The Lallantop
Advertisement

जेल से लॉरेंस बिश्नोई जो कर रहा... NIA के ये खुलासे बहुत डराने वाले हैं!

लॉरेंस बिश्नोई गैंग में फिलहाल 700 से ज्यादा शूटर हैं. इतना बड़ा साम्राज्य कि पूछो मत...

Advertisement
Goldy brar, Lawrence bishnoi, NIA
गोल्डी बरार और लॉरेंस बिश्नोई (Twitter)
26 जून 2023 (Updated: 26 जून 2023, 13:09 IST)
Updated: 26 जून 2023 13:09 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई (Lawrence Bishnoi). कभी जेल में इंटरव्यू देकर विवादों में आता है तो कभी सलमान खान को जान से मारने की खुली धमकी देकर. सिद्धू मूसेवाला की हत्या में भी लॉरेंस का नाम सामने आया. फिलहाल NIA ने जो खुलासा किया है, वो डराने वाला है. राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) की दाखिल चार्जशीट में बताया गया है कि बिश्नोई और उसका टेरर सिंडिकेट सिर्फ पंजाब, राजस्थान तक सीमित नहीं है. उसका सिंडिकेट कई देशों में फैला हुआ है. जिसमें उसका सबसे बड़ा मददगार है कनाडा में बैठा गैंगस्टर गोल्डी बराड़.

आज तक से जुड़े अरविंद ओझा की रिपोर्ट के मुताबिक आज की तारीख में बिश्नोई गैंग में करीब 700 से ज्यादा शूटर हैं जिसमें 300 पंजाब से जुड़े हैं. गैंग में इन शूटर्स को सोशल मीडिया और तमाम अलग-अलग तरीके से रिक्रूट किया जाता है. NIA ने लॉरेंस बिश्नोई से पूछताछ और जांच के बाद खुलासा किया कि साल 2019 से लेकर 2021 तक जेल में बंद लॉरेंस ने करोड़ों रुपए एक्सटोर्शन के जरिए कमाए. और फिर इन पैसों को हवाला के जरिए विदेश में बैठे अपने साथियों गोल्डी बराड़, काला राणा और मनीष भंडारी के पास भेज दिया. NIA रिपोर्ट में ये भी खुलासा हुआ है कि कभी सिर्फ पंजाब तक सीमित यह गैंग अब उत्तर प्रदेश, हरियाणा, महाराष्ट्र, दिल्ली, राजस्थान और झारखंड जैसे राज्यों में भी फैल चुका है.

कौन है लॉरेंस बिश्नोई?

लॉरेंस बिश्नोई कौन है, पहले ये जान लीजिए. लॉरेंस स्टूडेंट ऑर्गेनाइजेशन ऑफ पंजाब यूनिवर्सिटी नाम का एक संगठन चलाता था. लेकिन अब वो पंजाब, हरियाणा और राजस्थान में लॉरेंस बिश्नोई एक आतंक का नाम है. पंजाब के फाजिल्का के अबोहर के रहने वाले लॉरेंस के पिता लविंद्र कुमार पंजाब पुलिस में कॉन्स्टेबल रह चुके हैं. उसके पास पुश्तैनी जमीन के नाम पर करीब सात करोड़ रुपये की प्रॉपर्टी है.

पढ़ाई के दौरान ही उसने अपना छात्र संगठन सोपू बनाया और उसके बैनर तले स्टूडेंट यूनियन के अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ा. उसके सामने चुनावी मैदान में उदय सह और डग का ग्रुप था, जिससे लॉरेंस चुनाव हार गया. इस हार के बाद चंडीगढ़ के सेक्टर 11 में फरवरी 2011 में एक दिन लॉरेंस और उसके विरोधी गुट का आमना-सामना हो गया. इस दौरान लॉरेंस ने उदय सह के ग्रुप पर फायरिंग कर दी. ये पहली बार था, जब लॉरेंस ने फायरिंग की थी. दूसरी तरफ से भी फायरिंग हुई. पुलिस ने जब केस दर्ज किया, तो उसमें लॉरेंस का भी नाम था. 

ये पहला मुकदमा था, जो लॉरेंस के नाम पर दर्ज हुआ था. इसके बाद से लेकर अब तक लॉरेंस पर करीब 50 मुकदमे दर्ज हो चुके हैं, जिनमें से 30 में वो बरी हो चुका है. फिलहाल लॉरेंस बिश्नोई फिलहाल तिहाड़ की जेल में बंद है और उस पर आरोप है कि वो जेल से बैठकर अपना गैंग ऑपरेट कर रहा है. उसके गैंग में 700 शूटर हैं जो कनाडा समेत विदेशों में मौजूद हैं. वहीं एक्टर सलमान खान को धमकी देने और साल 2022 में पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में नाम आने के बाद से बिश्नोई का नाम काफी चर्चा में आ गया. आप लॉरेंस के बारे में और जानकारी यहां पढ़ सकते हैं. 

कौन है गोल्डी बराड़?

गोल्डी बराड़ का असली नाम सतिंदर सिंह है. पंजाब के श्री मुक्तसर साहिब के रहने वाले गोल्डी का जन्म 1994 में हुआ था. वो साल 2017 में छात्र वीजा पर कनाडा गया था. गोल्डी BA की डिग्री हासिल कर चुका है. वो A+ कैटेगरी का गैंगस्टर है. वो लंबे समय से विदेश में रहते हुए अपने गैंग को ऑपरेट करता रहा है. बताया जाता है कि बिश्नोई के साथ मिल कर ही वो मर्डर, किडनैपिंग, वसूली जैसे अपराधों को अंजाम देता है. पंजाब में चलने वाले वसूली रैकेट में लॉरेंस बिश्नोई के साथ गोल्डी बराड़ भी बड़ा नाम है.

गोल्डी बराड़ पर हत्या, हत्या की कोशिश, रंगदारी जैसे संगीन मामले दर्ज हैं. गोल्डी पर पंजाब में कुल 16 मामले दर्ज हैं, जिनमें चार में वो बरी हो चुका है. कोर्ट ने उसे भगोड़ा घोषित किया हुआ है. आप गोल्डी बराड़ के बारे में और जानकारी यहां पढ़ सकते हैं. 

लॉरेंस, गोल्डी और उनके गैंग पर NIA के खुलासे चौंकाने वाले हैं. जेल में रहकर लॉरेंस इतना बड़ा सिंडिकेट कैसे चला रहा है, ये एक बड़ा सवाल है. देखने वाला होगा कि उसका ये साम्राज्य खत्म करने के लिए और क्या किया जाता है. सरकार की तरफ से.

वीडियो: योगेश्वर दत्त को लेकर भड़क उठे बजरंग, साक्षी और विनेश

thumbnail

Advertisement