The Lallantop
Advertisement

Farmers Protest: किसानों और पुलिस वालों में भिड़ंत, पत्थरबाजी, ड्रोन से चले आंसू गैस के गोले

अंबाला से सटे हुए पंजाब का शंभू बॉर्डर (Shambhu Border) पर पुलिस और आंदोलनकारी किसानों के बीच झड़प देखने को मिली है. जिसके बाद वहां अफरातफरी मच गई है.

Advertisement
Farmers protest, shambhu border, Protest
पुलिस ने शंभू बॉर्डर पर प्रदर्शनकारी किसानों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस को गोले छोड़े (ANI)
13 फ़रवरी 2024
Updated: 13 फ़रवरी 2024 13:41 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

पंजाब-हरियाणा के आंदोलनकारी किसान (Farmers Protest) दिल्ली की तरफ कूच कर रहे हैं. इस दौरान शंभू बॉर्डर (Shambhu Border) पर पुलिस और आंदोलनकारी किसानों के बीच झड़प देखने को मिली है. हंगामा बढ़ते देख हरियाणा पुलिस की तरफ से आंसू गैस के गोले छोड़े गए. जिसके बाद वहां अफरातफरी मच गई है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, शंभू बॉर्डर पहुंचे नौजवानों की तरफ से बैरिकेड्स को हटाने की कोशिश की गई. उनकी तरफ से पत्थरबाजी भी की जा रही है. जिसके बाद पुलिस ने जवाबी कार्रवाई की है. पुलिस ने ड्रोन के जरिए भी आंसू गैस के गोले छोड़े हैं.

जिसके बाद किसान पीछे की तरफ हटते हुए नजर आए हैं. पुलिस ने किसानों को 200 मीटर तक पीछे खदेड़ दिया है. शंभू बॉर्डर पर कुछ प्रदर्शनकारी किसानों को पुलिस ने हिरासत में भी लिया है. 

किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए दिल्ली पुलिस की ओर से राजधानी की सीमाएं पूरी तरह सील कर दी गई हैं. बॉर्डर पर सुरक्षा के जबरदस्त इंतजाम किए गए हैं. भारी संख्या में अर्धसैनिक बलों की तैनाती की गई है. अर्धसैनिक बलों के 5 हजार से ज्यादा जवान दिल्ली की अलग-अलग लोकेशन पर मौजूद हैं. दिल्ली के सभी बॉर्डर पर अर्धसैनिक बलों की 50 कंपनियां तैनात की गई हैं. सिंघु बॉर्डर, टीकरी बॉर्डर और गाजीपुर बॉर्डर पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात है.

ये भी पढ़ें: किसान आंदोलन के कारण चलती कार से बहस कर रहे थे सुप्रीम कोर्ट के वकील, जज ने कहा- 'चलो माफ किया'

कई जगहों पर लगा भयंकर जाम

किसानों के 'दिल्ली चलो' मार्च की वजह से DND क्षेत्र में भारी ट्रैफिक जाम देखने को मिल रहा है. दिल्ली-नोएडा के बीच चिल्ला बॉर्डर पर वाहन रेंगते हुए नजर आ रहे हैं. जबकि DND और कालिंदी कुंज में भी भीषण जाम लग गया है. जबकि दिल्ली-गुरुग्राम वाले रास्त पर भी भयंकर जाम है.

किसानों-सरकार के बीच नहीं बन पाई बात

इससे पहले सरकार और किसानों के बीच चंडीगढ़ में हुई बातचीत बेनतीजा रही थी. इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर बात नहीं बन पाई. लगभग 5 घंटे की बातचीत के बाद किसानों ने दिल्ली कूच करने का फैसला किया. न्यूज एजेंसी PTI के मुताबिक, किसानों के साथ हुई बैठक में सरकार की तरफ से केंद्रीय खाद्य और उपभोक्ता मामलों के मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal), कृषि मंत्री अर्जुन मुंडा (Arjun Munda) और अधिकारी शामिल हुए. 

किसानों की तरफ से इस बैठक में संयुक्त किसान मोर्चा (गैर-राजनीतिक) के संयोजक जगजीत सिंह डल्लेवाल और किसान मजदूर संघर्ष समिति के समन्वयक सरवन सिंह पंढेर शामिल थे. बैठक से निकलने के बाद डल्लेवाल ने कहा कि बैठक में कोई नतीजा नहीं निकला. उन्होंने कहा कि किसानों का विरोध जारी रहेगा.  डल्लेवाल ने आरोप लगाया कि सरकार किसानों का समय बर्बाद करना चाहती है.

वीडियो: किसानों के 'चलो दिल्ली' मार्च की घोषणा के बाद जारी Traffic Advisory में क्या?

thumbnail

Advertisement