The Lallantop
Advertisement

ऑटो वाले ने एक्टर की दोस्त पर लिखे विवादित कमेंट्स, नाराज एक्टर ने 'फैन्स' को भेजकर मर्डर करवा दिया!

Begaluru पुलिस कमिश्नर B Dayananda की अगुवाई में पुलिस ने Renuka swamy Murder मामले की गुत्थी सुलझा दी है. कन्नड़ फिल्मों के मशहूर एक्टर दर्शन थूगुदीप (Darshan Thoogudeepa) को अरेस्ट कर लिया गया है. कैसे खुला पूरा केस?

Advertisement
Darshan Thoogudeepa, Pavithra Gowda,Renukaswamy murder case
एक्टर दर्शन और उनकी मित्र पवित्रा (बाएं) | फोटो: सोशल मीडिया
16 जून 2024 (Updated: 16 जून 2024, 12:30 IST)
Updated: 16 जून 2024 12:30 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

कर्नाटक में रेणुका स्वामी (Renuka swamy Murder) के मर्डर को लेकर हर दिन नई जानकारियां सामने आ रही है. इस मामले में कन्नड़ एक्टर दर्शन थूगुदीप (Darshan Thoogudeepa) और उनकी दोस्त पवित्रा गौड़ा (Pavithra Gowda) सहित 12 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं. अब जो नई जानकारी सामने आई है उसमें पता चला है कि कैसे बेंगलुरु पुलिस ने इस मामले का इतना जल्दी खुलासा किया और आरोपियों को गिरफ्तार किया.

दरअसल, 33 साल के ऑटो चालक रेणुका स्वामी का शव 9 जून को बेंगलुरु में एक फ्लाईओवर के पास मिला था. शव मिलने के महज दो दिन के भीतर यानी 11 जून को कर्नाटक पुलिस ने एक्टर दर्शन को गिरफ्तार कर लिया था. उनपर आरोप है कि पवित्रा गौड़ा के इंस्टाग्राम पर आपत्तिजनक मैसेज और कॉमेंट्स को लेकर उन्होंने कुछ लोगों से रेणुका स्वामी की हत्या कराई. 

इंडिया टुडे से जुड़े नागार्जुन द्वारकानाथ की एक रिपोर्ट के मुताबिक बेंगलुरु पुलिस कमिश्नर बी दयानंद ने व्यक्तिगत रूप से मामले की निगरानी की. जबकि बेंगलुरू वेस्ट के DCP एस गिरीश की जांच के जरिए इस मामले में बड़ी सफलता मिली. मामले की जांच के बाद असिस्टेंट कमिश्नर चंदन कुमार ने एक्टर को गिरफ्तार किया.

आरोपियों के बयान पर हुआ शक

दरअसल घटना के बाद राघवेंद्र, कार्तिक और केशवमूर्ति नाम के तीन व्यक्तियों ने थाने में जाकर सरेंडर किया था. तीनों ने  रेणुका स्वामी का मर्डर कर उनका शव फेंकने की बात कबूली थी. घटना की जांच के दौरान जब DCP एस गिरीश ने उनसे पूछताछ की तो इन सभी के बयान अलग-अलग नजर आए. DCP गिरीश को शक हुआ कि बेंगलुरु के रहने वाले इन आरोपियों ने 200 किलोमीटर दूर चित्रदुर्ग के रहने वाले शख्स का मर्डर क्यों किया होगा. पुलिस टीम फिर पूछताछ के लिए बेंगलुरु के आरआर नगर के एक रेस्टोरेंट मालिक विनय वी तक पहुंची.

वहां पहुंचने पर विनय ने बताया कि एक दर्शन, रेणुका स्वामी की तरफ से पवित्रा गौड़ा के खिलाफ किए गए कमेंट्स से नाराज थे. विनय ने बताया कि दर्शन के कहने पर रेणुका स्वामी को प्रताड़ित किया गया. आगे की जांच में घटना स्थल के पास दर्शन से जुड़ी गाड़ियों के CCTV फुटेज मिले. घटना में दर्शन का कनेक्शन साफ होने के बाद पुलिस की टीम ने एक्टर को गिरफ्तार करने का फैसला किया.

होटल से किया गिरफ्तार

इस काम की जिम्मेदारी विजयनगर के असिस्टेंट कमिश्नर चंदन कुमार को सौंपी गई. पता चला कि दर्शन मैसूर के एक होटल में हैं. 11 जून की सुबह चंदन की अगुवाई में पुलिस की टीम एक्टर को गिरफ्तार करने पहुंची. इस दौरान दर्शन ने पुलिस की गाड़ी की जगह अपनी पर्सनल कार से थाने चलने का आग्रह किया. जिसे ACP ने अस्वीकार कर दिया.

इस दौरान ACP चंदन ने दर्शन से कहा, 

“आप एक आरोपी हैं. आपके पास कोई विकल्प नहीं है. या तो आप पुलिस की गाड़ी में आएं, या फिर हम आपका कॉलर पकड़कर आपको गाड़ी में बिठाने में बिल्कुल संकोच नहीं करेंगे. बेहतर है कि आप खुद पुलिस की गाड़ी में बैठ जाइए.”

कैसे किया मर्डर?

रिपोर्ट के मुताबिक इस केस में कॉल रिकॉर्डिंग और मैसेज के आधार पर पुलिस को पता चला कि रेणुका स्वामी ने कथित तौर पर पवित्रा गौड़ा को सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक बातें कही थीं. रेणुका स्वामी ने कथित तौर पर पवित्रा पर दर्शन और उनकी पत्नी के बीच दरार पैदा करने का आरोप लगाया था. रिपोर्ट में बताया गया कि चित्रदुर्ग में दर्शन के फैन क्लब के सदस्य और आरोपियों में से एक, राघवेंद्र ने रेणुका स्वामी को दर्शन से मिलने के बहाने आरआर नगर स्थित एक शेड में बुलाया. जहां  रेणुका स्वामी के साथ बुरी तरह से मारपीट की गई और बाद में उसकी हत्या कर दी गई.

ये भी पढ़ें: इंस्टाग्राम पर कॉमेंट्स को लेकर शख्स की हत्या, पुलिस ने दो एक्टरों को पकड़ा

जांच में ये बात भी सामने आई कि खुद दर्शन ने भी वहां रेणुका स्वामी के साथ मारपीट की थी. बताते चलें कि 15 जून को बेंगलुरु की एक अदालत ने दर्शन, पवित्रा और बाकी आरोपियों की पुलिस हिरासत को पांच दिन के लिए बढ़ाकर, 20 जून तक कर दिया है.

वीडियो: कोर्ट ने सुनीता केजरीवाल से कहा- अरविंद केजरीवाल का ये वीडियो तुरंत हटाएं

thumbnail

Advertisement

Advertisement