The Lallantop
Advertisement

अपने खुलासों से दुनिया हिलाने वाले जूलियन असांज जेल से रिहा, अमेरिका ने इसकी क्या कीमत मांगी?

WikiLeaks (विकिलीक्स) के संस्थापक जूलियन असांज (Julian Assange) को जेल से रिहा कर दिया गया है. अमेरिकी न्याय विभाग के साथ हुई डील के बाद उन्हें लंदन की हाई सिक्योरिटी जेल से छोड़ दिया गया है. रिहाई के बाद असांज अपने मूल देश ऑस्ट्रेलिया जाएंगे.

Advertisement
julian assange free from british jail
जूलियन असांज को अभिव्यक्ति की आज़ादी का पुरोधा भी माना जाता है. (फ़ोटो - AP)
font-size
Small
Medium
Large
25 जून 2024 (Updated: 25 जून 2024, 09:54 IST)
Updated: 25 जून 2024 09:54 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज (Julian Assange) ब्रिटेन के बेलमार्श में अधिकतम सुरक्षा वाली जेल में बंद थे. कुल 1,901 दिन बिताने के बाद सोमवार, 24 जून को उन्हें रिहा कर दिया गया. इस शर्त पर कि वो उनपर लगे आरोप क़ुबूल करते हैं. आरोप कि उन्होंने सेना से जुड़ी कुछ गोपनीय जानकारी साझा की थी.

इस हफ़्ते के अंत में जूलियन को अमेरिका के मारियाना द्वीप की संघीय अदालत में पेश किया जाएगा. जस्टिस डिपार्टमेंट के मुताबिक़, वो स्वीकार करेंगे कि उन्होंने जासूसी अधिनियम (Espionage Act) के तहत राष्ट्रीय रक्षा सूचना की अवैध तस्करी की है. इस क़ुबूलनामे के साथ दुनिया के कई देशों तक फैले और दशकों से चले आ रहे क़ानूनी विवाद का अंत हो जाएगा.

जूलियन असांज कौन हैं?

- जन्म से ऑस्ट्रेलियाई. कर्म से ऐक्टिविस्ट. सीक्रेट डॉक्यूमेंट्स लीक करने वाले नॉन-प्रॉफिट मीडिया संगठन विकीलीक्स (WikiLeaks) के फ़ाउंडर.

- कुछ के लिए नायक, कुछ के लिए खलनायक. कुछ लोगों की नज़र में क्रांतिकारी, कुछ की नज़र में सनकी और अपराधी. कुछ कहते हैं, उनको नोबेल मिलना चाहिए. कुछ कहते हैं, उनको गोली मार देनी चाहिए.

- 2010 में चर्चा में आए थे. जब विकीलीक्स ने अफ़गानिस्तान और इराक़ युद्ध के वक़्त के बहुत सारे अमेरिकी सैन्य दस्तावेज़ रिलीज़ कर दिए थे. जैसे, उसमें 2007 का एक वीडियो था, जिसमें इराक़ में एक अमेरिकी हेलीकॉप्टर से चली गोली से दो लोगों की मौत हो गई थी. इसे अमेरिकी सैन्य इतिहास में सबसे बड़ा सुरक्षा उल्लंघन माना गया था. इससे दुनिया भर में चर्चा छिड़ गई. मौज़ू वही - अभिव्यक्ति की आज़ादी बनाम राष्ट्रीय सुरक्षा.

उनके ऊपर सीक्रेट जानकारियां लीक करने, अमेरिकी नागरिकों की जान ख़तरे में डालने समेत 18 संगीन आरोप हैं. अगर उनपर ये तमाम आरोप साबित हो जाते हैं, तो उनको 175 बरस तक की जेल हो सकती है. फ़रवरी में जब उन्हें अमेरिका लाने की बात हो रही थी, तभी से उनके वकील कह रहे थे - अमेरिका में उनकी जान को ख़तरा है, वहां उनकी हत्या कर दी जाएगी.

ये भी पढ़ें - जूलियन असांज: किसी के लिए क्रिमिनल, किसी के लिए क्रांतिकारी

अंतरराष्ट्रीय मीडिया संगठन अपनी रिपोर्ट कर रहे हैं कि आरोप स्वीकारने के बाद असांज को 62 महीने की जेल हो सकती है, जिसमें ब्रिटेन की जेल में बिताए गए पांच साल भी शामिल हैं. मतलब ये कि वो अपने वतन ऑस्ट्रेलिया लौट सकते हैं.

वीडियो: दुनियादारी: अमेरिका का सबसे घटिया सच बताया, अमेरिका मर्डर करा देगा?

thumbnail

Advertisement

Advertisement