The Lallantop
Advertisement

विराट, रोहित और जडेजा के बिना कैसी होगी टीम इंडिया की प्लेइंग इलेवन? हमसे जान लीजिए

Virat Kohli, Rohit Sharma और Ravindra Jadeja के रिटायर होने के बाद बात होने लगी कि अब भारत की अगली T20 टीम कैसी दिखेगी? क्योंकि अगला T20 World Cup साल 2026 में खेला जाना है जिसकी तैयारी अभी से शुरू हो गई है.

Advertisement
team india t20 formation after virat kohli rohit sharma ravindra jadeja retirement
T20 World Cup 2024 जीतने के बाद Virat Kohli और Rohit Sharma ने संन्यास की घोषणा कर दी. (फोटो: PTI)
font-size
Small
Medium
Large
1 जुलाई 2024 (Updated: 1 जुलाई 2024, 21:04 IST)
Updated: 1 जुलाई 2024 21:04 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

भारतीय क्रिकेट के इतिहास में 29 जून, 2024 की तारीख हमेशा-हमेशा के लिए दर्ज हो गई. इस दिन इंडियन टीम ने साउथ अफ्रीका को हराकर T20 World Cup 2024 का खिताब अपने नाम कर लिया. खिताब जीतते ही कोहली ने रिटायरमेंट (Virat Kohli Retirement) की घोषणा कर दी. कोहली ने कहा कि अब समय है कि अगली पीढ़ी को मौका मिले. कोहली के रिटायरमेंट के बाद रोहित शर्मा के भी संन्यास (Rohit Sharma Retirement) लेने की खबर आई. अगले दिन, यानी 30 जून को पता चला कि रविंद्र जडेजा (Ravindra Jadeja Retirement) ने भी T20I से संन्यास ले लिया है.

Virat Kohli, Rohit Sharma और Ravindra Jadeja के रिटायरमेंट के बाद बात होने लगी कि अब भारत की अगली T20 टीम कैसी दिखेगी? इस आर्टिकल में हम इसी सवाल का जवाब तलाशेंगे. ये बात तो किसी से छिपी नहीं है कि इंडियन T20 क्रिकेट में टैलेंट कूट-कूटकर भरा है. वहीं इंडियन T20 क्रिकेट टीम को फाइनल करते हुए यह ध्यान में रखना होगा कि इस टीम में अनुभव और युवा शक्ति का सही अनुपात हो.

इंडियन T20 टीम का एक खाका खींचते हुए हम यहां एक चीज का ध्यान रखेंगे. वो ये कि टीम में कुछ कोर प्लेयर्स रहेंगे ही रहेंगे. मतलब, इनका होना इतना ही जरूरी है जितना पेड़-पौधों के लिए पानी और सूरज की रोशनी. इन खिलाड़ियों का अगर नाम लें तो ये हैं- सूर्यकुमार यादव, हार्दिक पंड्या, अक्षर पटेल, कुलदीप यादव, अर्शदीप सिंह और जसप्रीत बुमराह. अब बाकी बातें एकदम शुरू से शुरू करते हैं.

ओपनिंग में ‘सेल ही सेल’

इस T20 वर्ल्ड कप में भारत के लिए ओपनिंग की विराट कोहली और रोहित शर्मा ने. इन दोनों के जाने के बाद कई ऑप्शन उपलब्ध हैं. यशस्वी जायसवाल, रुतुराज गायकवाड़ और शुभमन गिल. यहां मौका अभिषेक शर्मा को भी दिया जा सकता है. यशस्वी जायसवाल IPL 2024 में ठीक ठाक फॉर्म में दिखे. 15 मैचों में उन्होंने लगभग 156 के स्ट्राइक रेट से 435 रन बनाए. जायसवाल ने इस दौरान एक सेंचुरी भी लगाई. वहीं रुतुराज गायकवाड़ तो इस बार के IPL में कमाल के फॉर्म में दिखे. CSK के कप्तान ने 14 मैचों में कुल 583 रन बनाए. उनका एवरेज 53 का रहा और स्ट्राइक रेट 141 का. गायकवाड़ ने भी एक सेंचुरी लगाई. ऐसे में ओपनिंग स्पॉट पर उनकी दावेदारी काफी मजबूत दिखती है.

