The Lallantop
Advertisement

अमेरिका में भारतवंशी छात्र को क्लब में एंट्री नहीं मिली, बाहर ठंड से जान चली गई

Champaign County Coroner’s Office ने छात्र के मौत की पुष्टि की है. मौत का कारण Hypothermia बताया गया है.

Advertisement
Indian origin student denied club entry
भारतीय छात्र की हाइपोथर्मिया से मौत हो गई. (फोटो क्रेडिट - Akul Dhawan\Instagram)
font-size
Small
Medium
Large
23 फ़रवरी 2024 (Updated: 23 फ़रवरी 2024, 10:14 IST)
Updated: 23 फ़रवरी 2024 10:14 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

अमेरिका में भारतीय छात्रों की मौत सुर्खियों में है (Indian students death in USA). बीते दो महीनों में अमेरिका(USA) में कई भारतीय छात्रों की मौत की ख़बरें आईं. मामला इतना गंभीर हो गया कि अमेरिकी सरकार ने भी इस बात को लेकर चिंता जताई. इस बीच एक और भारतीय मूल के अमेरिकी छात्र की मौत को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है. दरअसल, अकुल धवन का शव 20 जनवरी को इलिनोइस के चैंपेन में यूनिवर्सिटी कैंपस के पास मिला था. अब चैंपेन काउंटी कोरोनर ऑफ़िस ने अकुल की मौत का कारण हाइपोथर्मिया (Hypothermia) को बताया है.

आजतक की रिपोर्ट के मुताबिक़, पुलिस ने बताया कि अकुल अपने दोस्तों के साथ शराब पी रहा था. देर रात अकुल कैंपस के पास मौजूद एक क्लब में गया. इस दौरान उसके दोस्तों को तो क्लब में एंट्री मिल गई, लेकिन क्लब स्टाफ ने अकुल को एंट्री देने से मना कर दिया.

ये भी पढ़ें - अमेरिका में भारतीय छात्र की जंगल में मिली थी लाश, वजह पता चली!

हाइपोथर्मिया से मौत

शरीर के तापमान में अचानक कमी होइपोथर्मिया का कारण होता है. ज़रूरी नहीं कि हाइपोथर्मिया होने की वजह कोई बीमारी ही हो. ज़्यादा वक़्त तक ठंड में रहना भी इसका कारण हो सकता है. जिस रात अकुल की मौत हुई, उस रात तापमान -2.7 डिग्री सेल्सियस था. अकुल को रात भर उसके दोस्त फोन करते रहे, लेकिन उसने फोन नहीं उठाया. इसके बाद उसके एक दोस्त ने पुलिस को जानकारी दी. फिर भी अकुल का पता नहीं लगाया जा पाया. अगली सुबह अकुल की लाश कैंपस के पीछे मिली. पुलिस ने मौत की वजह बहुत ज़्यादा शराब पीना और हाड़ कंपा देने वाली ठंड को बताया.

अकुल के परिवार ने क्या कहा...

अकुल के माता-पिता कैलिफोर्निया के सैन फ्रांसिस्को बे एरिया में रहते हैं. उन्होंने अकुल की मौत को लेकर पुलिस के नाम खुली चिट्ठी लिखी थी. उन्होंने पुलिस पर सवाल खड़े किए. परिवार ने बताया, 

“हम लगातार पूछते रहे कि शव अकुल के लापता होने के 10 घंटे बाद क्यों मिला. अगर उसे समय रहते ढूंढ लिया जाता, तो उसे बचाया जा सकता था. जहां से वो लापता हुआ था और जहां पर उसका शव मिला उसकी दूरी सिर्फ 200 फीट थी.”

अकुल के माता पिता का कहना है कि पुलिस ने उनके बेटे के लापता होने की ख़बर को सीरियस नहीं लिया.

 

 

वीडियो: अमेरिका में भारतीय छात्र को 7 महीने बंधक बनाया, मजदूरी कराई, अब तक क्या पता चला?

thumbnail

Advertisement