The Lallantop
Advertisement

UP पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा रद्द... जबरदस्त प्रदर्शन के बाद CM योगी का बड़ा एलान

UP Police Exam Cancelled: UP के CM योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि अगले छह महीनों के अंदर फिर से Police Constable Exam करवाया जाएगा. सरकार की तरफ से और क्या-क्या बताया गया है?

Advertisement
Up Police constable exam cancel
यूपी पुलिस एग्जाम कैंसिल
24 फ़रवरी 2024 (Updated: 24 फ़रवरी 2024, 14:57 IST)
Updated: 24 फ़रवरी 2024 14:57 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

उत्तर प्रदेश पुलिस सिपाही भर्ती एग्जाम (UP Police Constable Exam) रद्द हो गया है. पेपर लीक होने का आरोप लगा था. इसको लेकर बीते कई दिनों से अभ्यर्थी लगातार विरोध प्रदर्शन कर रहे थे. इसे देखते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पेपर कैंसिल करने का फैसला लिया है. अब अगले छह महीनों के अंदर फिर से एग्जाम करवाए जाएंगे. (UP Police Constable Exam Cancelled).

सीएम योगी आदित्यनाथ ने शनिवार, 24 फरवरी को यूपी पुलिस भर्ती परीक्षा रद्द होने की जानकारी खुद दी है. मुख्यमंत्री ने अपने X अकाउंट पर लिखा,

'यूपी पुलिस कॉन्स्टेबल के पदों पर चयन के लिए आयोजित परीक्षा-2023 को निरस्त करने और आगामी 06 माह के भीतर ही दोबारा परीक्षा कराने के आदेश दिए गए हैं. परीक्षाओं की शुचिता से कोई समझौता नहीं किया जा सकता. युवाओं की मेहनत के साथ खिलवाड़ करने वाले किसी भी स्थिति में बख्शे नहीं जाएंगे. ऐसे अराजक तत्वों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई होनी तय है.'

लखनऊ में जबरदस्त प्रदर्शन

आजतक की रिपोर्ट के मुताबिक उत्तर प्रदेश पुलिस कांस्टेबल भर्ती के लिए 17 और 18 फरवरी को एग्जाम करवाए गए थे. इस परीक्षा के लिए 50 लाख से ज्यादा अभ्यर्थियों ने फॉर्म भरा था. और करीब 48 लाख अभ्यर्थी एग्जाम देने पहुंचे थे. 17 और 18 फरवरी के दूसरी शिफ्ट का पेपर लीक होने का आरोप लगा था. जिसके बाद उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती और प्रोन्नति बोर्ड के अफसरों ने जांच के आदेश दे दिए थे. और उन्होंने कार्रवाई की बात कही थी.

ये भी पढ़ें:-UP पुलिस भर्ती परीक्षा का पेपर लीक होने के सबूत इस टीचर ने दिखाए थे

पेपर लीक के खिलाफ 24 फरवरी को लखनऊ के इको गार्डन में हजारों की संख्या में अभ्यर्थी विरोध प्रदर्शन के लिए पहुंचे थे. इस दौरान उन्होंने नारेबाजी भी की. प्रदर्शन में अभ्यर्थियों के साथ उनके कोचिंग टीचर भी मौजूद थे. अभ्यर्थी पहले दिन से सड़कों पर परीक्षा रद्द करने और दोबारा परीक्षा कराने की मांग कर रहे थे. लखनऊ के BJP कार्यालय के बाहर भी अभ्यर्थी विरोध प्रदर्शन करने पहुंचे थे. उन्हें पुलिस बल ने हटाने की कोशिश भी की गई थी. प्रदर्शन कर रहे छात्रों की तरफ से भर्ती बोर्ड से बात करने के लिए सात लोगों का प्रतिनिधिमंडल बनाया गया था. इसमें पांच कोचिंग टीचर और दो अभ्यर्थी थे.

छात्रों से लीक के सबूत मांगे थे

इससे पहले उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती व प्रोन्नति बोर्ड ने अभ्यर्थियों से पेपर लीक की श‍िकायतों पर सबूत के साथ आपत्तियां मांगी थीं. भर्ती बोर्ड ने शुक्रवार की शाम 6:00 बजे तक अभ्यर्थियों की शिकायतों को लेकर सबूतों को साबित करने वाली आपत्त‍ियां और प्रत्यावेदन मांगे थे. इस पर भर्ती बोर्ड को लगभग डेढ़ हजार शिकायतें ऑनलाइन प्राप्त हुईं.

thumbnail

Advertisement

election-iconचुनाव यात्रा
और देखे

Advertisement

Advertisement