The Lallantop
Advertisement

वाहियात, अशोभनीय... पिता ने पत्नी पर लगाए आरोप तो रविंद्र जडेजा ने जवाब में क्या बोला?

रविंद्र जडेजा ने सोशल मीडिया के जरिए अपने पिता के आरोपों को बेबुनियाद बताया है. उनके पिता ने एक अख़बार से बात करते हुए कहा था कि जडेजा की बीवी उनका परिवार तोड़ रही है.

Advertisement
Ravindra Jadeja
रविंद्र जडेजा के मुताबिक ये सब उनकी इमेज खराब करने के प्रयास हैं (फ़ाइल)
9 फ़रवरी 2024
Updated: 9 फ़रवरी 2024 17:58 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

रविंद्र सिंह जडेजा, टीम इंडिया और चेन्नई सुपरकिंग्स के प्लेयर. जडेजा सालों से टीम इंडिया और धोनी की इस टीम के लिए खेल रहे हैं. जडेजा बेहद ग़रीबी से उठकर यहां तक पहुंचे हैं. दुनिया जानती है कि उनके पिताजी अनिरुद्ध सिंह जडेजा ने एक सिक्यॉरिटी गार्ड के रूप में भी काम किया हुआ है. और अब उन्हीं अनिरुद्ध का कहना है कि उनके बेटे रविंद्र और उनकी पत्नी रिवाबा, उनसे कोई मतलब नहीं रखते हैं. हालांकि, रविंद्र ने इन बातों को बेतुकी और बिना मतलब करार दिया है.

जडेजा ने इस इंटरव्यू पर रिएक्ट करते हुए X पर पोस्ट किया,

'उस वाहियात इंटरव्यू में कही गई सारी बातें बेमतलब और झूठी हैं. यह एकतरफा स्टोरी है और मैं इन आरोपों का पूरी तरह से खंडन करता हूं. मेरी पत्नी की छवि खराब करने के प्रयास निंदनीय और अशोभनीय हैं. मेरे पास भी कहने को बहुत कुछ है लेकिन मैं इसे सबके सामने नहीं कहूंगा.'

इससे पहले, दिव्य भास्कर के साथ एक इंटरव्यू में अनिरुद्ध ने कहा था कि वह एक सामान्य जीवन जी रहे हैं. अनिरुद्ध ने बताया कि वह जामनगर में एक 2BHK मकान में रहते हैं. बता दें कि इसी शहर में रविंद्र का फार्महाउस है. अनिरुद्ध बोले,

'गांव में मेरे पास थोड़ी जमीन है. मैं अपने खर्चे अपनी पत्नी की 20 हजार की पेंशन से चलाता हूं. मैं 2BHK फ़्लैट में अकेले रहता हूं. एक सहयोगी है, जो मेरे लिए खाना बना देता है. मैं अपनी शर्तों पर जी रहा हूं. मेरे 2BHK फ़्लैट में भी रविंद्र के लिए एक कमरा है.'

यह भी पढ़ें: आयुर्वेदिक डॉक्टर के उस बेटे की कहानी जिसने टीम इंडिया को 'छक्के' के करीब पहुंचा दिया!

अपनी बात आगे बढ़ाते हुए अनिरुद्ध ने ये भी कहा कि रविंद्र के अपनी बहन के साथ भी ठीक रिश्ते नहीं हैं. वह बोले,

'मैं रविंद्र को फ़ोन नहीं करता. मुझे उसकी जरूरत नहीं है. वह मेरा बाप नहीं है, मैं उसका बाप हूं. उस मुझे फ़ोन करना चाहिए. इस सबसे मुझे रोना आता है. उसकी बहन भी रक्षाबंधन पर रोती है. मैंने रविंद्र को क्रिकेटर बनाने के लिए बहुत मेहनत की थी.

मैं पैसे कमाने के लिए 20-20 लीटर दूध की केन अपने कंधों पर ढोता था. मैंने एक वॉचमैन के रूप में भी काम किया. हम एक ग़रीब परिवार से आते हैं. उसकी बहन ने मुझसे भी ज्यादा किया है. उसने मां की तरह रविंद्र का ख्याल रखा. हालांकि, वह अपनी बहन से भी कोई रिश्ता नहीं रखता.'

अनिरुद्ध ने दावा किया कि रविंद्र की पत्नी रिवाबा ने परिवार में मतभेद पैदा किए. वह बोले,

'उनकी शादी के ठीक बाद, रविंद्र के रेस्टोरेंट के मालिकाना हक़ के लिए विवाद हुआ. उसने रविंद्र से बोलकर रेस्टोरेंट का मालिकाना हक़ अपने नाम पर ट्रांसफ़र कराए. इसके लिए उनके बीच बड़ी लड़ाई भी हुई थी. उसकी बहन ने सोचा कि अब वह चीजें मैनेज कर लेगा और यही सोचकर दस्तख़त कर दिए.'

बता दें कि जडेजा ने हाल ही में इंटरनेशनल क्रिकेट में पंद्रह साल पूरे किए हैं. उन्होंने इंग्लैंड के साथ चल रही टेस्ट सीरीज़ के पहले टेस्ट में 86 रन की पारी खेली थी. हालांकि इसके बाद हैमस्ट्रिंग की चोट के चलते वह दूसरे टेस्ट में नहीं खेल पाए. अभी जडेजा बैंगलोर स्थित NCA में हैं. उम्मीद है कि वह बचे हुए तीन टेस्ट के लिए टीम इंडिया में चुने जाएंगे. तीसरा टेस्ट 15 फ़रवरी से राजकोट में खेला जाएगा.

वीडियो: 101 पारियां, हजारों रन लेकिन रविंद्र जडेजा के साथ बेन स्टोक्स जैसा कोई ना कर पाया!

thumbnail

Advertisement

election-iconचुनाव यात्रा
और देखे

Advertisement

Advertisement