The Lallantop
Advertisement

'भारत सरकार ने कई अकाउंट को ब्लॉक करने का आदेश दिया', X ने 'असहमति' के साथ एक्शन लिया

हाल ही में किसान नेता सरवन सिंह पंढेर ने दावा किया था कि कई किसानों और यूट्यूबर्स के सोशल मीडिया अकाउंट सस्पेंड कर दिए गए हैं.

Advertisement
X says, Indian government has issued orders act on specific accounts
X ने कहा है कि वो भारत सरकार के आदेश से सहमत नहीं है. (एलन मस्क और PM मोदी की फाइल फोटो: PTI)
22 फ़रवरी 2024 (Updated: 22 फ़रवरी 2024, 18:31 IST)
Updated: 22 फ़रवरी 2024 18:31 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म X (पहले ट्विटर) ने एक बार फिर कहा है कि भारत सरकार ने उसे कुछ अकाउंट और पोस्ट पर एक्शन लेने का आदेश दिया है. X के मुताबिक, कंपनी भारत सरकार के इस आदेश से सहमत नहीं है, इसे वो अभिव्यक्ति की आजादी का उल्लंघन मानती है. हालांकि, फिर भी कंपनी सरकारी आदेश का पालन कर रही है. X की Global Government Affairs टीम ने पोस्ट कर इसकी जानकारी दी है. बता दें कि हाल ही में सूत्रों के हवाले से खबर आई थी कि मोदी सरकार ने किसानों के प्रदर्शन से जुड़े कई सोशल मीडिया अकाउंट को ब्लॉक करने का आदेश दिया है.

X ने बताया- ‘सिर्फ भारत में ब्लॉक कर रहे अकाउंट’

अब X की ओर से भी कहा गया है कि उसे भारत सरकार ने कुछ अकाउंट पर कार्रवाई करने का आदेश दिया है. X की टीम ने ट्वीट किया,

"भारत सरकार ने कार्यकारी आदेश जारी किए हैं, जिसमें X को कुछ अकाउंट और पोस्टों पर कार्रवाई करने के लिए कहा गया है, ऐसा ना करने पर जुर्माना और जेल भी संभव है.

आदेशों के अनुपालन में, हम इन अकाउंट और पोस्ट को केवल भारत में रोक रहे हैं; हालांकि, हम इस कार्रवाई से असहमत हैं और मानते हैं कि अभिव्यक्ति की आजादी इन अकाउंट और उनकी पोस्ट की भी है."

X के इस ट्वीट में जानकारी दी गई है कि भारत सरकार की ओर से ‘अकाउंट ब्लॉक करने के आदेशों’ को चुनौती देने वाली उनकी एक रिट अपील पेंडिंग है.  

ये भी पढ़ें- एक पैन कार्ड पर एक हज़ार अकाउंट..इन वजहों से Paytm पेमेंट बैंक पर RBI ने लगाया बैन

X की Global Government Affairs टीम ने आगे बताया,

"हमने अपनी नीतियों के तहत प्रभावित लोगों को इन कार्रवाइयों की सूचना भी दी है.

कानूनी प्रतिबंधों के कारण, हम भारत सरकार के कार्यकारी आदेशों को यहां पब्लिश नहीं कर सकते हैं, लेकिन हमारा मानना ​​है कि पारदर्शिता के लिए उन्हें सार्वजनिक करना जरूरी है. सार्वजनिक ना करने पर जवाबदेही तय नहीं होगी और मनमाने फैसले बढ़ेंगे."

कांग्रेस बोली- 'हमारे लोकतंत्र का मजाक….'

कांग्रेस के सोशल मीडिया और डिजिटल प्लेटफॉर्म की चेयरपर्सन सुप्रिया श्रीनेत ने X की टीम के इस ट्वीट को शेयर किया है. साथ ही, पीएम मोदी पर तंज कसते हुए लिखा है,

"भारत के लिए वैश्विक गौरव

आपने हमारे लोकतंत्र को मजाक बनाकर रख दिया है मिस्टर मोदी"

सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि हाल के दिनों में देश में तमाम X अकाउंट बिना मतलब के बंद कर दिए गए हैं. उन्होंने भारत सरकार के आदेश को लेकर X के इस बयान को जरूरी बताया है. 

बता दें कि हाल ही में किसान नेता सरवन सिंह पंढेर ने दावा किया था कि कई किसानों और यूट्यूबर्स के सोशल मीडिया अकाउंट सस्पेंड कर दिए गए हैं. वहीं सूत्रों के हवाले से भी ये खबर आई थी कि किसानों के विरोध प्रदर्शन से जुड़े अकाउंट ब्लॉक करने का आदेश दिया गया है. बताया गया था कि सरकार ने लगभग 177 सोशल मीडिया अकाउंट और वेब लिंक को अस्थायी रूप से ब्लॉक करने को कहा है.

कंपनी के साथ सरकार की पुरानी तकरार

ऐसा पहली बार नहीं है जब एक्स को सरकार ने इस तरह का आदेश दिया है. पिछले सालों में ये आंकड़ा बढ़ा भी है. साल 2022 में एक्स (ट्विटर) ने 3,417 ट्विटर URL ब्लॉक किए थे. जबकि, 2014 में सिर्फ 8 ट्विटर URL ब्लॉक किए गए थे.

जुलाई 2022 में केंद्र सरकार की ओर से कुछ ट्वीट्स और अकाउंट्स ब्लॉक करने के आदेश के खिलाफ X कोर्ट चला गया था. तब कहा था कि केंद्र सरकार की ओर से अकाउंट और ट्वीट्स ब्लॉक करने के लिए दिए गए 39 आदेश गैरकानूनी हैं. हालांकि कर्नाटक हाई कोर्ट ने पिछले साल सरकार के पक्ष में ही फैसला सुनाया. और कहा था कि सरकारी आदेश का पालन करना होगा.

वीडियो: Farmers Protest: किसान की 'मौत' पर पंजाब और हरियाणा की सरकार आमने-सामने

thumbnail

Advertisement

election-iconचुनाव यात्रा
और देखे

Advertisement

Advertisement