The Lallantop
Advertisement

शांति की कोशिशों के बीच हमास के 'भाइयों' ने जेरूसलम में बरसाई गोलियां, जज समेत 3 की मौत

यह घटना तब हुई है जब इज़रायल और हमास के बीच 6 दिनों से चल रहे संघर्ष विराम को और एक दिन के लिए बढ़ा दिया गया है. इस हमले के बाद दोनों के बीच तनाव बढ़ने की आशंका जताई जा रही है.

Advertisement
hamas gunmen killed three israeli in jerusalem bus stop amid ceasefire
हमास के हमलावरों ने इज़रायल की राजधानी जेरुसलम में तीन लोगों को मार गिराया. (क्रेडिट:AP/India Today)
30 नवंबर 2023 (Updated: 30 नवंबर 2023, 24:15 IST)
Updated: 30 नवंबर 2023 24:15 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

हमास (Hamas) के दो हमलावरों ने 30 नवंबर को इज़रायल की राजधानी जेरूसलम (Jerusalem) के प्रवेश द्वार पर तीन लोगों को गोलियों से भून दिया. बस स्टॉप के पास हुई इस गोलीबारी में आठ अन्य लोग घायल भी हुए हैं. मौके पर मौजूद सुरक्षाकर्मियों ने जवाबी कार्रवाई में हमास के दोनों बंदूकधारियों को मार गिराया. यह घटना तब हुई है जब इज़रायल और हमास के बीच 6 दिनों से चल रहे संघर्ष विराम को और एक दिन के लिए बढ़ा दिया गया है. इस हमले के बाद दोनों के बीच तनाव बढ़ने की आशंका जताई जा रही है.

मृतकों में महिलाएं भी शामिल

इंडिया टुडे’ की रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस ने बताया कि हमास के आतंकी जेरूसलम के प्रवेश द्वार पर तड़के सुबह एक सफेद रंग की कार से पहुंचे. उनके पास एक एम-16 राइफल और हैंडगन थी. उन्होंने वहीं आम नागरिकों पर गोलिया बरसानी शुरू कर दीं. इससे वहां भगदड़ मच गई. इसी बीच तीन लोग गोलियों की चपेट में आए और उनकी मौत हो गई.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, दोनों हमलावार भाई थे और हमास से जुड़े थे. दोनों इससे पहले इज़रायल में जेल भी काट चुके हैं. हमले में मारे गए लोगों में दो महिलाएं भी शामिल हैं. 24 साल की लिविया डिकमैन और 60 साल की हन्ना इफ़रगन. इनके अलावा 72 साल के इज़रायली जज एलीमेलेक वास्सरमैन भी मृतकों में शामिल हैं.

हमास से जुड़ी अल-कसम ब्रिगेड ने हमले की जिम्मेदारी ली है. ‘द गार्डियन’ (The Guardian) की एक रिपोर्ट के अनुसार, संगठन ने टेलीग्राम चैनल पर एक पोस्ट में अपना बयान जारी किया है. इसमें कहा गया है कि यह हमला वेस्ट बैंक में 29 नवंबर की रात हुई दो बच्चों की हत्या के जवाब में था.

संघर्ष विराम के दौरान हुई घटना

इज़रायल और हमास के बीच 24 नवंबर से चार दिनों का संघर्ष विराम चल रहा था. इसे दो दिन और बढ़ाकर बुधवार तक कर दिया गया था. बंधकों की रिहाई और इलाके में मानवीय सहायता पहुंचाने के लिए गाजा संघर्ष विराम को इज़रायल और हमास और आगे बढ़ाने पर सहमत हुए थे. यह घटना इसी के तुरंत बाद हुई.  

इज़राइल के राष्ट्रीय सुरक्षा मंत्री इतामार बेन-गविर ने घटनास्थल पर पत्रकारों से कहा कि हमास ने सीजफायर का उल्लंघन किया है. उन्होंने कहा कि इससे एक बार फिर साबित होता है कि हमें कमतर नहीं पड़ना है. हमें हमास से केवल बंदूकों से बात करना चाहिए.

वीडियो: दुनियादारी: भारत को आंख दिखाने वाले हेनरी किसिंजर, जिनकी मौत पर आधी दुनिया खुश है!

thumbnail

Advertisement