The Lallantop
Advertisement

महाराष्ट्र के पूर्व CM अशोक चव्हाण ने छोड़ी कांग्रेस पार्टी, इस्तीफे में क्या लिखा?

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और दिग्गज नेता Ashok Chavan ने कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया. उन्होंने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले को पत्र भेज इस्तीफा देने का एलान किया.

Advertisement
Ashok Chavan, Maharastra politics, Congress
महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और दिग्गज नेता अशोक चव्हाण ने इस्तीफा दे दिया (PTI)
12 फ़रवरी 2024 (Updated: 12 फ़रवरी 2024, 13:54 IST)
Updated: 12 फ़रवरी 2024 13:54 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

कांग्रेस पार्टी (Congress) को लोकसभा चुनाव 2024 से पहले बड़ा झटका लगा है. महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और दिग्गज नेता अशोक चव्हाण (Ashok Chavan resigns) ने कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया. उन्होंने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले को भेजे अपने पत्र में कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देने का एलान किया. उन्होंने कांग्रेस ही नहीं बल्कि विधानसभा के सदस्य के रूप में भी इस्तीफा दे दिया है. ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि चव्हाण बीजेपी (BJP) में शामिल हो सकते हैं.  

अशोक चव्हाण ने कांग्रेस से इस्तीफे की जानकारी देते हुए कहा,

 ‘मैं 12/02/2024 की दोपहर से भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से अपना इस्तीफा सौंपता हूं.’

नांदेड़ से विधायक अशोक चव्हाण ने 11 जनवरी को महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रभारी रमेश चेन्निथला से मुलाकात की थी. इस दौरान दोनों नेताओं के बीच काफी देर तक बात हुई थी. अशोक चव्हाण 8 दिसंबर 2008 से 9 नवंबर 2010 तक महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री रहे थे. उनकी गिनती महाराष्ट्र में कांग्रेस के सबसे प्रभावशाली नेताओं में की जाती रही है. उन्हें राजनीतिक विरासत अपने पिता शंकरराव चव्हाण से मिली थी. वो भी दो बार महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री रहे. अशोक चव्हाण साल 2015 से 2019 तक महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष की जिम्मेदारी भी निभा चुके हैं.

फडणवीस ने क्या कहा?

इस पूरे मामले को लेकर राज्य के डिप्टी सीएम और बीजेपी के दिग्गज नेता देवेन्द्र फडणवीस का बयान सामने आया है. उन्होंने कहा,

'मैंने मीडिया से अशोक चव्हाण के बारे में सुना. लेकिन मैं अभी केवल यही कह सकता हूं कि कांग्रेस के कई अच्छे नेता भाजपा के संपर्क में हैं. जो नेता जनता से जुड़े हैं, वो कांग्रेस पार्टी में घुटन महसूस कर रहे हैं. मुझे विश्वास है कि कुछ बड़े चेहरे कांग्रेस से BJP में शामिल होंगे. आगे-आगे देखिये होता है क्या...'

बाबा सिद्दीकी ने दिया इस्तीफा

इससे पहले महाराष्ट्र सरकार में मंत्री रहे बाबा सिद्दीकी (Baba Siddique) ने 8 फरवरी को कांग्रेस (Congress) पार्टी से इस्तीफा दे दिया था. वो बांद्रा पश्चिम से तीन बार विधायक रहे हैं. बाबा सिद्दीकी ने लगभग पांच दशकों के बाद पार्टी का साथ छोड़ा. कांग्रेस पार्टी छोड़ने की घोषणा करते हुए बाबा सिद्दीकी ने लिखा,

‘मैं एक किशोर के रूप में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी में शामिल हुआ था. 48 सालों की महत्वपूर्ण यात्रा के बाद आज मैं कांग्रेस पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देता हूं. मैं बहुत कुछ व्यक्त करना चाहता हूं लेकिन कुछ चीजें अनकही ही रहें तो बेहतर हैं. मैं उन सभी को धन्यवाद देता हूं जो इस यात्रा का हिस्सा रहे हैं.’

बाबा सिद्दिकी ने उपमुख्यमंत्री अजित पवार की अगुवाई वाली राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) का दामन थामा था. वहीं इस साल जनवरी में वरिष्ठ नेता मिलिंद देवरा (Milind Deora) ने भी कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे  दिया था. इस इस्तीफे के साथ ही कांग्रेस के साथ उनका और उनके परिवार का 55 सालों का रिश्ता खत्म हो गया था. वो एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) के नेतृत्व वाली ‘असली’ शिवसेना में शामिल हुए थे.

वीडियो: बिहार फ्लोर टेस्ट से पहले विधायकों की बाड़बंदी, एक MLA किडनैप! तेजस्वी के घर क्यों गई पुलिस?

thumbnail

Advertisement