The Lallantop
Advertisement

मुंहमांगे पैसे ना मिलने पर ट्रांसजेंडर ने नवजात का रेप किया, फिर हत्या की, अब कोर्ट ने सजा सुनाई है

कोर्ट ने कहा कि अपराध को अंजाम देने के पीछे का मकसद आसपास के क्षेत्र में आतंक पैदा करना था. ताकि कोई भी उसे नेग देने से इनकार करने की हिम्मत न कर सके.

Advertisement
transgender gets death penalty for raping killing new born baby mumbai news
मुंबई पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर पूछाताछ की थी (फोटो- आजतक)
28 फ़रवरी 2024 (Updated: 28 फ़रवरी 2024, 13:09 IST)
Updated: 28 फ़रवरी 2024 13:09 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

24 साल की एक ट्रांसजेंडर (Transgender) नवजात बच्चे के साथ रेप करने और फिर उसकी हत्या करने के मामले में दोषी पाई गई (New Born Rape Murder). अब मामले में मुंबई की स्पेशल अदालत ने उसे मौत की सजा सुनाई है (Death Penalty). दोषी का नाम कन्नू चौगले है. कन्नू ने 2021 में मुंहमांगा नेग ना मिलने पर तीन महीने के बच्चे को किडनैप कर लिया था. बाद में बच्चे का शव नाले में पड़ा मिला.

कन्नू को रेप, मर्डर, किडनैपिंग, सबूत मिटाने से जुड़ी धाराओं और POCSO एक्ट के तहत आरोपों में दोषी पाया गया है. मामले में एक अन्य आरोपी सोनू को सबूतों की कमी के चलते बरी कर दिया गया था.

कोर्ट ने क्या कहा?   

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए इस अपराध को पूर्व नियोजित (Pre Planned) बताया और कहा कि इससे गरीब इलाके में रहने वाली लड़कियों के माता-पिता की रूह कांप जाएगी. विशेष POCSO जज अदिति उदय कदम ने कहा कि अपराध को अंजाम देने के पीछे का मकसद आसपास के क्षेत्र में आतंक पैदा करना और उसके नाम से फेमस होना था ताकि कोई भी उसे नेग देने से इनकार करने की हिम्मत न कर सके. उन्होंने आगे बताया कि नवजात बच्ची के शरीर पर गंभीर चोटें मिली जिसमें दोषी की क्रूरता झलकती है. अदालत ने आगे कहा कि मामले में नरमी दिखाने का कोई आधार नहीं है.

क्या है पूरा मामला?

मामले को लेकर साल 2021 में छपी दिव्येश सिंह की रिपोर्ट के मुताबिक, जुलाई 2021 में साउथ मुंबई के कफ परेड इलाके में एक बच्चे की लाश नाले में पड़ी मिली थी. घटना को लेकर पीड़ित पिता ने बताया था कि कन्नू 8 जुलाई की शाम उनके घर बधाई देने आई थी. इस दौरान उसने ग्यारह सौ रुपए, एक साड़ी, और नारियल की मांग की थी. लॉकडाउन के बाद से चिट्टोले के पास कोई काम नहीं था तो वो ये सब देने में असमर्थ थे. जिसके बाद उन्होंने कन्नू को साड़ी और नारियल देने की बात कही थी. लेकिन कन्नू रुपये लेने के पीछे पड़ गई थी. लेकिन कुछ ही देर में उनकी बातचीत बहस में बदल गई. जिसके बाद सचिन ने कन्नू को अपने घर से निकाल दिया.

उसी रात कन्नू ने अपने दोस्त सोनू को घटना के बारे में बताया जिसके बाद दोनों ने बदला लेने की ठानी. रात 2 बजे के करीब दोनों सचिन के घर पहुंचे जहां दरवाजा खुला हुआ था. उन्होंने बच्चे को किडनैप कर लिया और कफ परेड इलाके में ले गए. जहां एक नाले के पास पानी से भरे गड्ढे में बच्चे को फेंक दिया था.

अगली सुबह बच्चे के ना मिलने पर सचिन ने पुलिस में बच्चे की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई और अज्ञात लोगों के खिलाफ किडनैपिंग का मामला भी दर्ज करवाया. इस दौरान उन्होंने पुलिस को कन्नू के साथ हुई बहस के बारे में भी बताया था. जिसके बाद पुलिस ने शिकायत दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी थी.

ये भी पढ़ें- 9 बरस की बच्ची से रेप और हत्या कर टुकड़ों में काट दिया था शव, कोर्ट ने सुनाई फांसी की सज़ा

शिकायत के आधार पर पुलिस ने दोनों आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की थी और फिर उन्हें जेल भेज दिया था.

वीडियो: ‘किन्नर शादी करते हैं?’ भोपाल के किन्नरों ने दर्दनाक सच बता दिया, प्यार के सवाल पर बोली…

thumbnail

Advertisement

election-iconचुनाव यात्रा
और देखे

Advertisement

Advertisement