The Lallantop
Advertisement

माता-पिता से नाराज़ होकर घर से भागा था 11 साल का लड़का, 22 साल बाद जोगी बन पहुंचा घर

अमेठी के एक गांव का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है. 22 साल बाद साधु के भेष में वापस आए बेटे ने परिवार को सुनाया मार्मिक गीत और मां से भिक्षा लेकर चला गया.

Advertisement
missing son met his family as a monk
जोगी बने पिंकू ने अपने परिवार को मार्मिक गीत सुनाया. (फोटो: आजतक)
pic
अभिषेक कुमार त्रिपाठी
font-size
Small
Medium
Large
7 फ़रवरी 2024 (Updated: 7 फ़रवरी 2024, 23:02 IST)
Updated: 7 फ़रवरी 2024 23:02 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

सोशल मीडिया पर एक बड़ा मार्मिक वीडियो सामने आया है. इसमें जोगी के भेष में एक युवक सारंगी बजाते हुए गीत गा रहा है. आसपास बैठे लोग फूट-फूटकर रो रहे हैं. वीडियो उत्तर प्रदेश के अमेठी का बताया जा रहा है. इस वीडियो की जो कहानी सामने आई है, वो और भी मार्मिक है. 

आजतक के अभिषेक कुमार त्रिपाठी की रिपोर्ट के मुताबिक वीडियो में दिख रहा जोगी युवक लगभग 22 साल बाद अपने गांव वापस लौटा था. लेकिन ये युवक अपने परिवार के साथ रहने के लिए वापस नहीं आया था. जोगी बना बेटा, परिवार के पास आया, अपनी मां से भिक्षा ली और अपने सफर पर आगे बढ़ गया.

वायरल वीडियो का स्क्रीनशॉट
11 साल की उम्र में घर से भागा था बेटा

ये मामला जायस थाना क्षेत्र के खरौली गांव का है. यहां के रहने वाले रतिपाल सिंह अपनी पत्नी और एक बेटे पिंकू के साथ दिल्ली में रहते थे. इस बीच उनकी पत्नी की मौत हो गई. रतिपाल सिंह ने भानुमति से शादी की. दोनों को एक बेटी हुई. रतिपाल सिंह, उनकी पत्नी भानुमति, बेटा पिंकू और बेटी दिल्ली में ही साथ रह रहे थे. लेकिन साल 2002 में पिंकू गायब हो गया. 

परिवार ने बताया कि पिंकू को कंचे खेलने के चलते डांट लगाई गई थी. पिता ने उसकी शैतानी के चलते पीटा था. इसलिए वो घर छोड़कर चला गया था. उस वक्त पिंकू की उम्र सिर्फ 11 साल थी. परिवार पिंकू को खोजता रहा, लेकिन उसका कभी पता नहीं चला.

22 साल बाद जोगी बन वापस लौटा 

पिंकू की गुमशुदगी के 22 साल बाद उसे अपने पिता के गांव में देखा गया. गांव में रह रहे परिजन हैरान रह गए. उन्होंने पिंकू के माता-पिता को सूचना दी. वो लोग भी दिल्ली से गांव आए. उन्होंने पिंकू को शरीर पर लगी चोटों के निशान से पहचाना. 

अमेठी में अपने गांव पहुंचे पिंकू की तस्वीर (फोटो: आजतक)

परिवार ने पिंकू को साथ रहने के लिए कहा, लेकिन पिंकू अब जोगी बन गया था. इस जोगी ने अपनी मां से भिक्षा ली और चला गया. अपने सफर पर आगे बढ़ने से पहले पिंकू ने गांव में अपनी सारंगी की धुन और गीत से सबको भावुक कर दिया. 

thumbnail

Advertisement