The Lallantop
Advertisement

उत्तरकाशी सुरंग में फंसे मजदूरों पर पीएम मोदी ने क्या कहा?

41 मज़दूर 12 नवंबर से सुरंग में फंसे हुए हैं. बचाव कार्य जारी है.

Advertisement
pm modi on utarkashi tunnel rescue
उत्तरकाशी सुरंग में फंसे मजदूरों पर पीएम मोदी ने बयान दिया है(फोटो-आजतक).
27 नवंबर 2023
Updated: 27 नवंबर 2023 22:53 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

उत्तराखंड के उत्तरकाशी में सुरंग में फंसे 41 मजदूरों को निकालने का कार्य 15 दिनों से चल रहा है. आज इन मजदूरों पर पीएम मोदी का बयान आया है. हैदराबाद में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि सरकार लगातार उन श्रमिकों को निकालने के लिए प्रयास कर रही है. प्रधानमंत्री बोले, 

"आज जब हम देवी-देवताओं से प्रार्थना कर रहे हैं, मानवता के कल्याण की बात कर रहे हैं, तो हमें अपनी प्रार्थना में उन श्रमिक भाईयों को भी स्थान देना है, जो बीते करीब दो सप्ताह से उत्तराखंड की एक टनल में फंसे हुए हैं. सरकार और तमाम एजेंसियां मिलकर उन्हें संकट से बाहर निकालने में कोई कोर कसर बाकी नहीं छोड़ रही हैं. लेकिन इस राहत और बचाव अभियान को हमें बहुत सतर्कता से ही पूरा करना है."

हादसा दिवाली के दिन 12 नवंबर को हुआ था. सुबह के वक्त सिल्क्यारा को डंडालगांव से जोड़ने वाली निर्माणाधीन सुरंग का एक हिस्सा ढह गया. तभी से वहां 41 मजदूर फंसे हुए हैं. अधिकारियों ने बताया कि मलबे के पीछे फंसे लोगों को पाइप के ज़रिए खाना-पानी भेजा जा रहा है. अधिकारी लगातार उनके साथ संपर्क में हैं. फंसे लोग बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश से हैं. मलबा 65 से 70 मीटर तक फैला हुआ है. सबसे पहले गिरे हुए मलबे को हटाकर अंदर पहुंचने का प्लान था. हालांकि, इस ऑपरेशन के वक्त छत से अलग मलबा गिरता रहा. टीम 21 मीटर अंदर ही पहुंच सकी. इसके बाद मशीन से ड्रिलिंग कर पाइप डालने का प्लान बनाया गया. 

आगे की ड्रिलिंग में ऑगर मशीन को नुकसान पहुंचा, तो काम रोका गया. अब मशीन के टूटे हिस्से निकाले जाएंगे. इस कार्य के लिये रैट माइनर्स को भी बुलाया गया है, जो हाथ से बचाव सुरंग खोदेंगे. पहाड़ के ऊपर से वर्टिकल ड्रिलिंग भी जारी है. सारा काम सेना के मद्रास इंजीनियर ग्रुप की निगरानी में हो रहा है.

thumbnail

Advertisement

Advertisement

Advertisement