The Lallantop
Advertisement

कंचनजंगा एक्सप्रेस रेल हादसा: मरने वालों की तादाद 9 हुई, रेलवे ने कहा 'पायलट की चूक का नतीजा'

Kanchenjunga Express Train Accident: पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी में सोमवार 17 जून की सुबह एक मालगाड़ी और कंचनजंगा एक्सप्रेस में टक्कर हो गई. इस टक्कर में मालगाड़ी के दो पहिए पटरी से उतर गए. ख़बर लिखे जाने तक हादसे में मरने वालों की तादाद बढ़कर 9 हो चुकी थी. जबकि इस ट्रेन एक्सीडेंट में 36 लोगों के घायल होने की भी खबर है.

Advertisement
west bengal new jalpaigudi goods train two wheels derail from track
पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी में ट्रेन हादसा.
17 जून 2024 (Updated: 17 जून 2024, 14:46 IST)
Updated: 17 जून 2024 14:46 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

West Bengal Train Accident Update:  पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी में सोमवार 17 जून की सुबह, एक मालगाड़ी की कंचनजंगा एक्सप्रेस से टक्कर हो गई. यह हादसा न्यू जलपाईगुड़ी के पास हुआ. कंचनजंगा एक्सप्रेस सियालदह जा रही थी. इस टक्कर में कंचनजंगा एक्सप्रेस की कई बोगियां पटरी से उतर गईं. ख़बर लिखे जाने तक हादसे में 9 लोगों की मौत की मौत हो चुकी थी. जबकि 36 यात्रियों के घायल होने की भी ख़बर है.

 

क्रेडिट - इंडिया टुडे

अब तक हादसे को लेकर क्या-क्या पता चला है?

पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग में 17 जून की सुबह 9 बजे के आसपास एक मालगाड़ी ने कंचनजंगा एक्सप्रेस को पीछे से टक्कर मार दी. हादसे में कंचनजंगा एक्सप्रेस के 3 डिब्बे बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए. दो लोको पायलट और एक गार्ड समेत अब तक 9 लोगों के शव बरामद हुए हैं. जबकि 36 लोग घायल हैं.

कंचनजंगा एक्सप्रेस अगरतला से पश्चिम बंगाल के सियालदह जा रही थी. सिलीगुड़ी के रंगापानी स्टेशन के पास रुइधासा में रेड सिग्नल की वजह से ट्रेन रुकी हुई थी. इसी दौरान पीछे से आ रही मालगाड़ी ने टक्कर मार दी. रेस्क्यू के लिए मौके पर NDRF, SDRF, समेत रेलवे और बंगाल सरकार के अधिकारी भी लगे हुए हैं. 

कंचनजंगा ट्रेन हादसे के बाद प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) की ओर से मृतकों के परिजनों के लिए राहत राशि का एलान किया गया है. मृतकों के परिजनों को दो लाख रुपये जबकि घायलों को पचास हजार रुपये की राशि दी जाएगी.  वहीं रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने मृतकों को दस लाख, गंभीर रूप से घायलों को 2.5 लाख और मामूली रूप से घायल यात्रियों को 50,000 की सहायता राशि देने की घोषणा की है.

इस हादसे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जताया है. उन्होंने एक्स पर लिखा, 

पश्चिम बंगाल की रेल दुर्घटना दुखद है. अपने प्रियजनों को खो चुके लोगों के प्रति संवेदनाएं हैं. मैं घायलों के जल्द ठीक होने की कामना करता हूं. मैंने अधिकारियों से बात की है और स्थिति का जायजा लिया है. पीड़ितों की मदद के लिए बचाव कार्य शुरू किया गया है. रेल मंत्री अश्विन अश्विनी वैष्णव घटनास्थल पर पहुंच रहे हैं. 

 

इस हादसे पर ममता बनर्जी की भी प्रतिक्रिया आई है. उन्होंने एक्स पर लिखा, 

दार्जिलिंग जिले के फांसीदेवा इलाके में एक दुखद रेल दुर्घटना के बारे में जानकर मैं स्तब्ध हूँ. विस्तृत जानकारी का इंतज़ार है,बताया जा रहा है कि कंचनजंगा एक्सप्रेस एक मालगाड़ी से टकरा गई है। बचाव और चिकित्सा सहायता के लिए डीएम, एसपी, डॉक्टर, एम्बुलेंस और आपदा दल घटनास्थल पर पहुंच गए हैं। युद्धस्तर पर कार्रवाई शुरू कर दी गई है.

 

 

ये भी पढ़ें - बिहार में 11 साल के लड़के की समझदारी से टला बड़ा रेल हादसा, गमछे से रुकवा दी ट्रेन, रेलवे ने इनाम दे दिया

इस हादसे के बाद यात्रियों की मदद के लिए सियालदह स्टेशन पर एक विशेष हेल्पलाइन बूथ बनाया गया है. हेल्पलाइन नंबर हैं:- 03323508794, 033-23833326. घटना के बारे में जानकारी या सहायता चाहने वाले यात्री इस नंबर पर संपर्क कर सकते हैं

यात्रियों की सहायता के लिए नैहाटी स्टेशन पर एक और हेल्प डेस्क स्थापित किया जा रहा है. नैहाटी का हेल्पलाइन नंबर हैं:- रेलवे नंबर 39222, BSNL नंबर 033-25812128

यह खबर लगातार अपडेट हो रही है.

वीडियो: 3 बोगी अचानक पटरी से उतरी, बिहार के बक्सर में नॉर्थ ईस्ट एक्सप्रेस ट्रेन हादसा कैसे हो गया?

thumbnail

Advertisement

Advertisement