The Lallantop
Advertisement

डियर पाकिस्तानी दोस्त, वर्ल्ड कप में ऐसे पिच बदल रही है BCCI!

World Cup 2023 में कुछ पाकिस्तानी फ़ैन्स की तरफ से BCCI पर बड़ा आरोप लगाया गया. कहा गया कि BCCI ने इस बार पूरी पिच ही बदल दी है.

Advertisement
world cup. ind vs sa, pitch
ऐसे बदली जाती है पिच (Twitter/PTI)
6 नवंबर 2023 (Updated: 7 नवंबर 2023, 09:33 IST)
Updated: 7 नवंबर 2023 09:33 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

वर्ल्ड कप 2023 (World Cup 2023). टीम इंडिया ने साउथ अफ्रीका (Ind vs SA) को हरा दिया. 5 नवंबर को हुए World Cup मुकाबले में इंडियन टीम को एकतरफा जीत मिली. फिर आया इसको लेकर कुछ पाकिस्तानी फ़ैन्स का रिएक्शन. उनकी तरफ से BCCI पर बड़ा आरोप लगाया गया. इस बार बात बॉल बदलने या गलत डिसीज़न की नहीं थी. बात इस बार काफी आगे बढ़ चुकी थी. अब ये बात बॉल से लेकर पिच तक पहुंच गई. यानी आरोप लगा कि BCCI ने इस बार पूरी पिच ही बदल दी है.

अब जिस तरह से इंडियन टीम खेली, इस आरोप को पूरी तरह से नकारा भी कैसे जा सकता है? कोलकाता के जिस ईडन गार्डन्स मैदान पर विराट कोहली ने शतक और श्रेयस अय्यर ने ऑलमोस्ट शतक जड़ दिया, उस पिच पर साउथ अफ्रीका की टीम 83 रन पर कैसे सिमट गई? और वो साउथ अफ्रीका की टीम, जिसके बैटर इस टूर्नामेंट में भयंकर फॉर्म में हैं. एक पाकिस्तानी फैन ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर लिखा,

''कुछ तो गड़बड़ है रे, बाबा. जब इंडिया पहले बैटिंग करती है तो पिच एकदम बैटिंग पैराडाइज लगती है. वहीं जब इंडिया के बॉलिंग की बारी आती है, तो वही पिच एकदम पर्थ जैसी बन जाती है. साउथ अफ्रीका की इतनी अच्छी बैटिंग यूनिट, इंडिया के सामने एकदम से इतनी बुरी कैसे बन गई? 100 रन भी क्रॉस नहीं कर सकी. यहां कुछ तो बड़ा झोल है.''

मतलब कि भाई ने ठीक वैसी ही बात की, जैसा हमारे ऑफिस में संदीप सर एक इंडियन ऑलराउंडर को देखकर कहते हैं. संदीप सर के मुताबिक वो प्लेयर जब बैटिंग करता है तो लगता है ये बॉलिंग ज्यादा अच्छी करता होगा. लेकिन जब बॉलिंग की बारी आती है तो फिर ठीक उल्टा लगने लगता है. आपको प्लेयर का नाम नहीं बता सकते. भाई जॉब की मजबूरी है. और आजकल वैसे भी बड़े लोग बड़ी जल्दी ऑफेंड हो जाते हैं.

ये भी पढ़ें: साउथ अफ्रीका के खिलाफ कौन बना बेस्ट फील्डर? अवॉर्ड देने का तरीका देखकर तो आप कहेंगे- 'वाह...'

खैर, मुद्दे पर वापस लौटते हैं. तो पाकिस्तानी फैन ने जो सवाल उठाया, उसका जवाब भी आया. कुछ हमारे इंडियन फ़ैन्स की तरफ से. भाई का नाम है विशाल आनंद. उसी पोस्ट के नीचे विशाल ने कॉमेंट किया,

''भाई, हमारे पासे बेस्ट टेक्नोलॉजी और साइंस है. लाईट शो के समय जब पूरा अंधेरा होता है, उसी समय मैनेजमेंट पूरी पिच को बदल देता है. जो कि उसी ग्राउंड के अंदर छुपा कर रखी जाती है. एक बटन दबाते ही, अंदर से पूरी पिच घूम कर बाहर आ जाती है. और पहले वाली पिच अंदर चली जाती है.''

