Submit your post

Follow Us

किसी एयरपोर्ट की चाबी प्राइवेट कंपनी को मिलने का पूरा सिस्टम समझ लीजिए

जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Jaipur International Airport). इस बार जब पिंक सिटी जयपुर से उड़ान भरेंगे तो एयरपोर्ट अडाणी का होगा. क्योंकि इसका नियंत्रण भी अडाणी समूह (Adani Group) को मिल गया है. उसने सोमवार 11 अक्टूबर से इस एयरपोर्ट का कंट्रोल एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (AAI) से हासिल कर लिया. सरकार ने अडाणी ग्रुप को ये एयरपोर्ट 50 साल के लिए लीज पर दिया है. इस तरह अडाणी ग्रुप की सब्सिडायरी अडाणी एयरपोर्ट होल्डिंग्स लिमिटेड (AAHL) अब देश की सबसे बड़ी एयरपोर्ट कंपनी बन गई है. देखें वीडियो.

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

इलेक्शन कवरेज

केशव प्रसाद मौर्य को हराने वाली पल्लवी पटेल की कहानी जिनके खिलाफ उनकी बहन ने प्रचार किया

पल्लवी पटेल सपा की टिकट पर कौशांबी की सिराथू सीट से चुनाव लड़ी थीं.

UP में जीता मायावती का इकलौता विधायक कौन है, कहानी जान लेनी चाहिए

BSP का वो विधायक जो पार्टी से अकेला ही विधानभवन में बैठेगा.

योगी के कौन से 10 मंत्री हार गए, एक की हार तो सिर्फ 473 वोटों से हुई

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य समेत 10 मंत्री अपनी सीट नहीं बचा पाए हैं.

इलाहाबाद दक्षिण से नंद गोपाल गुप्ता नंदी फिर जीते, सपा के रईस चंद्र शुक्ला को इतने वोटों से हराया

प्रयागराज की यह विधानसभा भी हाई प्रोफाइल सीटों में गिनी जाती है.

UP में दो पति-पत्नी लड़े, एक तो बुरा हारे, दूसरे में पत्नी ने कैसे बचा ली सीट?

उत्तर प्रदेश में एक बार फिर से बीजेपी की सरकार बन रही है.

यूपी में सपा की हार में अखिलेश ने क्या 'पॉज़िटिव पॉइंट' खोज लिया?

अखिलेश वोट प्रतिशत और सीटों में इजाफे को लेकर संतुष्ट नजर आ रहे हैं.

ओम प्रकाश राजभर की सीट पर क्या BJP के कालीचरण राजभर ने खेल कर दिया?

इस सीट पर बसपा ने शादाब फातिमा और कांग्रेस ने ज्ञान प्रकाश सिंह को चुनाव में उतारा था.

'यूपी छोड़ दूंगा' वाले बयान को लेकर लोगों ने मुनव्वर राणा को जमकर ट्रोल कर दिया!

चुनाव शुरू होने से पहले आया था मुनव्वर राणा का बयान.

दी लल्लनटॉप शो

दी लल्लनटॉप शो: अजय देवगन ने किच्चा सुदीप से हिंदी पर बहस की, कर्नाटक में बवाल हो गया

अजय देवगन ने 'रनवे 34' के चक्कर में बहस की?

दी लल्लनटॉप शो: PM मोदी की बात मानकर पेट्रोल-डीजल पर VAT कम करेंगे शिवराज और उद्धव?

कोरोना से पहले और बाद के टैक्स में फर्क क्यों?

दी लल्लनटॉप शो: भारत ज़रूरत से ज़्यादा बिजली बना सकता है तो गांवों में घंटों बत्ती गुल क्यों?

प्रशांत किशोर कांग्रेस के होते-होते कैसे रह गए?

दी लल्लनटॉप शो: लाउड स्पीकर, अज़ान और हनुमान चालीसा के मुद्दे के नवनीत कौर राणा केंद्र में हैं

महाराष्ट्र में किसानों की आत्महत्या का इतना बुरा हाल क्यों है?

दी लल्लनटॉप शो: मौलाना तौकीर रजा, शफीक-उर-रहमान बर्क और अलवर मामले पर बवाल!

बोरिस जॉनसन के भारत दौरे को लेकर क्या बोले पीएम मोदी?

दी लल्लनटॉप शो: SC ने जहांगीरपुरी पर आज वो सवाल पूछा, जिसका जवाब कोई नहीं दे रहा

बोरिस जॉनसन की इंडिया विजिट के क्या मायने हैं?

दी लल्लनटॉप शो: दिल्ली के जहांगीरपुरी में चला बुलडोजर तो CM अरविंद केजरीवाल क्यों कोसे गए?

जहांगीरपुरी में हमारी ग्राउंड रिपोर्टिंग में क्या पता लगा?

दी लल्लनटॉप शो: कर्नाटक के हुबली में फर्जी तस्वीर के चक्कर में पत्थरबाजों ने बहुत बड़ी गलती की है!

बिना अनुमति के हथियारों लैस यात्रा कैसे निकल जाती है?

पॉलिटिकल किस्से

अरूसा आलम और कैप्टन अमरिंदर सिंह के संबंधों पर सियासत क्यों हो रही है?

अरूसा को पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI से भी जोड़ा जा रहा है.

एंटी CAA-NRC प्रोटेस्ट में गोली चलाने वाले गोपाल की महापंचायत में बोली बातें क्यों वायरल हुईं?

हरियाणा के पटौदी में हुई जनसभा में उसके भाषण का एक वीडियो वायरल हो रहा है.

उत्तर प्रदेश के नेता जितिन प्रसाद, जो दो दशक से कांग्रेसी रहे और अब BJP में शामिल हो गए

2019 के बाद से ही जितिन प्रसाद की भाजपा से नजदीकियां बढ़ रही थीं.

असम का वो नेता, जिसके साथ हुई ग़लती को ख़ुद अमित शाह ने सुधारा था

अब वो राज्य का मुख्यमंत्री बन गया है.

कैसे मुलायम सिंह ने अजित सिंह से यूपी के मुख्यमंत्री की कुर्सी छीन ली?

अजित सिंह के लोकदल अध्यक्ष बनने की प्रक्रिया काफी विवादित रही थी.

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री बनने जा रहे एमके स्टालिन की कहानी फिल्म से कम नहीं

मद्रास शहर की थाउजेंड लाइट्स विधानसभा सीट से स्टालिन पहली बार चुनाव में उतरे.

केरल चुनाव में जीत के साथ पी विजयन ने 64 बरस पुराना कौन सा मिथक तोड़ दिया?

विजयन महज़ 26 साल की उम्र में पहली बार विधायक बने थे.

अखिल गोगोई की कहानी, जिन्हें हाईकोर्ट ने जमानत देते वक्त कहा- सिविल नाफरमानी अपराध नहीं

नेतागिरी से दूर भागने वाले अखिल गोगोई जेल से ही चुनाव लड़ने पर मजबूर हुए.