The Lallantop
Advertisement

वायनाड या रायबरेली? राहुल गांधी का जवाब दोनों की जनता को कन्फ्यूज कर गया

राहुल ने कहा कि वे कन्फ्यूज हैं कि कौन सी सीट छोड़ें. जनता की तरफ से आवाज आई वायनाड, मतलब वायनाड के ही सांसद रहें.

Advertisement
Rahul Gandhi is in dilemma about Wayanad and Rae Bareli but he will take a decision soon
कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने केरल में पीएम मोदी पर निशाना साधा. (तस्वीर:PTI)
12 जून 2024 (Updated: 12 जून 2024, 19:27 IST)
Updated: 12 जून 2024 19:27 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

दो जगह से लोकसभा का चुनाव जीतने वाले कांग्रेस सांसद राहुल गांधी कहां जाएंगे? रायबरेली और वायनाड से जीतकर आए राहुल गांधी को लेकर कन्फ्यूजन बरकरार है. 12 जून को उन्होंने वायनाड में कहा कि वो जो भी निर्णय लेंगे उससे दोनों जगह की जनता खुश होगी. लेकिन नियम कहते हैं कि राहुल एक सीट से ही सांसद रह सकते हैं. इस कारण उन्हें एक संसदीय क्षेत्र से इस्तीफा देना होगा. इसके अलावा राहुल गांधी ने अपने भाषण में पीएम नरेंद्र मोदी से लेकर चुनाव आयोग पर सीधा हमला बोला है.

दोनों जगह की जनता खुश होगी

राहुल गांधी 12 जून को केरल की यात्रा पर थे. यहां उन्होंने अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड में जनता को संबोधित किया. अपनी जीत पर पहले तो राहुल ने लोगों को धन्यवाद कहा. उसके बाद उन्होंने लगे हाथ जनता से ही पूछ लिया कि उन्हें कहां से सांसद बने रहना चाहिए. आजतक की रिपोर्ट के अनुसार, राहुल ने कहा कि वे कन्फ्यूज हैं कि कौन सी सीट छोड़ें. जनता की तरफ से आवाज आई वायनाड, मतलब वायनाड के ही सांसद रहें. इसके बाद कांग्रेस नेता ने कहा कि उनके फैसले से दोनों क्षेत्रों की जनता खुश होगी.

राहुल ने कहा,

"आप लोगों ने मुझे जो स्नेह दिया है, उसके लिए मैं वायनाड की जनता का धन्यवाद देना चाहता हूं. कई लोग कयास लगा रहे हैं कि वायनाड या रायबरेली? मैं आपको बताना चाहता हूं कि जो भी फैसला लिया जाएगा, उससे दोनों जगहों की जनता खुश होगी. मैं जल्द ही आप सभी से मिलने फिर आऊंगा."

राहुल गांधी साल 2019 में भी दो सीटों से चुनाव लड़े थे. वायनाड और अमेठी. तब वे अमेठी से हार गए थे. इस बार उन्हें लगातार दूसरी बार वायनाड से जीत मिली है. लेकिन अब उन्हें कोई एक सीट छोड़ने पड़ेगी.

EC पर साधा निशाना

चुनाव नतीजों के बाद अपने पहले वायनाड दौरे पर आए राहुल गांधी ने चुनाव आयोग पर निशाना साधा. उन्होंने आरोप लगाया कि चुनाव आयोग ने पीएम मोदी की चुनावी जरूरतों के ‘अनुरूप’ चुनाव को डिजाइन किया था. राहुल ने कहा कि प्रचार के आखिरी 2-3 दिनों में पीएम मोदी ने कन्याकुमारी में जाकर ध्यान लगाकर चुनाव नियम तोड़े.

राहुल ने कहा, 

“अंतिम चरण में पीएम मोदी ने आखिर के 2-3 दिनों में चुनाव प्रचार का नियम तोड़ा. उन्होंने कन्याकुमारी में जाकर ध्यान किया. जबकि बाकी लोगों को प्रचार नहीं करने के लिए कहा गया था. इन तमाम प्रयासों के बाद भी पीएम को वाराणसी में बड़ी मुश्किल से जीत मिली. बीजेपी की अयोध्या में हार हो गई.”

खबर लिखे जाने तक राहुल के इस आरोप पर चुनाव आयोग की तरफ कोई प्रतिक्रिया नहीं आई थी.

वीडियो: Raebareli Result 2024: रायबरेली में राहुल गांधी की भारी जीत, BJP के दिनेश को कितने वोट मिले?

thumbnail

Advertisement

Advertisement