सेक्टर की हालत के लिए कई फैक्टर जिम्मेदार हैं. इनमें बीएस-6, रजिस्ट्रेशन फीस और लोगों का माइंडसेट शामिल है. लोग अब गाड़ी खरीद कर ईएमआई भरने की बजाय मेट्रो में सफर करना या ओला-ऊबर का उपयोग करना पसंद करते हैं.

बता दें कि अगस्त में लगातार 10वें महीने कारों की बिक्री में गिरावट आई है. लगभग सभी कंपनियों की गाड़ियों की बिक्री कम होती जा रही है. ऑटो निर्माता कंपनी सिऐम (SIAM) के मुताबिक़, घरेलू बाज़ार में इस महीने कारों की बिक्री में 41 फीसदी से ज़्यादा गिरावट दर्ज की गई.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

इलेक्शन कवरेज

देवी लाल चौटाला के गढ़ में कैसे सेंध लगाने जा रहे हैं बीजेपी के आदित्य चौटाला?

समीकरण समझने के लिए गांव वाले की दिलचस्प बातचीत सुनिए.

हरियाणा के सिरसा से समझिए कि रूई कैसे तैयार होती है?

पन्नियों में मिलने वाली रूई इस तरह से पेड़ पर उगती है.

जब कैथल में एक युवा ने कहा- कांग्रेस होती तो विंग कमांडर अभिनंदन कभी वापस ना आता

कैथल में सुरजेवाला को समर्थन तो केंद्र में मोदी को समर्थन.

सिरसा के डबवाली से पंजाबी जुत्ती के कारीगरों का सरकार के नाम एक ज़रूरी संदेश

जुत्ती बनती कैसे है ये तो जानेंगे ही, लेकिन किस हालात में कारीगर हैं इसे भी जानना ज़रूरी है.

हरियाणा के डबवाली में ऐसे तैयार होती है ओपन जीप, जिसका फैन पूरा देश है

कीमत के बारे में भी जानकारी मौजूद है.

बीजेपी सपोर्टर ने बताया कि उत्तर प्रदेश, गुजरात और हरियाणा चुनावों में क्या थी रणनीति

अगर ये ट्रिक सभी पार्टी अपना ले, तो जीत जाए.

बंसी लाल ने 1996 में की थी शराबबंदी, कैसा था वो फैसला

हो रही थी कोई और बात, करने लगा दूसरी बात.

रणदीप सिंह सुरजेवाला का इतना बोलबाला क्यों है कैथल में ?

इनकी जीत पक्की है फिर!

दी लल्लनटॉप शो

प्रकाल प्रभाकर ने क्यों मोदी सरकार को 'राव-सिंह' इकॉनमिक आर्किटेक्चर अपनाने की सलाह दी?

वित्तमंत्री के पति ने सरकार की आलोचना क्यों की?

महाबलीपुरम में ऐसा क्या है जो मोदी-जिनपिंग की अनौपचारिक मुलाकात वहीं हुई?। Episode 322

मोदी-जिनपिंग की मुलाकात हुई, क्या बात हुई?

मुर्शिदाबाद में आरएसएस वर्कर के परिवार की हत्या के बाद बीजेपी के ममता सरकार पर आरोप, पुलिस ने क्या कहा?

आरएसएस कार्यकर्ता के परिवार की हत्या में ममता सरकार का कितना दोष?

कांग्रेस ने राजनाथ सिंह को रफाल की शस्त्र पूजा पर घेरा, नींबू को लेकर पहले क्या बोले थे मोदी?

मोदी के बयान में कुछ ऐसा है जिसका इस्तेमाल कांग्रेस वाले बीजेपी के ही खिलाफ कर रहे हैं.

दशहरे पर 2019 के रावण के 10 सिर पहचानिए, जो खतरनाक ही नहीं जानलेवा भी हैं । Episode 319

युद्ध-युद्ध चिल्लाती, नारे उछालती, महिलाओं का अपमान करती भीड़ रावण की निशानी है.

टीएमसी सांसद नुसरत जहां की दुर्गा पूजा पर बवाल, लेकिन उलमा, वीएचपी वालों की बात में एक धोखा है। Episode 318

नुसरत जहां की दुर्गा पूजा पर बवाल क्यों हो रहा है?

संजय निरुपम राहुल गांधी के करीब, इसलिए सोनिया गांधी समर्थकों के निशाने पर हैं? |Episode 317

क्या राहुल और सोनिया गांधी के ही समर्थकों में तकरार है?

करतारपुर कॉरिडोर पर पाकिस्तान के न्योते से ऐसे बची कांग्रेस|Episode 316

पाक के न्यौते पर मनमोहन सिंह का 'स्मार्ट गेम'

पॉलिटिकल किस्से

बाबरी गिरने के बाद बीजेपी नेता कल्याण सिंह के तिहाड़ जेल का किस्सा, सीबीआई उनसे पूछताछ करना चाहती है

कल्याण सिंह ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री थे.

अमित शाह के खास स्वतंत्र देव सिंह की RSS से होते हुए यूपी बीजेपी चीफ बनने की कहानी

जानिए एक पत्रकार रहे कांग्रेस सिंह कैसे बने यूपी बीजेपी चीफ स्वतंत्र देव सिंह.

अटल के मंत्री जसवंत सिंह को परवेज मुशर्रफ ने कैसे धोखा दिया?

भारत के इस विदेश मंत्री पर अमेरिका का पिट्ठू होने का आरोप क्यों लगा?

नरेंद्र मोदी ने भारत रत्न से पहले प्रणब मुखर्जी से क्या अफसोस जताया?

भारत रत्न के ऐलान से पहले प्रणब मुखर्जी और नरेंद्र मोदी में ये बात हुई.

नरेंद्र मोदी के सरकारी बंगले की सुरंग कहां जाती है?

आखिरी में सुरंग का दूसरा दरवाजा भी खुल जाएगा.

राजीव और सोनिया के करीबी बूटा सिंह, जिनके कृपाण से चीफ मिनिस्टर्स डरते थे

वो नेता जो देश का राष्ट्रपति बनते-बनते रह गए.

कहानी MQM के अल्ताफ हुसैन की, जिसे सपोर्ट करने का आरोप भारत पर लगता था

पाकिस्तान की हुकुमत का एक ऐसा दुश्मन, जिससे पड़ोसी मुल्क के हुक्मरान सख्त नफरत करते हैं.

इंदिरा गांधी का वो मंत्री जिसने संजय गांधी को कहा- मैं तुम्हारी मां का मंत्री हूं

जिसे टॉर्चर किया गया, जिसके फेफड़े गल गए और जो ज़्यादा दिन ज़िंदा न रह सकी.