बात अगर शुभमन गिल की करें तो IPL 2023 उनके लिए कमाल का रहा था. हालांकि, इस बार के IPL में वो अपने पिछले प्रदर्शन को मैच नहीं कर पाए. पिछले IPL में जहां शुभमन गिल ने जहां 17 मैचों में 890 रन बनाए थे, वहीं इस बार वो 12 मैचों में 426 रन बना पाए. इस बार उनका स्ट्राइक रेट 147 का रहा और उन्होंने एक सेंचुरी भी लगाई. वहीं पिछली बार उनका स्ट्राइक रेट 158 का रहा था और उन्होंने 3 शतक जड़े थे. पिछली बार उनका एवरेज भी लगभग 60 का था, जो इस बार घटकर 39 का हो गया. शायद यही वजह थी कि उन्हें मौजूदा टीम का हिस्सा नहीं बनाया गया. भले ही शुभमन गिल के लिए इस बार का IPL सीजन पिछले सीजन के मुकाबले अच्छा नहीं रहा, लेकिन वो ओपनिंग स्पॉट पर दावेदार तो हैं ही. इसको ऐसे समझिए कि जिम्बाब्वे के खिलाफ जिस टीम को उतारा गया है उसका नेतृत्व गिल ही करेंगे. यानी BCCI को भी उनसे वही उम्मीदें हैं, जो हमारी हैं. 

ये भी पढ़ें- 'सोचा नहीं था...'- रोहित-विराट के रिटायरमेंट पर सूर्या ने बताई अंदर की कहानी, अंदाजा भी नहीं होगा!

इस रेस में एक डार्क हॉर्स हैं SRH के ओपनर अभिषेक शर्मा. इस बार के आईपीएल में कई तूफानी पारियां खेलीं. ट्रेविस हेड के साथ मिलकर उन्होंने विपक्षी बॉलर्स के धागे खोल दिए. शर्मा ने 16 मैचों में 484 रन बनाए. उनका एवरेज 32 का रहा और स्ट्राइक रेट की तो क्या ही बात करें. अभिषेक ने तूफानी 204 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए. उन्होंने 3 अर्धशतक भी लगाए. ऐसे में उनके नाम को इग्नोर करना, सेलेक्टर के लिए मुश्किल तो होगा.

नंबर 3 पर ‘क्लैश ऑफ टाइटंस’

बात अब नंबर तीन की कर लेते हैं. यहां पर दो बड़े नाम जहन में आते हैं. पहला नाम है ऋषभ पंत का और दूसरा नाम है संजू सैमसन का. दोनों में कई समानताएं हैं. दोनों अपनी-अपनी IPL टीम्स के कप्तान हैं. दोनों विकेटकीपिंग करते हैं और दोनों को विस्फोटक बल्लेबाज के तौर पर ख्याति प्राप्त है. पंत को इस T20 वर्ल्ड कप में नंबर 3 पर खिलाया गया. इस दौरान वो 8 मैचों में 171 रन ही बना पाए. उनका एवरेज 24 का रहा और स्ट्राइक रेट 127 का. कहा जा सकता है कि इस वर्ल्ड कप में पंत कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाए.

वहीं अगर संजू सैमसन की बात करें तो इस IPL में उन्होंने कमाल का प्रदर्शन किया. सैमसन ने 15 मैचों में 531 रन बनाए. उनका एवरेज 48 का रहा. वहीं स्ट्राइक रेट 153 का. उन्होंने 5 अर्धशतक भी लगाए. ऐसे में अगर ऋषभ पंत फॉर्म में नहीं दिखते हैं तो सैमसन को 3 नंबर पर खिलाया जा सकता है. हालांकि, पंत का T20I अनुभव सैमसन से ज्यादा है और एक्सीडेंट से उबरने के बाद इस बार के IPL में भी उन्होंने बढ़िया प्रदर्शन किया था. IPL 2024 में पंत ने 13 मैचों में 446 रन बनाए. उनका एवरेज 40 का रहा और स्ट्राइक रेट 155 का. उन्होंने 3 अर्धशतक भी लगाए.

