The Lallantop
Advertisement

इस साल भी कप... RCB वाले फिर हारे और जनता समेत पूर्व क्रिकेटर ने भी हौंक दिया!

RCB को फिर से हार मिली. टीम इस सीजन चार में से तीन मैच हार चुकी है. लखनऊ के खिलाफ़ हार के बाद फ़ैन्स के साथ पूर्व क्रिकेटर ने भी इस टीम के मैनेजमेंट पर सवाल उठा दिए.

Advertisement
RCB, Cameron Green
कैमरन ग्रीन समेत सारे बड़े नाम फ़ेल रहे (PTI)
2 अप्रैल 2024 (Updated: 2 अप्रैल 2024, 02:07 IST)
Updated: 2 अप्रैल 2024 02:07 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

RCB का सीजन खत्म हो गया. ऐसा X पर बैठी जनता को लगता है. और लगे भी क्यों ना. ये महान फ़्रैंचाइज़ इस सीजन घर में दो गेम हार चुकी है. बाक़ी सारी फ़्रैंचाइज़ को मिला लेंगे, तो भी ये आंकड़ा सिर्फ़ एक मैच का है. यानी ये लोग हारने की रेस में खुद से ही मुक़ाबला कर रहे हैं. तभी तो X पर इस टीम के खूब मजे लिए जा रहे हैं. लखनऊ के खिलाफ़ RCB हारी तो एक फ़ैन ने लिखा,

'RCB फ़ैन्स की हालत. ई सला कप नमदे नहीं, इस साल भी कप ना मिले.'

एक और यूजर लिखता है,

‘अगर चोक करना कोई ओलंपिक खेल होता, RCB हर बार सिल्वर मेडल जीतती.’

आइरनी देखिए, चोक करने में भी बेचारे सेकंड ही आ रहे हैं. ख़ैर, आगे बढ़ते हैं. एक और फ़ैन लिखता है,

‘लेकिन RCB के पास बेस्ट बैटिंग लाइनअप है. RCB ने 2016 के बाद एक बार भी सफलतापूर्वक 190+ का स्कोर चेज़ नहीं किया है.’

पूर्व क्रिकेटर डोडा गणेश लिखते हैं,

'बीते गेम के बेस्ट बोलर होने के बावजूद व्यशक प्लेइंग इलेवन में नहीं हैं और चूंकि RCB पहले बोलिंग कर रही है, इस बात की बहुत कम संभावना है कि वह इम्पैक्ट प्लेयर के रूप में बोलिंग कर पाएंगे. RCB थिंक टैंक का अजब फैसला.'
 

अब बात मैच की कर लेते हैं. RCB के कप्तान फाफ डु प्लेसी ने टॉस जीता और पहले बोलिंग का फैसला कर लिया. उन्होंने सोचा था कि इतनी सही बैटिंग है हमारे पास, चेज़ कर लेंगे. लेकिन वो शायद अपनी बोलिंग यूनिट को भूल गए थे. लखनऊ ने बढ़िया शुरुआत की. बीच में मैक्सवेल ने काम बिगाड़ा. RCB के बोलर्स ने वापसी की.

लेकिन अंत में लखनऊ वालों ने बीस ओवर्स में 181 रन बना ही लिए. हालांकि, ये स्कोर अभी भी बहुत बड़ा नहीं था. लेकिन RCB वालों ने 2016 के बाद से अभी तक एक बार भी इतना स्कोर चेज़ नहीं किया था, तो यहां कैसे करते? विराट कोहली और फाफ डु प्लेसी ने टीम को शुरुआत दिला दी.

लेकिन लगातार ओवर्स में दोनों आउट हो गए. और फिर एक के बाद एक दिग्गज सरेंडर करते गए. कैमरन ग्रीन, रजत पाटीदार, ग्लेन मैक्सवेल, अनुज रावत और दिनेश कार्तिक… सारे फ़ेल रहे. इम्पैक्ट प्लेयर के रूप में आए महिपाल लोमरोर ने कोशिश की. लेकिन दूसरे एंड से उन्हें कोई सहयोग नहीं मिला. टीम 28 रन से मैच हार गई. यह सीजन के चार मैच में RCB की तीसरी हार थी.

टीम पॉइंट्स टेबल में मुंबई इंडियंस के साथ बैठी है, काश ट्रॉफ़ी जीतने के मामले में भी ये इस टीम के आसपास कहीं पहुंच जाते.

वीडियो: मयंक यादव ने RCB के खिलाफ जो गेंद डाली देखी क्या?

thumbnail

Advertisement

election-iconचुनाव यात्रा
और देखे

Advertisement

Advertisement