The Lallantop
Advertisement

अंडर-19 वर्ल्ड कप में हारा भारत, इरफ़ान पड़ोसियों से क्यों भिड़ गए?

Irfan Pathan. टीम इंडिया के लिए खेल चुके क्रिकेटर. इरफ़ान अक्सर ही X पर पड़ोसियों से भिड़ते रहते हैं. अंडर-19 वर्ल्ड कप में भारत की हार के बाद भी ऐसा ही हुआ. इरफ़ान ने पड़ोसियों को सुना दिया.

Advertisement
U19 World Cup, Irfan Pathan
इरफ़ान पठान ने पाकिस्तानी फ़ैन्स को सुना दिया (फ़ाइल फ़ोटो, एपी)
11 फ़रवरी 2024
Updated: 11 फ़रवरी 2024 23:41 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

'आप दोस्त बदल सकते हैं, पड़ोसी नहीं.' पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने सालों पहले ये बात कही थी. लेकिन इरफ़ान पठान का बस चले तो वो इसे कुछ यूं कहेंगे- 'आप दोस्त छोड़ सकते हैं, पड़ोसी नहीं.' हाल के महीनों में पड़ोसियों के साथ इरफ़ान कई बार भिड़ चुके हैं. अंडर-19 वर्ल्ड कप के फ़ाइनल में भारत हारा, तो एक बार फिर यही हुआ.

इरफ़ान ने ट्वीट किया,

'अपनी अंडर-19 टीम के फ़ाइनल तक ना पहुंचने के बावजूद, बॉर्डर उस पार के के-बोर्ड वॉरियर्स हमारे युवाओं की हार में खुशी तलाश रहे हैं. यह नकारात्मक रवैया उनके देश की मानसिकता दिखाता है.'

आगे बढ़ने से पहले आपको के-बोर्ड वॉरियर का अर्थ समझा देते हैं. आधुनिक काल में के-बोर्ड वॉरियर उन लोगों को कहते हैं, जो सोशल मीडिया पर इधर-उधर कॉमेंट करने में व्यस्त रहते हैं. मतलब, करने को उनके पास कुछ खास काम नहीं होता.

अब इरफ़ान ने ऐसे लोगों को क्यों याद किया, क्योंकि भारतीय अंडर-19 टीम के हारते ही पाकिस्तान की ओर से खुशी वाली पोस्ट्स आने लगी थीं. वो लोग खुश थे कि भारत हार गया. हालांकि कुछ ही घंटों पहले उनकी टीम सेमीफ़ाइनल में हारी थी, लेकिन वो हार भुला वो ऑस्ट्रेलिया की जीत का जश्न मनाने लगे. जबकि इसी टीम ने उन्हें भी हराया था.

और ऐसे में इरफ़ान क्यों पीछे रहते. वो पहले भी ऐसे लोगों को जवाब दे चुके हैं. इस बार भी दिया. हालांकि उनकी पोस्ट पर भी ऐसे कई लोगों के कॉमेंट्स आए, लेकिन इरफ़ान को इसकी चिंता कहां है. वो तो पड़ोसियों को छोड़ेंगे नहीं.

यह भी पढ़ें: हारेंगे पर... अंडर-19 वर्ल्ड कप की हार का दुख कम कर देगा लड़कों का ये हौसला!

बात मैच की करें तो ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीत, पहले बैटिंग का फैसला किया. उनके बल्लेबाजों ने बढ़िया बैटिंग की. टीम ने अंडर-19 वर्ल्ड कप फ़ाइनल का सबसे बड़ा स्कोर बना दिया. भारत को जीत के लिए 50 ओवर्स में 254 रन बनाने थे. यानी टीम जीतती तो रिकॉर्ड बनता. लेकिन रविवार का दिन अपने लड़कों का नहीं था.

बल्लेबाज एकदम नहीं चले. टीम इंडिया 174 रन ही बना पाई. ऑस्ट्रेलिया ने मैच को 79 रन से जीत लिया. यह ऑस्ट्रेलिया का चौथा अंडर-19 वर्ल्ड कप है. भारतीय टीम ने पांच बार इसे अपने नाम किया है. हम, इस टूर्नामेंट की सबसे सफल टीम हैं. टीम के कप्तान उदय सहारन ने टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन बनाए. जबकि स्पिनर सौम्य पांडेय सबसे ज्यादा विकेट लेने वालों की लिस्ट में दूसरे नंबर पर रहे. मिडल ऑर्डर बैटर मुशीर खान ने टूर्नामेंट में दो सेंचुरी जड़ीं. हालांकि, फ़ाइनल में टीम अपने कद के मुताबिक नहीं खेल पाई.

वीडियो: RCB स्टार का ऐसा तूफ़ान, हवा में उड़ गया सूर्य कुमार यादव का रिकॉर्ड!

thumbnail

Advertisement