नंबर 6 पर दुविधा

टीम में नंबर 4 और नंबर 5 की जगह फिक्स है. नंबर 4 पर सूर्यकुमार यादव और नंबर 5 पर ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या. अब बात कर लेते हैं नंबर 6 की. नंबर 6 पर दो नाम हैं. पहला शिवम दुबे का और दूसरा रिंकू सिंह का. दोनों फिनिशर्स की भूमिका निभाते हैं. दोनों विस्फोटक बल्लेबाजी करते हैं. बस अंतर यही है कि शिवम दुबे बॉलिंग भी करते हैं. इस बार के T20 वर्ल्ड कप में रिंकू सिंह के ऊपर शिवम दुबे को तरजीह दी गई. हालांकि, उनका प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा. दुबे ने 8 मैचों में 133 रन बनाए. उनका एवरेज 22 का रहा और स्ट्राइक रेट ऐसा जो उनके नाम के साथ न्याय नहीं करता. 114 का मामूली स्ट्राइक रेट. मगर फाइनल में उनकी पारी को नज़रअंदाज नहीं किया जा सकता. 

वहीं अगर इस बार के IPL की बात करें तो शिवम दुबे ने 14 मैचों में 396 रन बनाए. उनका औसत 36 का रहा और स्ट्राइक रेट 162. उन्होंने 3 पचासे भी लगाए. इधर, रिंकू सिंह के लिए इस बार का IPL सीजन काफी खराब रहा. रिंकू 14 मैचों में मात्र 168 रन बना पाए. उनका एवरेज बेहद मामूली 18 का रहा. वहीं स्ट्राइक रेट 148 का. रिंकू इस बार एक भी पचासा नहीं लगा पाए. वैसे उनकी पर्सनल फॉर्म से ज्यादा बैटिंग पोजीशन का भी काफी योगदान था. वहीं IPL 2023 में उन्होंने कमाल का प्रदर्शन किया था. इसी प्रदर्शन के दम पर उनका चयन टीम इंडिया में हुआ था.

ये भी पढ़ें- संन्यास के बाद रोहित शर्मा ने लिखा इमोशनल पोस्ट, कहा- 'मेरे पास बहुत सारे शब्द हैं, लेकिन...'

अब आगे चलते हैं. जिस तरह से टीम में नंबर 4 और नंबर 5 फिक्स हैं, उसी तरह फिक्स हैं नंबर 7 और नंबर 8 के खिलाड़ी. नंबर 7 पर अक्षर पटेल खेलेंगे और नंबर 8 पर कुलदीप यादव. वहीं नंबर 9 पर टीम की जरूरत के मुताबिक, अलग-अलग खिलाड़ी खेल सकते हैं. नंबर 9 पर ये तीन खिलाड़ी हो सकते हैं- रवि बिश्नोई, मोहम्मद सिराज और वाशिंग्टन सुंदर. जहां, रवि बिश्नोई और मोहम्मद सिराज खांटी बॉलर हैं वहीं वाशिंगटन सुंदर की पहचान एक बॉलिंग ऑलराउंडर की है.

आखिर में बचते हैं नंबर 10 और 11. इन दोनों जगहों के लिए प्लेयर फिक्स हैं. भारतीय टीम के दो दहाड़ते हुए पेसर्स. एक लेफ्ट ऑर्म और एक राइट आर्म. अर्शदीप सिंह और जसप्रीत बुमराह. इनके प्रदर्शन के बारे में हम क्या ही बताएं. सब जानते हैं और पहचानते हैं. 

ये थी हमारी लिस्ट. संभव है कि आपकी लिस्ट में कुछ अलग नाम हों तो उसे अपने तक सीमित मत रखिए. कॉमेंट बॉक्स में शेयर कर डालिए. 

वीडियो: BCCI प्रेसिडेंट रोजर बिन्नी ने विराट और रोहित के संन्यास पर क्या कह दिया?

thumbnail

Advertisement

Advertisement