The Lallantop
Advertisement

क्लासमेट के पिता गुजर गए, दोस्तों ने घर बनवाने के लिए 8 लाख इकट्ठा कर दिए

अंसिया का घर जर्जर हालत में था. उसके परिवार की आर्थिक हालत अच्छी नहीं थी. अंसिया के पिता का इस साल निधन हो गया था. ऐसे में अंसिया के परिवार के लिए उसी मकान में रहना मुश्किल हो गया था.

Advertisement
classmates raised 8 lakh for girl
अंसिया के क्लासमेट्स ने मात्र 100 दिनों में 8 लाख रुपये जुटा दिए (फोटो-इंडिया टुडे)
font-size
Small
Medium
Large
29 नवंबर 2023
Updated: 29 नवंबर 2023 08:14 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

केरल के एक स्कूल के बच्चों ने सामाजिक एकता की मिसाल पेश की है. उन्होंने स्कूल की एक छात्रा का घर बनवाने के लिए लाखों रुपये जुटा लिए. मामला केरल के तिरुवनंतपुरम स्थित सरकारी स्कूल का है. यहां पढ़ने वाली एक छात्रा अंसिया के क्लासमेट्स ने उसके लिए मात्र 100 दिनों के भीतर 8 लाख रुपये जुटा लिए. 

कैसे जुटाए 8 लाख?

खबर के मुताबिक, अंसिया का घर जर्जर हालत में था. उसके परिवार की आर्थिक हालत अच्छी नहीं थी. अंसिया के पिता का इस साल निधन हो गया था. ऐसे में अंसिया के परिवार के लिए उसी मकान में रहना मुश्किल हो गया था. इस बीच कुछ क्लासमेट्स जब अंसिया के क्लासमेट्स ने उसकी मदद करने का फैसला लिया.

लेकिन घर बनवाना इतना आसान नहीं था. तो बच्चों ने एक नया तरीका सोचा. इंडिया टुडे की खबर के मुताबिक, उन्होंने कई तरह के फंडरेजिंग कार्यक्रम शुरू करने का तय किया. कार्यक्रमों के तहत उन्होंने खाने के स्टॉल लगाए, कुछ सामान भी बेचे और एक अखबार की प्रतियोगिता में भी हिस्सा लिया. स्टूडेंट्स ने इस फंड का एक हिस्सा स्कूल यूनिफॉर्म्स बेचकर भी जुटाया.

रिपोर्ट के मुताबिक फंड्स जुटाने वाले स्टूडेंट्स में से एक ने बताया, 

“हमने इसे 100 दिनों में पूरा करने का लक्ष्य रखा था. इसके लिए हमने एक काउंटडाउन चार्ट भी बनाया.”

अपने स्टूडेंट्स के इस सराहनीय कदम की तारीफ करते हुए स्कूल की प्रिंसिपल मंजुषा ए आर ने बताया, 

“बाकी स्टूडेंट्स जब अंसिया के घर गए थे तो उन्होंने उसका जर्जर मकान देखकर अपनी क्लासमेट की मदद करने का फैसला लिया. हमारे स्कूल के इतिहास में ये यादगार दिन है. हमारे टीचिंग करियर में ये सुनहरे दिन की तरह है.”

अंसिया भी अपने क्लासमेट्स के इस तरह के सपोर्ट से खुश हैं. अपने क्लासमेट्स का आभार जताते हुए अंसिया कहती हैं,

“मेरे पिता के गुजरने के बाद घर में बस मैं, मेरी मां, बड़ी बहन और दादी हैं. हम उस घर में नहीं रह पा रहे थे. जिस तरह से उन्होंने मेरे लिए पैसे जुटाए, मुझे उन पर गर्व है.”

दोस्तों की मदद से  बना अंसिया का घर( फोटो-इंडिया टुडे)

अंसिया के क्लासमेट्स ने सिर्फ उसके घर के लिए ही फंड ही नहीं जुटाया, बल्कि उन्होंने इस खास मौके पर 100 पौधे भी लगाए. जरुरतमंद लोगों को फूड पैकेट्स भी बांटे. एक ब्लड डोनेशन कैंप लगाया जिसमें 50 लोगों ने रक्तदान भी किया. शहर में 25 जगहों पर साफ-सफाई भी की. 

आप इस पूरी खबर पर क्या सोचते हैं हमें कॉमेंट बॅाक्स में बताएं.

(यह भी पढ़ें:उत्तरकाशी सुरंग हादसा: इन मशीनों और 'चूहा' तकनीक के बिना मजदूरों का बाहर आना और मुश्किल होता )

thumbnail

Advertisement