The Lallantop
Advertisement

जिस मांग पर सरकार को घेर रहे हैं किसान, उस पर राहुल गांधी का बड़ा वादा

Farmers Protest 2.0 पर राहुल गांधी का बड़ा रिएक्शन आया है. MSP Guarantee, Swaminathan Report पर वादा किया है.

Advertisement
Rahul Gandhi reaction on Kisan Andolan
राहुल गांधी ने सरकार आने पर MSP की कानूनी गारंटी देने का किसानों से वादा किया है. (फाइल फोटो- इंडिया टुडे)
13 फ़रवरी 2024 (Updated: 13 फ़रवरी 2024, 16:51 IST)
Updated: 13 फ़रवरी 2024 16:51 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

किसान एक बार फिर MSP गारंटी कानून की मांग लेकर प्रदर्शन (Kisan Andolan 2.0) शुरू कर चुके हैं. दिल्ली में बड़ी संख्या में किसान जुट रहे हैं. केंद्र सरकार के सामने किसान जो मांगें रख रहे हैं, उन पर कांग्रेस सांसद राहुल गांधी का बड़ा बयान आया है. राहुल ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म X पर लिखा-

"किसान भाइयों आज ऐतिहासिक दिन है! कांग्रेस ने हर किसान को फसल पर स्वामीनाथन कमीशन के अनुसार MSP की कानूनी गारंटी देने का फैसला लिया है. यह कदम 15 करोड़ किसान परिवारों की समृद्धि सुनिश्चित कर उनका जीवन बदल देगा. न्याय के पथ पर यह कांग्रेस की पहली गारंटी है."

राहुल के बाद कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने भी X पर लिखा-

"कांग्रेस ने ऐतिहासिक प्रण लिया है — हम स्वामीनाथन कमेटी की रिपोर्ट के मुताबिक़, किसानों को MSP क़ानून बनाकर उचित मूल्य की गारंटी देंगे. इससे 15 करोड़ किसान परिवारों को फ़ायदा पहुँचेगा."

बता दें कि MSP गारंटी कानून बनाने की मांग को लेकर किसान एक बार फिर दिल्ली में जुट रहे हैं. 12 फरवरी को किसानों के एक प्रतिनिधिमंडल ने केंद्र सरकार के मंत्रियों के प्रतिनिधिमंडल से चंडीगढ़ में मुलाकात की थी और करीब 5 घंटे तक दोनों पक्षों की बैठक चली थी. लेकिन इससे कोई समाधान नहीं निकल सका. सरकार की तरफ से केंद्रीय खाद्य और उपभोक्ता मामलों के मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal), कृषि मंत्री अर्जुन मुंडा (Arjun Munda) और अधिकारी शामिल हुए. किसानों की तरफ से इस बैठक में संयुक्त किसान मोर्चा (गैर-राजनीतिक) के संयोजक जगजीत सिंह डल्लेवाल और किसान मजदूर संघर्ष समिति के समन्वयक सरवन सिंह पंढेर शामिल थे.

इसके बाद किसानों ने एलान कर दिया था कि 13 फरवरी का दिल्ली चलो का कार्यक्रम यथावत रहेगा. 13 फरवरी को किसानों ने बड़े-बड़े जत्थों में दिल्ली की तरफ कूच कर दी. दिल्ली पुलिस ने राजधानी की तमाम सीमाएं सील कर दी हैं. बॉर्डर पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम हैं. अर्धसैनिक बल के 5 हजार से ज्यादा जवान दिल्ली की अलग-अलग लोकेशन पर मौजूद हैं. दिल्ली के सभी बॉर्डर पर अर्धसैनिक बलों की 50 कंपनियां तैनात की गई हैं. सिंघु बॉर्डर, टीकरी बॉर्डर और गाजीपुर बॉर्डर पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात है.

वीडियो: Farmers Protest: सरकार और किसानों के बीच नहीं बनी बात, क्या कारण पता चला?

thumbnail

Advertisement