अब विशाल भाई का कमेंट एकदम जोरदार था. पढ़कर पहले हंसी आई. लगा कि भाई ने पाकिस्तानी फैन के मजे लिए हैं. हमारे साथी मुरारी भी इस कमेंट को देख पहले जोर से हंसे. फिर बोल पड़े कि काश ऐसा सच में हो पाता. अब कोई इंडियन फैन कोई बात बोले और उसमें कुछ सच्चाई ना हो, ऐसा कैसे हो सकता है! हम उस तकनीक के बारे में जानकारी निकाल लाए, जिसका जिक्र शिवम ने किया.

ये भी पढ़ें: Ind vs SA: जडेजा अड़ गए, रोहित को बात माननी पड़ी... यहीं घूम गया मैच!

ऐसे बदली जाती है पिच

स्पेन का एक फुटबॉल क्लब है-रियाल मैड्रिड. दुनिया के सबसे बेहतरीन फुटबॉल क्लब में से एक. इस क्लब से कभी क्रिस्टियानो रोनाल्डो, ब्राजील वाले रोनाल्डो, डेविड बेकहम और जिनेदिन जिदान जैसे दिग्गज खेलते थे. क्लब का होम ग्राउंड या स्टेडियम जो भी कह लें… उसका नाम है, सैंटियागो बर्नाबेऊ. स्टेडियम का पिछले कुछ साल में रिनोवेशन किया गया. पहले जो स्टेडियम ठीक-ठाक से दिखता था, उसे दिया गया है एकदम से मॉर्डन लुक. 

मतलब गजबै का स्टेडियम बनकर लगभग तैयार हो चुका है. स्टेडियम का सिर्फ लुक ही चेंज नहीं हुआ, बल्कि इसमें इस्तेमाल की है गई अदभुत टेक्नोलॉजी. रिट्रेक्टेबल पिच और छत. माने ज़रूरत के हिसाब से छत को खोला और बंद किया जा सके. इससे भी खास रही पिच बदलने वाली टेक्नोलॉजी. क्लब ने इसका वीडियो भी जारी किया, जिसे देख आप भी कुछ देर को हैरान रह जाएंगे.

इस वीडियो में दिखाया गया कि स्टेडियम की पिच कुछ ही मिनटों में बदल दी गई. पलक झपकते ही घास वाली पिच कंक्रीट वाले ग्राउंड में बदल गई. सिर्फ एक बटन के दबाते ही पिच अंडरग्राउंड हो गई. जबकि नीचे से कंक्रीट वाला ग्राउंड ऊपर आ गया. 

अब पाकिस्तानी फैन ने ऊपर जो बात कही थी, उस हिसाब से रियाल मैड्रिड ने ये पिच बेईमानी के लिए बनाई होगी. लेकिन इसका काम कुछ और ही है. इस पिच का इस्तेमाल फुटबॉल के अलावा NFL और NBA जैसे गेम्स से लेकर म्यूजिक कॉन्सर्ट के लिए भी किया जा सकता है.  ऐसी ही टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल इंग्लैंड का फुटबॉल क्लब टॉटनहम हॉटस्पर भी अपने स्टेडियम में करता है.  

अब क्या पता कि BCCI ने सच में ऐसी ही कुछ टेक्नोलॉजी का जुगाड़ कर रखा हो! वैसे भी BCCI सबसे अमीर बोर्ड है, तो उनके लिए ये कर पाना क्या ही बड़ी बात है! (मज़ाक  में लिख रहे हैं, सीरियसली नहीं लेना है!) ऐसे में हम अपने डियर पाकिस्तानी दोस्तों से कहते हैं, वो अपनी बात पर अड़े रहें. वो इसको लेकर ICC ऑफिस के बाहर जाकर धरना भी दे सकते हैं. और बिल्कुल इस बात की जांच करानी चाहिए. ताकि इस कथित बेइमानी का फायदा सिर्फ इंडिया ही नहीं, पाकिस्तान को भी मिल सके. अगली बार से.

वीडियो: विराट कोहली ने मैच के बाद क्या बोल, कलेजा निकाल रख दिया

thumbnail

Advertisement