amritpal singh detained from punjab,

अमृतपाल सिंह को पंजाब पुलिस ने पकड़ा

पंजाब में इंटरनेट और SMS सेवाएं बंद की गईं.
amritpal singh
अमृतपाल सिंह(फोटो: आजतक)
pic
Invalid Date Invalid Date
Small
Medium
Large
Small
Medium
Large

पंजाब पुलिस ने अमृतपाल सिंह को हिरासत में ले लिया है. पुलिस ने उसे पंजाब के जालंधर जिले के नाकोदर से पकड़ा. आज सुबह से ऐसी खबरें आ रही थीं कि अमृतपाल सिंह को पकड़ने के लिए पंजाब पुलिस फोर्स उसका पीछा कर रही हैं. फिलहाल उसे हिरासत में लिए जाने की खबर सामने आई है. इससे पहले उसके 6 साथियों को भी हिरासत में लिया गया था. (खबर लिखे जाने के ये जानकारी सामने आई कि अमृतपाल सिंह अभी फरार.)

इधर अमृतपाल सिंह के पकड़े जाने के बीच पंजाब सरकार के गृह मंत्रालय की तरफ से इस बात की जानकारी भी दी गई है. बताया गया है कि पंजाब में इंटरनेट सर्विस भी बंद कर दी गई हैं. 

 इस बीच खबर ये भी आ रही है कि अमृतपाल के और 50 से ज्यादा साथियों को हिरासत में लिया जा चुका है. वहीं पंजाब पुलिस अमृतपाल के सहयोगी दलजीत सिंह और लवप्रीत तूफान की तलाश कर रही है.  पंजाब के कई हिस्सों में धारा 144 लगा दी गई है. इसके साथ ही पुलिस अमृतपाल के साथियों को पकड़ने के लिए कई जगह दबिश दे रही है. 

अमृतपाल सिंह के पकड़े जाने की खबरों के बीच पंजाब पुलिस ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है. पंजाब पुलिस की तरफ से ट्विटर पर जारी किए गए बयान में कहा गया है कि-

‘सोशल मीडिया पर अफवाहों से बचें. सभी नागरिकों से अनुरोध है कि शांति और सद्भाव बनाए रखें. पंजाब पुलिस कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए काम कर रही है. नागरिकों से अनुरोध है कि वे घबराएं नहीं और फर्जी समाचार या अभद्र भाषा न फैलाएं.’

इससे पहले अमृतपाल फरवरी महीने में चर्चा में आया था. तब  खालिस्तानी नेता अमृतपाल सिंह के समर्थकों ने कथित तौर पर पंजाब के अमृतसर के अजनाला थाने में हिंसा की थी. आरोप है कि अमृतपाल सिंह के कई समर्थकों ने तलवारों और बंदूकों के साथ पुलिस बैरिकेड़स पर हमला किया. उसे तोड़ दिया.

ऐसा क्यों हुआ? क्योंकि किडनैप और हमले के केस में पुलिस ने अमृतपाल सिंह के सहयोगियों लवप्रीत तूफान और बलदेव सिंह को अरेस्ट कर लिया था. और पुलिस थाने पर हिंसा करने वाले लोग इस अरेस्ट का विरोध कर रहे थे. इस भीड़ में अमृतपाल सिंह भी शामिल था. अमृतपाल सिंह और उसके समर्थकों ने अमृतपाल सिंह को अरेस्ट करने की मांग की. पंजाब पुलिस ने अरेस्ट नहीं किया.

कौन है अमृतपाल सिंह?

अमृतपाल सिंह. उम्र 29 साल. और अभी-अभी इसने एक संगठन की बागडोर संभाली है. इस संगठन का नाम है – ‘वारिस पंजाब दे’. और इस संगठन की कहानी जाकर जुड़ती है दीप सिद्धू से. अभिनेता और एक्टिविस्ट संदीप सिंह उर्फ़ दीप सिद्धू जो 26 जनवरी 2021 को लालक़िले पर खालसा पंथ का झंडा फहराने को लेकर ख़बरों में आए थे और 15 फ़रवरी 2022 को एक सड़क हादसे में उनकी मौत हो गई. अपनी मौत से छह महीने पहले यानी सितंबर 2021 में सिद्धू ने ‘वारिस पंजाब दे’ की नींव रखी थी.


दीप सिद्धू की मौत के बाद अमृतपाल सिंह दुबई से भारत आया, और उसने इस संगठन की बागडोर सम्हाल ली. खुद को इस संगठन का मुखिया घोषित कर दिया. जबकि पहले न तो वो दीप सिद्धू से कभी मिला था, न ही उसकी मौत के बाद भी भारत ही आया था.
 

खबर अपडेट हो रही है.


वीडियो: दी लल्लनटॉप शो: खालिस्तान और भिंडरांवाले का समर्थक अमृतपाल सिंह क्या कुछ बड़ा प्लान कर रहा है?

और भी

कॉमेंट्स
thumbnail