The Lallantop
Advertisement

EVM पर एलन मस्क ने उठाए सवाल, पूर्व केंद्रीय मंत्री भिड़ गए, फिर आए राहुल गांधी...

Elon Musk ने कहा कि EVM के हैक होने के जोखिम है. इसे ख़त्म कर देना चाहिए. वहीं, जवाब में Rajeev Chandrasekhar ने कहा कि एलन मस्क का नजरिया अमेरिका और दूसरी जगहों पर लागू हो सकता है. भारत में नहीं. जबकि Rahul Gandhi ने EVM को 'ब्लैक बॉक्स' बताया है.

Advertisement
Elon Musk on EVM
एलन मस्क ने कहा कि EVM को ख़त्म कर देना चाहिए. (फ़ाइल फ़ोटो - इंडिया टुडे)
font-size
Small
Medium
Large
16 जून 2024 (Updated: 16 जून 2024, 17:39 IST)
Updated: 16 जून 2024 17:39 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

EVM को लेकर पूर्व केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर टेस्ला और X (पहले ट्विटर) के CEO एलन मस्क से भिड़ गए हैं. मस्क ने EVM हैक होने के जोखिम की बात थी, जिस पर बीजेपी नेता (Rajeev Chandrasekhar on Elon Musk EVM Post) ने पलटवार किया है. उन्होंने कहा कि EVM को इस तरह से जनरलाइज़ नहीं किया जा सकता, ये आधारहीन है. राजीव ने तो मस्क को EVM पर ट्यूटोरियल देने की बात तक कह डाली. दूसरी तरफ इस विवाद में राहुल गांधी भी कूद गए (Rahul Gandhi Elon Musk EVM) हैं. राहुल ने EVM को 'ब्लैक बॉक्स' बता दिया.

एलन मस्क ने क्या कहा था?

15 जून को एलन मस्क ने X पर एक पोस्ट किया. इसमें उन्होंने लिखा,

"हमें EVM को ख़त्म कर देना चाहिए. इंसानों या AI द्वारा EVM को हैक किए जाने का जोखिम हालांकि छोटा है, फिर भी इसे कम नहीं आंका जा सकता."

राजीव चंद्रशेखर का जवाब

इसके बाद मस्क के इस पोस्ट पर राजीव चंद्रशेखर की प्रतिक्रिया आई. उन्होंने मस्क के पोस्ट का जवाब देते हुए कहा कि ये एक 'बहुत बड़ा सामान्यीकरण' है. इसका अर्थ ये है कि कोई भी सुरक्षित डिजिटल हार्डवेयर नहीं बनाया जा सकता. ये ग़लत है. राजीव ने लिखा,

"एलन मस्क का नजरिया अमेरिका और दूसरी जगहों पर लागू हो सकता है. जहां वो इंटरनेट से जुड़ी वोटिंग मशीन बनाने के लिए रेगुलर कंप्यूटर प्लेटफ़ॉर्म का इस्तेमाल करते हैं. लेकिन भारतीय EVM कस्टम डिज़ाइन किए गए, सुरक्षित और किसी भी नेटवर्क या मीडिया से अलग हैं. इसमें कोई कनेक्टिविटी नहीं है, कोई ब्लूटूथ नहीं, वाईफाई नहीं, इंटरनेट नहीं होता. यानी कोई रास्ता नहीं है कि इसमें कोई गड़बड़ी हो सके. फ़ैक्टरी ने इसे ऐसे प्रोग्राम किया होता है कि इन्हें दोबारा रिप्रोग्राम नहीं किया जा सकता."

उद्यमी से नेता बने राजीव चंद्रशेखर ने मस्क को भारत में डिजाइन की गई EVM की मजबूती को दिखाने वाला ट्यूटोरियल देने की पेशकश कर दी. लिखा,

“EVM को ठीक उसी तरह से डिज़ाइन और बनाया जा सकता है, जैसा भारत ने किया है. हमें एक ट्यूटोरियल चलाने में खुशी होगी एलन मस्क जी.”
 

ये भी पढ़ें - बीजेपी की जीत के बाद EVM पर सवाल कौन उठा रहा है?

फिर आए राहुल गांधी

एलन मस्क के बयान पर राहुल गांधी ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है. राहुल ने भारत में EVM को एक 'ब्लैक बॉक्स' बताया है. मस्क के पोस्ट पर को कोट करते हुए राहुल ने लिखा,

"भारत में EVM एक 'ब्लैक बॉक्स' है. किसी को भी इसकी जांच करने की मंजूरी नहीं है. हमारी चुनावी प्रक्रिया में पारदर्शिता को लेकर गंभीर चिंताएं जताई जा रही हैं. जब संस्थाओं में जवाबदेही की कमी होती है, तो लोकतंत्र एक दिखावा बन जाता है. धोखाधड़ी की संभावना बढ़ जाती है."

राहुल ने अपने पोस्ट में मिड-डे अख़बार की एक फ़ोटो भी लगाई है. अख़बार के इस फ़ोटो में मुंबई उत्तर पश्चिम लोकसभा सीट पर आए चुनाव नतीजों को लेकर विवाद का ज़िक्र है. रिपोर्ट के मुताबिक़, मामले में मुंबई पुलिस ने शिवसेना शिंदे गुट के सांसद रविन्द्र वायकर के साले मंगेश पांडिलकर के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया है. पाबंदी होने के बावजूद 4 जून को आम चुनावों के नतीजों की घोषणा के समय मंगेश को कथित तौर पर मोबाइल का इस्तेमाल करते हुए देखा गया था. इसी के आरोप में  मंगेश के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज किया है. साथ ही पुलिस ने पांडिलकर को मोबाइल देने के आरोप में चुनाव आयोग के एक कर्मचारी के खिलाफ भी मामला दर्ज किया है. 

हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव के दौरान विपक्ष ने आरोप लगाया था कि सत्तारूढ़ BJP द्वारा चुनाव परिणामों को अपने पक्ष में करने के लिए EVM से छेड़छाड़ की संभावना है. जवाब में, मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने आश्वासन दिया कि EVM "100% सुरक्षित" हैं.

वीडियो: लखीमपुर खीरी सीट पर EVM में धांधली के आरोप पर प्रशासन ने क्या कहा?

thumbnail

Advertisement

Advertisement